News Nation Logo
Banner

चांद की सतह पर दिखाई दी 'रहस्यमयी झोंपड़ी', देखकर वैज्ञानिक भी हैरान 

ब्रह्मांड अपने रहस्यों से भरा पड़ा है. यही वजह है दुनिया के विकसित देश भी ब्रह्मांड के इन रहस्यों को सुलझाने में जुटे हैं. चांद पर पानी की खोज के साथ दूसरी चीजें भी तलाशी जा रही हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 14 Dec 2021, 05:20:48 PM
Mission Moon

Mission Moon (Photo Credit: File Pic)

नई दिल्ली:  

साइंस और टेक्नोलॉजी आज चाहे जितनी भी आगे बढ़ गई हो लेकिन ब्रह्मांड के रहस्यों को अभी भी सुलझाया नहीं जा सका है. यही वजह है कि फिर चाहे भारतीय स्पेस एजेंसी भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO ) हो या फिर अमेरिका की नासा, स्पेस और दूसरों ग्रहों से जुड़ी जानकारी लगाने को अभियान चलाते रहते हैं. इस बीच चीन के युटू-2 रोवर ने चांद पर पहली बार कुछ रहस्यमयी खोजा है. दरअसल, रोवर को चांद की सतह पर कुछ रहस्यमयी चीज दिखाई दी है. हालांकि इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि यह चीज है क्या?

यह खबर भी पढ़ें- भारत पहुंची पानी से चलने वाली पहली कार, जानिए मार्केट में कब से शुरू होगी सेल?

दरअसल, युटू-2 रोवर को चांद की सतह पर क्यूब जैसे आकार की कोई चीज नजर आई है.  रोवर ने इसको करीब से देखने का प्रयास किया है और इसको रहस्यमयी झोंपड़ी बताया है. यह रोवर से 80 मीटर की दूरी पर मौजूद है. इंजीनियरों का कहना है कि रोवर को रहस्यमयी झोंपड़ी के पास तक जाने में तीन महीनों का समय लग सकता है. हालांकि उनका मानना है कि यह कोई बड़ा बोल्डर हो सकता है. आपको बता दें कि साल 2019 से युटू-2 चांद की अंधेरे वाली साइड में मौजूद हैं. 

यह खबर भी पढ़ें-  100 रुपए में 100 किलोमीटर चलेगी आपकी कार, सरकार ने खोजा पेट्रोल-डीजल का विकल्प

आपको बता दें कि इससे पहले भारत ने मिशन चंद्रयान के तहत लैंडर रोवर चांद की सतह पर उतारा था. भारत की स्पेस एजेंसी इसरो ने चंद्रयान और चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) का प्रक्षेपण किया था. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष के सिवन ने मिशन चंद्रयान-3 की लागत 250 करोड़ रुपये बतायी थी. 

First Published : 14 Dec 2021, 05:20:48 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.