News Nation Logo
Banner

दिल्ली के अस्पताल तीसरी लहर से पहले बच्चों के लिए कस रहे कमर

दिल्ली के अस्पताल तीसरी लहर से पहले बच्चों के लिए कस रहे कमर

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 16 Aug 2021, 08:50:01 PM
Coronaviru File

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में स्वास्थ्य ढांचे का आकलन करने के बाद कोविड की तीसरी संभावित लहर के मद्देनजर एक कार्य योजना तैयार करने के लिए इस साल मई में एक 13 सदस्यीय समिति का गठन किया था। उसके बाद, तीसरी लहर के शमन और प्रबंधन के लिए रणनीति तैयार करने के लिए एक और आठ सदस्यीय विशेषज्ञ समिति का गठन किया गया था।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने सरकार को चेतावनी दी है कि कोविड की तीसरी लहर में बच्चों को संक्रमण का अधिक खतरा हो सकता है, क्योंकि उन्हें टीका नहीं लगाया गया है।

तीसरी लहर के दौरान बच्चों की सुरक्षा पर सुझाव देने के लिए एक विशेष टास्क फोर्स का गठन किया गया जो आसन्न स्थिति से निपटने के लिए दिल्ली सरकार की कार्य योजना का हिस्सा है। इसके अलावा दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन सप्लाई के बुनियादी ढांचे का आकलन करने के लिए अलग से कमेटी का गठन किया गया है।

चाचा नेहरू चिल्ड्रेन हॉस्पिटल, एलएनजेपी हॉस्पिटल, जीटीबी और कई अन्य सरकारी अस्पतालों में बच्चों के लिए स्पेशल टास्क फोर्स की देखरेख में कोविड आईसीयू वार्ड तैयार किए जा रहे हैं। दिल्ली में लोक नायक जय प्रकाश अस्पताल और लिवर एवं पित्त विज्ञान संस्थान (आईएलबीसी) में वायरस के प्रकारों की पहचान करने के लिए दो जीनोम अनुक्रमण प्रयोगशालाओं की योजना बनाई गई है।

चाचा नेहरू बाल अस्पताल की प्रमुख ममता जाजू ने आईएएनएस को बताया कि अस्पताल में 24 घंटे निर्बाध आपूर्ति के लिए नई ऑक्सीजन पाइपलाइन बिछाई जा रही है।

उन्होंने कहा कि इस समय अस्पताल में 220 बेड की व्यवस्था है। तीसरी कोविड लहर को देखते हुए बेड की संख्या 250 से अधिक की जाएगी। वहीं, अस्पताल में बच्चों के लिए 30 आईसीयू बेड हैं, जिन्हें बढ़ाकर 100 किया जाएगा।

उन्होंने कहा, आने वाले दिनों में 150 ऑक्सीजन प्वाइंट की मौजूदा संख्या को बढ़ाकर 230 करने का काम चल रहा है।

उन्होंने कहा कि तीसरी कोविड लहर से पहले ऑक्सीजन की आपूर्ति में कोई संकट न हो, यह सुनिश्चित करने के लिए नए टैंक भी लगाए जा रहे हैं।

बाल रोग विशेषज्ञ ममता जाजू ने कहा, हम बच्चों के आईसीयू वार्डो के लिए नए वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए इस्तेमाल होने वाली हाई-टेक मशीन खरीदने की तैयारी कर रहे हैं।

दिल्ली के अस्पतालों में आईसीयू बेड के लिए बीस घंटे ऑक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था की जा रही है। इसके साथ ही लिक्विड ऑक्सीजन की क्षमता बढ़ाकर 10,000 लीटर करने की तैयारी की जा रही है। अस्पताल प्रशासन द्वारा हेल्पलाइन नंबर जारी करने की भी योजना बनाई जा रही है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 16 Aug 2021, 08:50:01 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो