News Nation Logo

NASA Asteroid Alert! खतरनाक Asteroid 1998 Hl1 करेगा पृथ्वी पर भयंकर विनाश

Asteroid Alert! ये खतरनाक एस्टेरॉयड इतना बड़ा है कि इसमें तीन Eiffel Tower एक साथ समा सकता है.

न्यूज स्टेट ब्यूरो | Edited By : Vikas Kumar | Updated on: 24 Aug 2019, 02:56:59 PM
Asteroid 1988 HL1

highlights

  • Asteroid 1988 HL1 से है पृथ्वी को खतरा.
  • 25 अक्टूबर को पृथ्वी के सबसे करीब होगा ये एस्टेरॉयड.
  • अगर पृथ्वी पर गिरता है ये एस्टेरॉयड तो मचा देगा भयंकर तबाही.

नई दिल्ली:  

Asteroid Alert! Dangerous Asteroid 1998 HL1 Coming towards Earth: हमारी पृथ्वी एक बार फिर से खतरे में है. इस बार 162082 (1998 HL1) नाम का Asteroid करीब 25,000 मील प्रति घंटे की स्पीड से हमारे ग्रह की ओर बढ़ रहा है. अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा के अनुसार, ये स्पेस रॉक या एस्टेरॉयड करीब 3248 फीट का है. नासा (NASA) ने इस एस्टेरॉयड को पृथ्वी के लिए संभावित खतरनाक एस्टेरॉयड (potentially hazardous asteroid) की कैटेगरी में रखा है. इतनी तेज स्पीड से अगर ये एस्टेरॉयड हमारी पृथ्वी से टकराता है तो हमारी पृथ्वी पर भयंकर तबाही मचा देगा. ये एस्टेरॉयड इतना खतरनाक है कि एक पूरे शहर को तबाह कर सकता है. इस एस्टेरॉयड का आकार इतना बड़ा है कि तीन एफिल टॉवर इसमें समा सकते हैं.
वैज्ञानिकों को मानना है कि ये एस्टेरॉयड 1998 HL1 25 अक्टूबर के दिन सबसे करीब होगा. यदि पृथ्वी की गुरुत्वाकर्षण के कारण किसी भी तरह से ये एस्टेरॉयड धरती पर गिर जाता है तो तबाही होना निश्चित है. अगर ये एस्टेरॉयड धरती पर गिरता है तो इससे सुनामी, भूकंप या तुफान आना निश्चित है.

यह भी पढ़ें: Asteroid Alert! इस दिन पूरी तरह से तबाह हो सकती है पृथ्वी, दो Asteroid मचाएंगे भयंकर तबाही
NASA के  Center for Near Earth Object Studies (CNEOS) के मुताबिक, asteroid 1998 HL1 25 अक्टूबर को करीब 1.21 मिनट दोपहर में पृथ्वी के सबसे करीब से गुजरेगा. वैज्ञानिकों के मुताबिक, इस वक्त इसकी दूरी पृथ्वी से करीब 0.04155 astronomical units या करीब 3.9 मिलियन मील दूर होगा. यहां ये बताना जरूरी होगा कि CNEOS ने इस एस्टेरॉयड को अपोलो एस्टेरॉयड की कैटेगरी में रखा है. ibtimes.com में छपी रिपोर्ट के अनुसार, अपोलो एस्टेरॉयड पृथ्वी और सूर्य के बीच काफी बड़ा आर्बिट रखते हैं. समय-समय पर ये एस्टेरॉयड हमारे ग्रह के आर्बिट या कक्षा को इंटरसेक्ट करते रहते हैं. 1998 HL1 के आर्बिट को काफी पास से इंटरसेक्ट करेगा इसीलिए इसे  potentially hazardous asteroid की कैटेगरी में रखा गया है.  CNEOS के मुताबिक, वर्तमान में संभावित खतरनाक क्षुद्रग्रहों को उन मापदंडों के आधार पर परिभाषित किया गया है जो पृथ्वी के करीब आने की क्षमता रखते हैं.

एस्टेरॉयड 1998 HL1 पहली बार 18 अप्रैल, 1998 को देखा गया था। आखिरी बार जब एस्टेरॉयड का दौरा पृथ्वी के पड़ोस में 13 जून को हुआ था। इस समय के दौरान, एस्टेरॉयड ने लगभग 0.37388 खगोलीय इकाइयों (लगभग 35 मिलियन मील) की दूरी से ग्रह से गुजर गया किया था। इस वर्ष के दृष्टिकोण के बाद, 162082 (1998 HL1) 15 अक्टूबर, 2026 को फिर से ग्रह के सामने से गुजरेगा.

यह भी पढ़ें: विक्रम लैंडर ने भेजी चांद की पहली तस्‍वीर, देखें कैसे लगते हैं चंदा मामा 

हालांकि आपको घबराने की ज्यादा जरूरत नहीं है क्योंकि वैज्ञानिकों का मानना है potentially hazardous asteroid के बावजूद भी ये एस्टेरॉयड बिना नुकसान पहुंचाए हमारे ग्रह के पास से निकल जाएगा.
क्या होता है एस्टेरॉयड (What is an Asteroid)
दरअसल एस्टेरॉयड एक तरीके से स्पेस रॉक (Space Rocks or Asteroid) ही होते हैं जो हमारे अंतरिक्ष में असंख्य मात्रा में मौजूद है जिनकी उत्पत्ति किसी टकराव के कारण हुई होगी या धूल के कण इकट्ठा होने से आज एक ठोस चट्टान के रूप में बदल चुके हैं.

First Published : 24 Aug 2019, 10:36:58 AM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.