News Nation Logo
29 अक्टूबर से पीएम मोदी का इटली दौरा जेल में डालने वाला आज जेल में जाने से डरने लगा: नवाब मलिक जो फर्जीवाड़ा किया गया है, वो खुल खुलकर सामने आने लगा है: नवाब मलिक पंजाब में AAP की सरकार बनी, तो प्रदेश में किसी किसान को नहीं करने देंगे खुदकुशी: अरविंद केजरीवाल शाहरुख खान की 'मन्नत' पूरी, आर्यन को बेल; अब मन्नत में मनेगी दीपावली आर्यन खान समेत तीनों आरोपियों के विदेश जाने पर रोक भारत हमेशा से एक शांतिप्रिय देश रहा है और आज भी है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह हमारा देश किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह किसी भी विवाद को अपनी तरफ़ से शुरू करना हमारे मूल्यों के ख़िलाफ़ है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की 108 करोड़ डोज़ उपलब्ध कराई गईं: स्वास्थ्य मंत्रालय कर्नाटकः कोडागू जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय में 32 बच्चे कोरोना पॉजिटिव महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वासले हुए कोरोना पॉजिटिव कोरोना अपडेटः पिछले 24 घंटे में देश में 16,156 केस आए, 733 मरीजों की मौत हुई जम्मू-कश्मीरः डोडा में खाई में गिरी मिनी बस, 8 लोगों की मौत आर्य़न खान ड्रग्स केस में गवाह किरण गोसावी पुणे से गिरफ्तार पेट्रोल और डीजल के दामों में 35 पैसे की बढ़ोतरी कैप्टन अमरिंदर सिंह आज फिर मुलाकात करेंगे गृह मंत्री अमित शाह से क्रूज ड्रग्स मामले में आर्यन खान की जमानत पर आज फिर दोपहर में सुनवाई पीएम नरेंद्र मोदी आज आसियान-भारत शिखर वार्ता को करेंगे संबोधित दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पंजाब के दो दिवसीय दौरे पर आज जाएंगे

यूनेस्को ने अफगानिस्तान में लड़कियों के स्कूलों को फिर से खोलने का किया आह्वान  

फोर ने कहा कि,

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 19 Sep 2021, 08:55:57 PM
unesco

यूनेस्को (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • अफगानिस्तान में शुक्रवार को पुरुष छात्रों और शिक्षकों को स्कूल आने का आदेश
  • लड़कियों के स्कूल को फिर से खोलने की अभी नहीं मिली है अनुमति
  • यूनेस्को ने दी अफगान लड़कियों के स्कूल नहीं जाने पर नकारात्मक परिणामों की चेतावनी  

 

नई दिल्ली:

संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) ने शनिवार को अफगान लड़कियों के स्कूल नहीं जाने के नकारात्मक परिणामों की चेतावनी दी और अफगानिस्तान में  स्कूलों से संबंधित सभी अधिकारियों  से लड़कियों के स्कूलों को फिर से खोलने को सुनिश्चित करने का आह्वान किया.यूनेस्को का यह बयान शनिवार को लड़कों के माध्यमिक विद्यालयों के खुलने के बाद आया है, लेकिन अभी तक लड़कियों का स्कूल नहीं खुला है, यह कब खुलेगा, स्पष्ट नहीं है. अफगानिस्तान की अंतरिम सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को घोषणा की कि पुरुष छात्रों और शिक्षकों को स्कूलों में उपस्थित होना चाहिए, लेकिन लड़कियों और महिला शिक्षकों के बारे में कुछ भी नहीं बताया गया.

यूनेस्को के महानिदेशक ऑड्रे अज़ोले ने एक बयान में कहा कि अगर लड़कियों के स्कूल बंद रहते हैं, तो यह लड़कियों और महिलाओं के शिक्षा के मौलिक अधिकार का उल्लंघन होगा.

अज़ोले ने कहा, “यूनेस्को ने लड़कियों के स्कूलों को जल्द न खोलने पर अपरिवर्तनीय परिणामों के बारे में चेतावनी दी है, अगर लड़कियों के सभी स्तर के स्कूलों को जल्द से जल्द फिर से खोलने की अनुमति नहीं दी जाती है तो लड़कियों को अपने जीवन में पिछड़ने की संभावना है. शिक्षा से पूरी तरह से बाहर होने के कारण उन्हें बाल विवाह जैसे नकारात्मक तंत्र में फंसने की आशंका है. यह लड़कों और लड़कियों के बीच सीखने की असमानताओं को और बढ़ा सकता है, और अंततः लड़कियों की उच्च शिक्षा और जीवन के अवसरों तक पहुंचने में बाधा उत्पन्न कर सकता है." 

यह भी पढ़ें :फ्रांस ने अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया से अपने राजदूत को वापस बुलाया

अज़ोले ने कहा कि शिक्षित लड़के और लड़कियां अफगानिस्तान के भविष्य को आकार देंगे और उन्हें शिक्षा के अधिकारों का समान रूप से लाभ उठाना चाहिए. “अफगानिस्तान का भविष्य शिक्षित लड़कियों और लड़कों पर निर्भर करता है. इसलिए हम अफगानिस्तान में सभी संबंधित लोगों से यह सुनिश्चित करने का आह्वान करते हैं कि सभी बच्चों को स्कूलों के धीरे-धीरे फिर से खोलने की घोषणा के ढांचे में शिक्षा की निर्बाध पहुंच हो. सभी शिक्षार्थियों, विशेष रूप से लड़कियों के लिए शिक्षा के अधिकार को इस महत्वपूर्ण समय में बरकरार रखा जाना चाहिए. ” 

इस बीच, संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) ने भी अफगान लड़कियों के अस्पष्ट भाग्य और उनकी शिक्षा पर अपनी चिंता व्यक्त की है. स्कूलों को धीरे-धीरे फिर से खोलने का स्वागत करते हुए, यूनिसेफ के प्रमुख हेनरीटा फोर ने एक बयान में कहा कि "हम इस बात से बहुत चिंतित हैं कि इस समय कई लड़कियों को फिर से स्कूल वापस जाने की अनुमति नहीं दी रही है."

फोर ने कहा कि, "लड़कियों को पीछे नहीं छोड़ा जा सकता है, और न ही होना चाहिए."  उन्होंने संबंधित अधिकारियों  से इस समस्या का समाधान करने का आह्वान किया.  

यूनेस्को के अनुसार, अफगानिस्तान ने पिछले दो दशकों में शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण प्रगति की है. 2001 के बाद से, महिला साक्षरता दर लगभग 17 प्रतिशत से बढ़कर 30 प्रतिशत हो गई है, और प्राथमिक विद्यालय में लड़कियों की संख्या 2001 में लगभग शून्य से बढ़कर 2018 में 2.5 मिलियन हो गई है. उच्च शिक्षा संस्थानों में 2001 से 2018 तक  लड़कियों की संख्या 5,000 से बढ़कर  लगभग 90,000 हो गई है. 

First Published : 19 Sep 2021, 08:55:06 PM

For all the Latest Specials News, Exclusive News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

UNESCO Girls Students Taliban