News Nation Logo
Banner

कार्गो मिशन से लौट रहे रूसी अंतरिक्ष यान में धमाका, सोशल मीडिया पर एस्ट्रोनॉट्स ने शेयर की तस्वीरें

पृथ्वी (Earth) पर लौटने के दौरान कार्गो मिशन (Cargo Mission) पर गया रूस के 'स्पेस ट्रक' (Russia Space Truck) में धमाका हो गया.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 10 Feb 2021, 02:30:44 PM
astronauts

कार्गो मिशन से लौट रहे रूसी अंतरिक्ष यान में धमाका, जल गया यान (Photo Credit: File Photo)

नई दिल्ली:

पृथ्वी (Earth) पर लौटने के दौरान कार्गो मिशन (Cargo Mission) पर गया रूस के 'स्पेस ट्रक' (Russia Space Truck) में धमाका हो गया. पृथ्वी के वातावरण में पहुंचने के बाद ही रूसी स्पेस एजेंसी रॉसकॉसमोस का कार्गो शिप प्रोग्रेस MS-15 फट (Progress MS-15 Burned) गया. अंतरिक्ष में मौजूद एस्ट्रोनॉट्स (Astronauts) ने इस घटना की तस्‍वीरें सोशल मीडिया पर साझा की हैं. सोमवार 8 फरवरी को यह वापस धरती की ओर रवाना हुआ था और 9 फरवरी को धरती के वातावरण में आते ही वह आग के गोले में तब्‍दील हो गया और उसके टुकड़े-टुकड़े हो गए. जापान की स्पेस एजेंसी JAXA के एस्ट्रोनॉट सुइची नोगुची ने इस घटना की जानकारी देते हुए लिखा, अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन से अनडॉक होने के बाद रूसी कार्गो स्पेसक्राफ्ट प्रोग्रेस 76P MS-15 में आग लग गई और वह जल गया. नोगुची ने सोशल मीडिया पर इस घटना की तस्‍वीरें भी साझा की हैं. उन्‍होंने जो तस्‍वीरें साझा की हैं, उसमें स्पेसक्राफ्ट आग के गोले में तब्‍दील होता दिख रहा है. 

23 जुलाई 2020 को कजाकस्तान के बैकोनुर कॉस्मोड्रोम से रॉसकॉसमोस ने प्रोग्रेस MS-15 को स्पेस स्टेशन के लिए लॉन्च किया था. लांचिंग के 3 घंटे 18 मिनट और 31 सेकेंड के बाद से यह इंटरनेशनल स्‍पेश स्‍टेशन से जुड़ गया था. रॉसकॉसमोस की ओर से बताया गया है कि लॉन्च के तुरंत बाद यह क्राफ्ट रिकॉर्ड समय में अपनी जगह पर पहुंच गया था. यह एक तरह की रुटीन डिलीवरी है, जिसमें 2.5 टन से ज्यादा सामान स्पेस स्टेशन तक पहुंचाया गया था. स्पेस स्टेशन तक उपकरणों के अलावा खाना और दूसरी चीजें पहुंचाने के लिए कार्गो मिशन भेजा जाता है. 

कार्गो शिप ने अंतरिक्ष में स्पेस स्टेशन के साथ जुड़कर 7 महीने का समय वहां बिताया. MS-15 से बीते सोमवार को इसे अलग किया गया था और यह स्टेशन से दूर निकला पर धरती के वातावरण में आते ही वह जल गया. यह भी बताया जा रहा है कि यह सब पहले से तय था. रूसी मिशन कंट्रोल सेंटर के विशेषज्ञों का कहना है कि कार्गो शिप के टुकड़े दक्षिणी प्रशांत महासागर में गिरे हैं. ये टुकड़े जिस इलाके में गिरे हैं, वहां अधिक ट्रैफिक नहीं होता.

First Published : 10 Feb 2021, 02:30:44 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.