logo-image
लोकसभा चुनाव

space news : स्पेस में हवा की कमी के बावजूद अंतरिक्ष यात्री कैसे जीवित रहते हैं?, जानें यहां

Space News: हवा की कमी के बावजूद अंतरिक्ष यात्री स्पेस में जीवित रह सकते हैं. लेकिन हम आम लोग क्यों नहीं बच सकते? जानिए कारण.

Updated on: 10 Jul 2024, 10:39 AM

नई दिल्ली :

Why is there a lack of air in space?: यह  संभव ही नहीं है कि आप अंतरिक्ष में सांस ले सकते हैं, क्योंकि वहां हवा या ऑक्सीजन नहीं होती. अंतरिक्ष यात्री अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (ISS) या स्पेसशिप के अंदर ही सांस ले सकते हैं, जहां ऑक्सीजन और आवश्यक वायु दबाव बनाए रखा जाता है. जब हम पहाड़ पर चढ़ते हैं तो जैसे-जैसे हम ऊपर जाते हैं, ऑक्सीजन की कमी होती जाती है और हमें सांस लेने में दिक्कत होती है. इसी तरह अंतरिक्ष में भी ऑक्सीजन की कमी के कारण दिक्कत होती है.

अंतरिक्ष में कैसे सांस ली जा सकती है, पढ़ें यहां

ऑक्सीजन सप्लाई: अंतरिक्ष यान और अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन में ऑक्सीजन टैंक्स होते हैं जो वहां ऑक्सीजन की सप्लाई करते हैं. ये टैंक्स पृथ्वी से ऊपर लाए जाते हैं.

वायुमंडलीय दबाव: ISS के अंदर वायुमंडलीय दबाव पृथ्वी के समुद्र स्तर के बराबर होता है, जो लगभग 101.3 किलोपास्कल (kPa) या 14.7 पाउंड प्रति वर्ग इंच (psi) होता है. यह दबाव मानव शरीर के लिए जरूरी होता है ताकि रक्त और शरीर के अन्य तरल पदार्थ सामान्य तरीके से काम कर सकें.

कार्बन डाइऑक्साइड हटाना: वायु में मौजूद कार्बन डाइऑक्साइड को हटाने के लिए अंतरिक्ष यान में विशेष स्क्रबर सिस्टम होते हैं. ये सिस्टम CO2 को ऑब्जर्व करके हवा को साफ रखते हैं. वायुमंडलीय नियंत्रण: तापमान, आर्द्रता, और वायु की गुणवत्ता को बनाए रखने के लिए नियंत्रित प्रणाली होती है ताकि अंतरिक्ष यात्री स्वस्थ और सुरक्षित रह सकें.

अंतरिक्ष में बाहरी दबाव:

अंतरिक्ष में बाहरी वायुमंडलीय दबाव बहुत कम होता है, यह लगभग शून्य के आस-पास होता है. इसे vacuum कहा जाता है. इस कारण, बिना स्पेससूट के अंतरिक्ष में जाना असंभव है क्योंकि मानव शरीर को स्थिर वायुमंडलीय दबाव की जरुरत होती है. स्पेससूट अंतरिक्ष यात्रियों को सुरक्षित दबाव और ऑक्सीजन प्रोवाइट करता है. इस प्रकार, अंतरिक्ष यात्री विशेष उपकरणों और व्यवस्थाओं के माध्यम से अंतरिक्ष में सांस ले सकते हैं और सुरक्षित रह सकते हैं.

अंतरिक्ष में सांस लेने के लिए जरूरी सामान 

अंतरिक्ष यान या अंतरिक्ष स्टेशन: अंतरिक्ष यात्री केवल अंतरिक्ष यान या अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (ISS) के अंदर ही सांस ले सकते हैं, जहां ऑक्सीजन की आपूर्ति और वायुमंडलीय दबाव बनाए रखा जाता है.

स्पेससूट: जब अंतरिक्ष यात्री अंतरिक्ष यान के बाहर जाते हैं, तो वे स्पेससूट पहनते हैं. स्पेससूट उन्हें ऑक्सीजन प्रदान करता है और उन्हें वायुमंडलीय दबाव में रखता है. यह सूट शरीर को अंतरिक्ष के अत्यधिक ठंडे या गर्म तापमान और विकिरण से भी बचाता है.

अंतरिक्ष में बाहरी दबाव की स्थिति: अंतरिक्ष में बाहरी वायुमंडलीय दबाव बहुत कम होता है, लगभग शून्य. इस कारण, बिना स्पेससूट के अंतरिक्ष में जाना घातक हो सकता है. मानव शरीर को स्थिर वायुमंडलीय दबाव की जरूरत होती है.