News Nation Logo
Banner

Chandrayaan2 : 14 अगस्त को पृथ्वी की कक्षा से बाहर निकलकर चांद की यात्रा पर रवाना होगा चंद्रयान-2

ट्रांस-लुनार इंजेक्शन के माध्यम से चंद्रयान-2 पृथ्वी की कक्षा को बदल लेगा और चांद की यात्रा पर निकल जाएगा

By : Sushil Kumar | Updated on: 12 Aug 2019, 05:57:19 PM
isro-chairman-k-sivan-chandrayaan2-will-leave-earth-move-towards moon

isro-chairman-k-sivan-chandrayaan2-will-leave-earth-move-towards moon

highlights

  • चंद्रयान-2 अपने मिशन पर रवाना हो चुका है
  • 14 अगस्त को पृथ्वी की कक्षा से बाहर हो जाएगा
  • चांद की यात्रा पर निकल जाएगा

नई दिल्ली:

चंद्रयान-2 के सफल प्रक्षेपण के बाद वह अपनी यात्रा पर निकल गया है. चंद्रयान-2 अपने मिशन पर रवाना हो चुका है. 14 अगस्त की सुबह 3:30 बजे यह पृथ्वी की कक्षा से पूरी तरह बाहर हो जाएगा. इसके साथ ही चांद की यात्रा पर निकल जाएगा. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) प्रमुख के. सिवान ने सोमवार को इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि 14 अगस्त की सुबह 3.30 बजे चंद्रयान-2 पृथ्वी की कक्षा से पूरी तरह बाहर हो जाएगा.

यह भी पढ़ें - नाडा और बीसीसीआई चुनाव को लेकर कल होगी COA की बैठक, इन अहम मुद्दों पर होगी चर्चा

उन्होंने कहा कि हम सुबह 3.30 बजे एक एजेक्ट करेंगे और चंद्रयान अपनी कक्षा बदलकर पृथ्वी की कक्षा से बाहर होगा. ट्रांस-लुनार इंजेक्शन के माध्यम से चंद्रयान-2 पृथ्वी की कक्षा को बदल लेगा और चांद की यात्रा पर निकल जाएगा. सिवान ने कहा कि इसके बाद वह चांद की कक्षा में प्रवेश करने की प्रक्रिया से गुजरेगा. उन्होंने कहा कि इस प्रक्रिया से अगले 8 दिनों में यानि 20 अगस्त को चांद के पास पहुंचेगा. हमारा प्लान चांद के पास भी कक्षाएं बदलने का है. आखिरकार 7 सितंबर को चंद्रयान चांद पर उतरेगा होगा.

यह भी पढ़ें - प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मानधन योजना (PMLVMY): छोटे व्‍यापारियों को हर महीने मिलेगी 3,000 रुपये पेंशन

बता दें कि भारत का दूसरा मून मिशन 'चंद्रयान-2' चंद्रमा के और नजदीक पहुंच गया था. अब उसने तीसर कक्षा में प्रवेश कर लिया. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिकों ने चन्द्रयान -2 पृथ्वी की की तीसरी कक्षा में सफलतापूर्वक पहुंचाया. चन्द्रयान -2 आज (29 जुलाई, 2019) करे भारतीय समयानुसार 15:12 बजे (IST) पर सफलतापूर्वक तीसरी कक्षा में प्रवेश कर गया था. यह कक्षा 276 x 71792 किमी है. चौथी कक्षा में यान 2 अगस्त, 2019 को 1400 - 1500 बजे (IST) के बीच प्रवेश करेगा.

यह भी पढ़ें - भारत-पाक के बीच तनाव! बकरीद पर अटारी-वाघा सीमा पर मिठाइयों का नहीं हुआ आदान-प्रदान

22 जुलाई को लॉन्च किए गए चंद्रयान-2 को पहले पेरिजी 170 किमी और एपोजी 45,475 किमी पर स्थापित किया गया था. इसके बाद पहली बार 24 जुलाई को दोपहर 2.52 बजे चंद्रयान-2 की कक्षा में सफलतापूर्वक बदलाव किया गया था. इस वक्त इसकी पेरिजी 230 किमी और एपोजी 45,163 किमी की गई थी. इसरो के मुताबिक, सभी अंतरिक्ष यान पैरामीटर सामान्य हैं. अब तीसरी कक्षा में बदलाव 29 जुलाई को दोपहर 2.30-3.30 बजे के बीच निर्धारित किया गया है.

First Published : 12 Aug 2019, 05:49:20 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×