News Nation Logo

क्या सऊदी के क्राउन प्रिंस के पास है दुनिया की सबसे महंगी पेंटिंग ‘साल्वाटर मुंडी’, पांच सौ साल पुरानी पेंटिंग की कीमत है 29 अरब

लियोनार्डो दा विंची की यह मशहूर पेंटिंग इस समय कहा है ? क्या यह सऊदी अरब में कहीं है, जिसे क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के आदेश से छिपा दिया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 27 Aug 2021, 02:58:39 PM
Salvator Mundi

साल्वाटर मुंडी (Photo Credit: NEWS NATION)

highlights

  • ‘साल्वाटर मुंडी’ का 2017 में क्रिस्टी ने किया था नीलामी
  • साल्वाटर मुंडी’ में ईसा मसीह को किया गया है चित्रित
  • लियोनार्दो द विंची की 500 साल पुरानी पेंटिंग है ‘साल्वाटर मुंडी’

नई दिल्ली:

विश्व प्रसिद्ध चित्रकार लियोनार्डो दा विंची की कई मशहूर पेंटिंग में मोना लिसा (Mona Lisa) के अलावा ‘साल्वाटर मुंडी’ अर्थात ‘सेवियर ऑफ द वर्ल्ड’है. इस पेंटिंग में ईसा मसीह को चित्रित किया गया है. यह उन चुनिंदा 20 पेंटिंग में से है जिसे आम तौर पर विंसी की कृति के तौर पर स्वीकार किया जाता है. लेकिन लियोनार्डो दा विंची की यह मशहूर पेंटिंग इस समय कहां है? क्या यह सऊदी अरब में कहीं है, जिसे क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के आदेश से छिपा दिया गया है? फिलहाल कला की दुनिया में कोई भी निश्चित रूप से नहीं जानता कि पेंटिंग साल्वाटर मुंडी कहां है. अधिकांश लोग इस बात से सहमत हैं कि यह संभवतः मध्य पूर्व में छिपा हुआ है, लेकिन कुछ ने अनुमान लगाया है कि इसे जिनेवा में कर-मुक्त क्षेत्र में या यहां तक ​​​​कि प्रिंस सलमान के आधे-अरब-डॉलर की नौका पर सुरक्षित रखा गया है. 

दरअसल, अमेरिका के न्यूयॉर्क में मशहूर आर्टिस्ट लियोनार्दो द विंची की 500 साल पुरानी एक पेंटिंग ‘साल्वाटर मुंडी’को 2017 में एक नीलामी में 45.03 करोड़ डॉलर (तकरीबन 29 अरब रुपए) में खरीदा गया था. यह अब तक की सबसे महंगी बिकने वाली पेंटिंग है. इससे पहले सबसे महंगी पेंटिंग का कीर्तिमान पाब्लो पिकासो की ‘द वीमेन ऑफ अल्जियर्स’के नाम था. पिकासो की यह पेंटिंग 2015 में 17.94 करोड़ डॉलर में बिकी थी. दोनों पेंटिंग की नीलामी करने वाली संस्था का क्रिस्टी है.  

‘साल्वाटर मुंडी’ या ‘सेवियर ऑफ द वर्ल्ड’को जब 2017 में क्रिस्टी ने नीलामी के लिए रखा तो मजह 20 मिनट के अंदर ही पेंटिंग बिक गयी. इस पेंटिंग के लिए 40 करोड़ डॉलर की आखिरी बोली लगाई. फीस के साथ इसकी कीमत करीब 45 करोड़ डॉलर हो गयी. उस दौरान इतनी महंगी पेंटिंग खरीदने वाले का नाम आक्शन हाउस ने उजागर नहीं किया है. इसलिए आज भी लोग यह अनुमान लगा रहे हैं कि पेंटिंग कहां है?

विंची की यह पेंटिंग करीब 1500 ई. के पास की मानी जा रही है. इसे अमेरिका की एक क्षेत्रीय नीलामी में 2005 में पाया गया था. इसके बाद लंबे समय तक इसकी सत्यता के दस्तावेजीकरण हो जाने के बाद इसे लंदन के द नेशनल गैलरी में 2011 में प्रदर्शित किया गया था.   

यह भी पढ़ें:जरीन खान ने ऐसे घटाया अपना वजन, जानें एक्ट्रेस का वर्कआउट रुटीन

दुनिया में मशहूर व अच्छी पेंटिंग बनी हो, लेकिन मोना लिसा पेटिंग के आगे टिक नहीं पाती है. म्यूजिम में चाहे जितनी ही पेंटिंग्स क्यों न हो, पर सभी की नजर इसी पर होती है. मोनालिसा न केवल एक पेंटिंग है बल्कि अपने आप में एक रहस्य है जिसका पता आज तक कोई नहीं लगा पाया है. लेकिन 'लिओनार्दो डा विन्ची' की पेंटिंग ‘साल्वाटर मुंडी’ वर्तमान में किसके पास और कहां है इस पर रहस्य बना हुआ है. 

First Published : 27 Aug 2021, 02:29:42 PM

For all the Latest Specials News, Exclusive News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.