News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बोले, कोरोना की तीसरी लहर आ गई है

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बोले, कोरोना की तीसरी लहर आ गई है

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 04 Jan 2022, 06:45:01 PM
Ktaka Health

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

बेंगलुरु: कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने मंगलवार को कहा कि राज्य में कोरोनावायरस की तीसरी लहर आ गई है। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण दर 0.4 प्रतिशत से बढ़कर 1.6 प्रतिशत हो गई है। बीते छह महीने में मामले 0.1 फीसदी भी नहीं थे।

उन्होंने कहा, एक दिन में यह 1.6 फीसदी पर पहुंच गया है। आप क्या सोचते हैं? क्या यह तीसरी लहर नहीं है?

सुधाकर ने पत्रकारों से बात करते हुए आगे कहा कि राज्य कांग्रेस पार्टी के नेता बेंगलुरु में पदयात्रा (विरोध मार्च) के लिए अन्य जिलों के हजारों लोगों को जुटा रहे हैं।

उन्होंने कहा, यह अच्छा है कि वे मेकेदातु परियोजना लागू करने की मांग को लेकर विरोध मार्च निकाल रहे हैं। इस परियोजना से शहर को पीने का पानी उपलब्ध होगा। मगर जब वे छह साल तक सत्ता में थे, इस परियोजना को उन्होंने भुला दिया था।

मंत्री ने चेतावनी दी, अगर पदयात्रा से संक्रमण फैलता है तो उन्हें जिम्मेदारी लेनी होगी। उन्होंने कहा कि राजनीतिक रैलियों सहित बड़ी सभाओं पर प्रतिबंध को लेकर मंगलवार शाम को होने वाली बैठक में फैसला लिया जाएगा।

यह पूछे जाने पर कि क्या सरकार लॉकडाउन के विकल्प पर विचार कर रही है, उन्होंने कहा, मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि आप लॉकडाउन जैसे कठोर शब्दों का इस्तेमाल न करें। जनजीवन अभी सामान्य स्थिति में है। अगर लॉकडाउन लगाया जाता है तो यह लोगों को बहुत अधिक प्रभावित करेगा। इन सब को ध्यान में रखते हुए हम तय करेंगे कि आम आदमी को ज्यादा परेशान किए बिना क्या किया जाना चाहिए। यह निश्चित रूप से सरकार के लिए एक चुनौती है।

मंत्री सुधाकर ने कहा कि बेंगलुरु के लिए विशेष नियम बनाए जाएंगे।

उन्होंने कहा, पहली और दूसरी लहर के दौरान बेंगलुरु महामारी का केंद्र था। यह तीसरी लहर के दौरान भी एक उपरिकेंद्र बनने जा रहा है, क्योंकि यह अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों के लिए राज्य का पहला बिंदु है।

उन्होंने कहा कि कोविड के मामले दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं। कुल मामलों में से 90 फीसदी अकेले बेंगलुरु में हैं। सरकार अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर और निगरानी रखेगी।

मंत्री ने कहा कि सूक्ष्म नियंत्रण क्षेत्र बनाने पर भी निर्णय लिया जाएगा और बैठक के बाद मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई अन्य उपायों की भी घोषणा करेंगे।

15 से 18 वर्ष की आयु के लाभार्थियों के लिए टीकाकरण अभियान के बारे में बात करते हुए उन्होंने बताया कि 6.38 लाख के निर्धारित लक्ष्य के मुकाबले 4.22 लाख खुराकें दी जा चुकी हैं। लगभग 66 प्रतिशत टीकाकरण हो चुका है और कर्नाटक देश में चौथे स्थान पर है। उन्होंने कहा कि राज्य ने 43 लाख लाभार्थियों की पहचान की है और उन्हें अगले 10 से 15 दिनों में टीका लगाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने अभी तक इस आयु वर्ग के लिए टीकाकरण की दूसरी खुराक के प्रशासन पर दिशा-निर्देश नहीं दिए हैं।

उन्होंने कहा, कोविड का ओमिक्रॉन स्वरूप दुनियाभर में तेजी से फैल रहा है। भारत में भी यह नए साल में सभी शहरों में फैलने लगा है। महाराष्ट्र में इससे ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। दिल्ली में भी अधिक मामले आए हैं। इन घटनाक्रमों ने हमें और अधिक सतर्क बना दिया है।

मंत्री ने कहा, हम इसके फैलाव को पूरी तरह नहीं रोक सकते, लेकिन एहतियाती उपाय तो निश्चित रूप से कर सकते हैं। हम इसे रोकने के उपाय कर रहे हैं। महाराष्ट्र और केरल से ट्रेनों और बसों से कर्नाटक आने वाले लोगों पर प्रतिबंध लगाने पर भी फैसला लिया जाएगा।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 04 Jan 2022, 06:45:01 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.