News Nation Logo

2025 तक भारत में शॉर्ट-फॉर्म वीडियो के होंगे 650 मिलियन उपयोगकर्ता

2025 तक भारत में शॉर्ट-फॉर्म वीडियो के होंगे 650 मिलियन उपयोगकर्ता

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 06 Oct 2021, 12:10:01 PM
Short-form video

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: बुधवार को सामने आई एक नई रिपोर्ट के अनुसार जैसे ही देश में मोबाइल ऑनलाइन वीडियो की खपत बढ़ रही है, उनमें से चार में से तीन इंटरनेट उपयोगकर्ता, और 600 से 650 मिलियन भारतीय 2025 तक शॉर्ट-फॉर्म वीडियो का उपभोग करेंगे। जिसमें सक्रिय उपयोगकर्ता के प्रतिदिन 55 से 60 मिनट तक खर्च होते हैं।

भारत का ऑनलाइन वीडियो उपयोगकर्ता आधार 350 मिलियन से अधिक लोगों तक पहुंच गया है, जो 2018 से 2020 तक 24 प्रतिशत बढ़ रहा है, और चीन और इंडोनेशिया जैसे बाजारों की तुलना में लगभग दोगुना हो गया है।

प्रबंधन परामर्श फर्म बैन एंड कंपनी की रिपोर्ट के अनुसार, 200 मिलियन से अधिक भारतीयों ने 2020 में कम से कम एक बार शॉर्ट-फॉर्म वीडियो देखे है, जिसमें दैनिक सक्रिय उपयोगकर्ता अपना प्रतिदिन 45 मिनट तक इन प्लेटफार्मों पर खर्च करते हैं।

भारत में 50 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ता हैं जिन्होंने कम से कम एक लघु वीडियो बनाया और पोस्ट किया है।

बैन एंड कंपनी के पार्टनर और वेक्टर सॉल्यूशंस ग्रुप के ग्लोबल लीडर अर्पण शेठ ने कहा, स्मार्टफोन उपयोगकर्ता रोजाना अपने उपकरणों पर लगभग 4.8 घंटे बिताते हैं, जिनमें से औसतन एक घंटा वीडियो देखने में व्यतीत होता है।

देश में ऑनलाइन वीडियो पर प्रति सक्रिय उपयोगकर्ता खर्च करने का दैनिक समय 2018-20 की तुलना में 60 प्रतिशत बढ़कर 70 प्रतिशत हो गया है।

शेठ ने एक बयान में कहा, इस तेजी के बावजूद, विकास के लिए बड़े पैमाने पर हेडरूम मौजूद है। भारत में ऑनलाइन वीडियो उपयोगकर्ता की पहुंच लगभग 60 प्रतिशत इंटरनेट उपयोगकतार्ओं की है, जबकि चीन में 90 प्रतिशत से अधिक है।

भारतीय शॉर्ट-फॉर्म वीडियो बाजार में अब मोज, जोश, एमएक्स टकाटक, रोपोसो, जिली जैसे विशेषज्ञ ऐप और इंस्टाग्राम रील्स, फेसबुक रील्स और यूट्यिूब शॉर्ट्स जैसे वैश्विक सोशल मीडिया / वीडियो दिग्गजों का मिश्रण है।

विशेषज्ञ लघु वीडियो प्लेटफार्मों में, पांच प्लेटफॉर्म - पहले उल्लिखित मोज, जोश, एमएक्स टकाटक, रोपोसो, जिली में से प्रत्येक के 100 मिलियन से अधिक डाउनलोड्स हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, भारत में पिछले दो वर्षों में शॉर्ट-फॉर्म वीडियो बाजार में तेजी आई है, उपयोगकर्ता आधार में 3.5 गुना और एसएफवी प्लेटफॉर्म पर सभी उपयोगकतार्ओं द्वारा खर्च किए गए कुल समय में 12 गुना की बढ़त हुई है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि हालांकि, भारत का लघु वीडियो उपयोगकर्ता आधार ऐतिहासिक रूप से बड़े पैमाने पर टीयर 2 और छोटे शहरों के पुरुष रहे है, लेकिन यह तेजी से विकसित हो रहा है,और महानगरों और महिलाओं के बीच तेजी से से लोकप्रियता बढ़ा रहा है।

प्रतिबंध से पहले, टिकटॉक भारत में पहला स्केल एसएफवी प्लेटफॉर्म बन गया था, जिसके 200 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ता और 20 मिलियन कंटेंट निमार्ता महीने में कम से कम एक वीडियो पोस्ट करते हैं।

बैन एंड कंपनी पार्टनर और ऑनसमर उत्पाद, खुदरा , भारत में रणनीति और डिजिटल प्रेक्टिस के लीडर श्याम उन्नीकृष्णन ने कहा ब्रांड अपने लक्षित ग्राहकों तक पहुंचने के लिए लघु वीडियो प्लेटफॉर्म का तेजी से उपयोग कर रहे हैं। नए मुद्रीकरण मॉडल, जैसे वीडियो कॉमर्स, लाइवस्ट्रीमिंग और इन-ऐप खरीदारी, आने वाले वर्षों में तेजी से सामान्य हो जाएंगे।

रिपोर्ट में कहा गया है कि यह बढ़त इंटरनेट उपयोगकर्ता आधार में लगातार वृद्धि, सस्ते, तेज डेटा तक पहुंच, फ्रीमियम मॉडल के आगमन सहित अधिक किफायती योजनाओं की शुरूआत और कंटेंट के प्रसार से प्रेरित होगी।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 06 Oct 2021, 12:10:01 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.