News Nation Logo
1971 का युद्ध, इसमें भारतीयों की जीत और युद्ध का आधार बेहद खास है: राजनाथ सिंह केंद्र सरकार की टीम उत्तराखंड में आपदा से हुई क्षति का आकलन कर रही है: पुष्कर सिंह धामी NCB दफ्तर में अनन्या पांडे से पूछताछ जारी, ड्रग्स चैट में सामने आया था नाम अनंतनाग में गैर कश्मीरी की हत्या, शरीर पर कई जगह चोट के निशान गुजरात प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव को लेकर प्रदेश कांग्रेस के नेता राहुल गांधी से मिले ड्रग पैडलर को सामने बैठाकर पूछताछ कर सकती है NCB ड्रग्स चैट मामले में अनन्या पांडे से होनी है पूछताछ रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज बेंगलुरु में वैमानिकी विकास प्रतिष्ठान का दौरा किया शिवराज सिंह चौहान ने शोपियां मुठभेड़ में शहीद जवान कर्णवीर सिंह को सतना में श्रद्धांजलि दी मुंबई के लालबाग इलाके में 60 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग आग की लपटों से घिरी बहुमंजिला इमारत में 100 से ज्यादा लोगों के फंसे होने की आशंका उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव: कल शाम छह बजे सोनिया गांधी के आवास पर कांग्रेस सीईसी की बैठक राष्ट्रपति कोविन्द अपनी तीन दिवसीय बिहार यात्रा के अंतिम दिन गुरुद्वारा पटना साहिब, महावीर मंदिर गए छत्तीसगढ़ः राजनांदगांव में आईटीबीपी के 21 जवानों को फूड प्वाइजनिंग, अस्पताल में भर्ती कराया गया

डेंगू-मलेरिया के बढ़ते मामलों को देखते हुए गुरुग्राम ने बॉर्डर पर स्क्रीनिंग बढ़ाई

डेंगू-मलेरिया के बढ़ते मामलों को देखते हुए गुरुग्राम ने बॉर्डर पर स्क्रीनिंग बढ़ाई

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 18 Sep 2021, 07:20:02 PM
Moquito

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

गुरुग्राम: राष्ट्रीय राजधानी में डेंगू और मलेरिया के मामले बढ़ने के बाद गुरुग्राम के जिला स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट पर रखा गया है।

दिल्ली सीमा से सटे इलाकों में वायरल फीवर, डेंगू और मलेरिया के मामलों की पहचान के लिए विभाग ने अपना स्क्रीनिंग अभियान तेज कर दिया है।

सभी चिकित्सा अधिकारियों और स्वास्थ्य कर्मियों को निर्देश जारी कर दिया गया है और स्वास्थ्य विभाग की मोबाइल टीमें सीमा से सटे इलाकों में लगातार चेकिंग कर रही हैं।

सरकारी और निजी अस्पतालों में वायरल फीवर के मरीजों की संख्या में 25 फीसदी का इजाफा हुआ है।

जिले के सीमावर्ती इलाकों में रहने वाले कई लोग रोजाना काम के सिलसिले में सीमा पार करते हैं। ऐसे में जिले में संक्रमण फैलने का खतरा और भी बढ़ने की आशंका है।

अधिकारियों ने बताया कि जिले में डेंगू और मलेरिया की रोकथाम के लिए नाथूपुर, डूंडाहेड़ा, मुलाहेरा और सरहौल जैसे सीमावर्ती क्षेत्रों में स्क्रीनिंग बढ़ाने का निर्णय लिया गया है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) वीरेंद्र यादव ने कहा, डेंगू और मलेरिया के लिए विभाग ने विशेष टीमों का भी गठन किया है। ये टीमें हर 15 दिन में सीमा से सटे इलाकों का सर्वेक्षण करेंगी। बुखार व अन्य लक्षणों से पीड़ित मरीजों की पहचान कर जांच की जाएगी।

स्वास्थ्य विभाग की टीमों में बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कर्मियों के अलावा आशा कार्यकर्ता और लैब टेक्नीशियन भी शामिल होंगे।

एक स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा, ये टीमें पहले घर-घर जाकर जांच करेंगी और बुखार वाले मरीजों की पहचान करेंगी। उसके बाद अगर किसी मरीज में कोई अन्य लक्षण पाए जाते हैं तो मौके पर ही उनके सैंपल लिए जाएंगे जिन्हें जांच के लिए लैब भेजा जाएगा। अगर किसी में डेंगू या मलेरिया की पुष्टि होती है, तो उसे आइसोलेट कर दिया जाएगा।

स्वास्थ्य विभाग ने इस सीजन में अब तक डेंगू के 17 मामलों की पुष्टि की है। पॉश इलाकों से लेकर कॉलोनियों और सेक्टरों तक गांवों में डेंगू फैल रहा है। शहर में अब तक डीएलएफ फेज-4, सेक्टर-65, 67, 89, 103, झारसा, कृष्णा कॉलोनी, भोंडसी, वजीराबाद और बादशाहपुर इलाकों में डेंगू के मरीज मिल चुके हैं। मलेरिया का भी एक मामला सामने आया है।

यादव ने कहा, टीमों को सीमा से सटे इलाकों में स्क्रीनिंग बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। टीमें बुखार के मरीजों की पहचान करेंगी और जरूरत पड़ने पर डेंगू और मलेरिया की जांच के लिए नमूने एकत्र करेंगी। निगम के कर्मचारियों को भी फॉगिंग बढ़ाने के लिए कहा गया है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 18 Sep 2021, 07:20:02 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो