News Nation Logo
Banner

मंगल के लिए यूएई का अंतरिक्षयान जापान से रवाना, फरवरी में प्रवेश करेगा कक्षा में

मंगल के लिए संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के पहले अंतरिक्ष यान का प्रक्षेपण जापान (Japan) से सोमवार को किया गया. यह अरब जगत का पहला अंतरग्रहीय अभियान है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 20 Jul 2020, 09:09:35 AM
UAE Hope Mars Mission

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit: न्यूज नेशन)

टोक्यो:

मंगल के लिए संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के पहले अंतरिक्ष यान का प्रक्षेपण जापान (Japan) से सोमवार को किया गया. यह अरब जगत का पहला अंतरग्रहीय अभियान है. यूएई के इस यान का नाम ‘अमल’ या ‘होप’ (Hope) है, जिसे जापान के एच-2ए रॉकेट के जरिए सोमवार सुबह छह बजकर 58 मिनट पर दक्षिणी जापान के तनेगाशिमा अंतरिक्ष केंद्र से रवाना किया गया. इसके साथ ही इस यान की मंगल तक की सात महीने की यात्रा आरंभ हो गई.

यह भी पढ़ेंः मोदी सरकार आज से उपभोक्ताओं को देने जा रही है पहले से ज्यादा अधिकार, 34 साल बाद लाया गया नया कानून

खराब मौसम से टला प्रक्षेपण
इससे पहले इसे 15 जुलाई को प्रक्षेपित किया जाना था, लेकिन खराब मौसम के कारण प्रक्षेपण पांच दिन टाल दिया गया. इस मंगलयान को फरवरी 2021 तक मंगल पर पहुंचना है, जब यूएई अपनी 50वीं वर्षगांठ मनाएगा. रॉकेट निर्माता मित्सुबीशी हेवी इंडस्ट्रीज ने लॉन्च के तुरंत बाद जारी एक बयान में कहा कि हमने H-IIA व्हिकल नंबर 42 (H-IIA F 42) से अमीरात मार्स मिशन (EMM) होप स्पेस क्रॉफ्ट को स्थानीय जापानी समय शाम 6.58.14 पर (रात 9.58, GMT) लॉन्च कर दिया.

यह भी पढ़ेंः राजस्थान न्यूज़ Rajasthan Politics Live: सचिन पायलट की याचिका पर आज होगी हाईकोर्ट में सुनवाई

अक्टूबर में सबसे कम दूरी पर होगा मंगल
यूएई की परियोजना मंगल ग्रह के लिए तीन रेसिंग में से एक है, जिसमें चीन से तियानवेन -1 और संयुक्त राज्य अमेरिका से मंगल 2020 शामिल है. इसके जरिये मंगल पर ऐसे समय पहुंचने की कोशिश की जाएगी, जब पृथ्वी से मंगल की दूरी सबसे कम हो. नासा के अनुसार अक्टूबर में मंगल ग्रह पृथ्वी से तुलनात्मक रूप से 38.6 मिलियन मील (62.07 मिलियन किलोमीटर) पर होगा.

First Published : 20 Jul 2020, 08:59:51 AM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×