News Nation Logo
Banner

सफल चंद्र मिशन का परिणाम मानव जाति के लिए ज्यादा योगदान देगा

चीनी चंद्रयान छांगअ-5 सफलतापूर्वक पृथ्वी पर वापस लौट आया है. इसके साथ ही मानव जाति ने 44 साल बाद एक बार फिर चंद्रमा से नमूने हासिल किए.

By : Nihar Saxena | Updated on: 19 Dec 2020, 01:28:04 PM
China Space Mission

चीन लागतार अंतरिक्ष में अपनी ताकत बढ़ाने में लगा हुआ है. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

बीजिंग:

चंद्रमा की मिट्टी के नमूने लेकर चीनी चंद्रयान छांगअ-5 सफलतापूर्वक पृथ्वी पर वापस लौट आया है. इसके साथ ही मानव जाति ने 44 साल बाद एक बार फिर चंद्रमा से नमूने हासिल किए हैं, जो कि चीनी अंतरिक्ष के नए इतिहास का साक्षी बना. चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने उस दिन बधाई संदेश भेजकर चंद्र अन्वेषण भावना को बल दिया, यह भावना सपना पूरा करने का प्रयास, तलाशने की हिम्मत, सहयोग, और उभय जीत की है. 

छांगअ-5 की सफलता से चीनी लोगों को लगातार अंतरिक्ष का रहस्य खोजने और मानव जाति के कल्याण को बढ़ावा देने की प्रेरणा मिलेगी. छांगअ-1 से चीन की चंद्र अन्वेषण परियोजना शुरू की गयी, छांगअ-3 ने 'य्वीथु' नामक प्रथम चंद्र-वाहक लेकर चंद्रमा पर सफल लैडिंग की, छांगअ-5 चंद्रमा से नमूने प्राप्त कर पृथ्वी पर वापस लौटा. चीन की चंद्र अन्वेषण परियोजना ने निश्चित समय पर 'चंद्रमा की परिक्रमा, चंद्रमा पर लैंडिंग, चंद्रमा से वापसी' तीनों कदमों को पूरा किया. इससे चीन विश्व में चंद्रमा से नमूने लेकर वापस लौटने वाला तीसरा देश बन चुका है.

छांगअ-5 सबसे बड़ी तकनीकी अवधि के साथ चीन का सबसे जटिल एयरोस्पेस सिस्टम प्रोजेक्ट है. इस दौरान अलौकिक नमूने की पैकेजिंग, अलौकिक वस्तुओं के ऊपर उड़ान भरने के बाद सटीक रूप से कक्षा में प्रवेश, चंद्रमा की कक्षा में मानव रहित डॉकिंग और नमूना स्थानांतरण, चंद्रमा के नमूने लेकर दूसरी ब्रह्मांडीय गति से पृथ्वी पर फिर से वापसी, चीन में चंद्रमा नमूने के भंडार, विश्लेषण व अनुसंधान प्रणाली की स्थापना जैसे पांच क्षेत्रों में चीन ने पहली बार सफलता हासिल की.

इसने चीन की स्व-निर्माण की क्षमता दिखाई है और साथ ही साथ राष्ट्रीय शक्ति को केंद्रित कर महान कार्य करने वाले चीन का व्यवस्थाबद्ध फायदा भी जाहिर हुआ. चीनी चंद्र अन्वेषण परियोजना के मौजूदा मिशन में सबसे बड़ी उपलब्धि के रूप में चंद्रमा मिट्टी नमूने के वैज्ञानिक तकनीकी मूल्य पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय का व्यापक ध्यान केंद्रित हुआ. चीन समानता, आपसी लाभ, शांतिपूर्ण उपयोग, सहयोग और उभय जीत वाली विकास विचारधारा सहित विभिन्न देशों के समकक्ष संस्थाओं और वैज्ञानिकों के साथ मिलकर चंद्रमा के नमूने साझा करेगा, जिनमें संबंधित अन्वेषण डेटा का वैज्ञानिक विश्लेषण शामिल है. यह मानव जाति के अंतरिक्ष को जानने के लिए चीन द्वारा किया गया ठोस प्रयास है.

मानव जाति की अंतरिक्ष खोज अंतहीन है, लेकिन खोज के दौरान प्रारंभिक इरादा नहीं भूलना चाहिए यानी कि इसका उद्देश्य मानव जाति के ज्यादा अच्छे जीवन के लिए है. इस प्रारंभिक इरादे के आधार पर चीन चंद्र अन्वेषण भावना सहित लगातार प्रयास करता रहेगा, अंतरराष्ट्रीय सहयोग मजबूत करेगा, ताकि बाह्य अंतरिक्ष के क्षेत्र में मानव जाति के साझे भाग्य समुदाय की स्थापना के लिए ज्यादा चीन का योगदान दिया जा सके.

First Published : 19 Dec 2020, 01:28:04 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.