News Nation Logo

तेलंगाना ने 1 करोड़ होम आइसोलेशन किट बांटने के लिए फीवर सर्वेक्षण किया शुरू

तेलंगाना ने 1 करोड़ होम आइसोलेशन किट बांटने के लिए फीवर सर्वेक्षण किया शुरू

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 21 Jan 2022, 02:55:01 PM
Telangana fever

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

हैदराबाद:   तेलंगाना में फीवर का सर्वेक्षण शुरू किया गया है, ताकि कोरोना के लक्षणों वाले लोगों की पहचान की जा सके और उन्हें होम आइसोलेशन किट मुफ्त में बांटी जा सकें। ये जानकारी तेलंगाना में अधिकारियों ने शुक्रवार को दी।

राज्य सरकार ने कहा कि उनके पास उन लोगों के बीच वितरण के लिए एक करोड़ होम आइसोलेशन किट तैयार हैं, जो या तो कोरोना पॉजिटिव है या उनमें लक्षण हैं।

पिछले तीन सप्ताह से राज्य में कोरोना के मामलों की संख्या बढ़ने के साथ, चिकित्सा और स्वास्थ्य विभाग ने नगर प्रशासन, पंचायत राज और अन्य विभागों के समन्वय से घर-घर जाकर सर्वेक्षण शुरू किया।

स्वास्थ्यकर्मी ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी), अन्य नगर निगमों, नगर पालिकाओं और ग्राम पंचायतों में घर-घर जाकर जांच कर रहे हैं कि कहीं किसी में बुखार, सर्दी और खांसी जैसे लक्षण तो नहीं हैं।

जीएचएमसी और आसपास के शहरी जिलों रंगारेड्डी और मेडचल मलकाजगिरी के साथ दैनिक कोरोना मामलों के बहुमत के लिए लेखांकन, अधिकारी विशेष रूप से यहां ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।

इस बीच, राज्य भर में वितरण के लिए होम आइसोलेशन किट तैयार करने के लिए सैकड़ों कार्यकर्ता चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं। अधिकारी किट तैयार करने के लिए हैदराबाद में खेल के मैदानों या अन्य बड़े परिसरों का उपयोग कर रहे हैं।

विक्ट्री प्लेग्राउंड में महिलाओं सहित 200 से अधिक कार्यकर्ता किट तैयार करने में लगे हुए हैं। हर किट में सात दवाएं और उनका उपयोग करने के तरीके के बारे में एक सलाह दी गई है। इसमें प्रतिरक्षा में सुधार के लिए दवाओं में एजि़थ्रोमाइसिन (एंटीबायोटिक्स / एंटीवायरल), पैरासिटामोल (बुखार), लेवोसेटिरिजि़न (ठंडा), रैनिटिडिन (एसिडिटी), विटामिन सी, मल्टीविटामिन और विटामिन डी शामिल हैं।

एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि किट में दी गई दवाओं को पांच दिन तक लेना है। किट उन व्यक्तियों के लिए हैं, जो कोरोना पॉजिटिव हैं या उनमें कोरोना के लक्षण हैं।

कोरोना पॉजिटिव मरीजों को सलाह दी गई है कि वे अपने तापमान को रोजाना चेंक करें, घूमें और अगर तापमान बना रहता है या चलने के बाद मरीजों को सांस लेने में तकलीफ होती है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

स्वास्थ्य मंत्री टी. हरीश राव ने कहा कि बीते साल कोरोना की दूसरी लहर के दौरान किए गए बुखार सर्वेक्षण ने कई लोगों की जान बचाते हुए उत्कृष्ट परिणाम दिए हैं। उन्होंने आगे बताया कि नीति आयोग और आर्थिक सर्वेक्षण की रिपोर्ट ने इसकी सराहना की और इसे सबसे अच्छा अभ्यास माना गया जिससे केंद्र को अन्य राज्यों को इसका पालन करने के लिए निर्देशित किया गया था।

मंत्री ने कहा कि बुखार सर्वेक्षण के एक और दौर की आवश्यकता महसूस की गई क्योंकि तीसरी लहर में कोरोना से संक्रमित कुछ लोगों में लक्षण नहीं दिख रहे हैं जबकि कुछ अन्य परीक्षण कराने के लिए आगे नहीं आ रहे हैं। इसलिए, हम ऐसे लोगों के दरवाजे पर जा रहे हैं।

तेलंगाना में बुधवार को 4,207 नए मामले सामने आए, जो पिछले दिन की तुलना में 18.27 प्रतिशत ज्यादा है।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि 56 प्रतिशत मामले जीएचएमसी, मेडचल मलकाजगिरी और रंगारेड्डी से सामने आए हैं।

अधिकारियों ने 24 घंटे में 1,20,215 टेस्ट किए। लगातार तीसरे दिन राज्य भर में एक लाख से ज्यादा का कोरोना टेस्ट किया गया।

स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार, राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 26,633 हो गई।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 21 Jan 2022, 02:55:01 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.