News Nation Logo
Banner

तालिबान ने अंतरराष्ट्रीय सहायता को पारदर्शी तरीके से बांटने का लिया संकल्प

कई सहायता प्रदाताओं ने कहा कि वे सीधे तालिबान को पैसा नहीं देंगे, बल्कि मानवीय संगठनों और सहायता कर्मियों के माध्यम से जरूरतमंद लोगों तक पहुंचेंगे.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 15 Sep 2021, 01:00:46 PM
Amir Khan Muttaqi

आमिर खान मुत्ताकी, तालिबान सरकार के कार्यवाहक विदेश मंत्री (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • तालिबान ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से मानवीय आधार पर सहायता जारी रखने का किया आग्रह
  • तालिबान जरूरतमंद लोगों को सहायता के वितरण की पारदर्शिता सुनिश्चित करेगा
  • तालिबान दुनिया के देशों के साथ अच्छे द्विपक्षीय संबंध रखना चाहता है

नई दिल्ली:  

तालिबान सरकार के कार्यवाहक विदेश मंत्री आमिर खान मुत्ताकी ने मंगलवार को काबुल में एक संवाददाता सम्मेलन में अफगानिस्तान के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय की मानवीय सहायता  के संकल्प का स्वागत किया. सोमवार को जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र की एक बैठक में, अंतर्राष्ट्रीय समुदाय ने अफगानिस्तान के लोगों को मानवीय सहायता में 1 बिलियन डॉलर से अधिक प्रदान करने का संकल्प लिया. मुत्ताकी ने कहा कि तालिबान जरूरतमंद लोगों तक पहुंचने में सहायता प्रदाताओं के साथ समन्वय करेगा और सहायता के वितरण की पारदर्शिता सुनिश्चित करेगा. उन्होंने कहा "हम सुनिश्चित करते हैं कि सहायता लोगों को पारदर्शी रूप से वितरित की जाएगी," 

हालांकि, कई सहायता प्रदाताओं ने कहा कि वे सीधे तालिबान को पैसा नहीं देंगे, बल्कि मानवीय संगठनों और सहायता कर्मियों के माध्यम से जरूरतमंद लोगों तक पहुंचेंगे.

मुत्ताकी ने अफगानिस्तान को विकास निधि प्रदान करने के लिए देशों, विशेष रूप से एशियाई विकास बैंक और इस्लामी विकास बैंक से भी आह्वान किया. उन्होंने कहा, "हम एशियाई विकास बैंक और इस्लामिक डेवलपमेंट बैंक से अफगानिस्तान को विकास क्षेत्र, शिक्षा और अन्य क्षेत्रों में समर्थन देने का आग्रह करते हैं."

अफगानिस्तान के विदेशी संबंधों पर, मुत्ताकी ने कहा कि तालिबान दुनिया के देशों के साथ अच्छे द्विपक्षीय संबंध रखना चाहता है, जिसमें संयुक्त राज्य अमेरिका भी शामिल है, यह कहते हुए कि कोई भी देश अफगानिस्तान पर दबाव नहीं डालेगा. उन्होंने कहा, "हम चाहते हैं कि वे अफगानिस्तान पर दबाव न डालें क्योंकि दबाव काम नहीं करता है और न ही अफगानिस्तान और न ही दुनिया के देशों को फायदा होता है."

यह भी पढ़ें:अफगानिस्तान से 3 साल का बच्चा अकेले पहुंचा कनाडा, पूरी स्टोरी पढ़ रो देंगे आप

मुत्ताकी ने अफगानिस्तान की संपत्ति का भी उल्लेख किया जो संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा जब्त की गई थी, और कहा कि मानवीय मुद्दों को राजनीति के साथ नहीं जोड़ा जाना चाहिए. उन्होंने कहा, "हमने अमेरिकी सैनिकों को अफगानिस्तान छोड़ने के लिए सुरक्षित मार्ग प्रदान किया, लेकिन हमें धन्यवाद देने के बजाय अमेरिका ने अफगानिस्तान की संपत्ति को जब्त कर लिया है."

मुत्ताकी ने एक बार फिर दोहराया कि अफगानिस्तान के क्षेत्र का इस्तेमाल किसी भी देश के खिलाफ नहीं किया जाएगा और तालिबान इस संबंध में अपना वादा पूरा करेगा.

अफगानिस्तान की सत्ता में आने के बाद तालिबान ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से मानवीय आधार पर सहायता जारी रखने का आग्रह किया था. क्योंकि कई अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं ने  अफगानिस्तान को मिलने वाली सहायता रोक दिया था.

First Published : 15 Sep 2021, 12:58:53 PM

For all the Latest Specials News, Exclusive News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.