News Nation Logo
भारत में अब तक कोविड के 3.46 करोड़ मामले सामने आए हैं: लोकसभा में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हरियाणा में अगले आदेश तक गुरुग्राम, सोनीपत, फरीदाबाद और झज्जर के स्कूलों को बंद करने का आदेश Omicron Update: 31 देशों में 400 से ज्यादा संक्रमण के मामले मलेशिया में ओमीक्रॉन के पहले मामले की पुष्टि अमेरिका में ओमीक्रॉन से संक्रमण के मामले बढ़कर 8 हुए केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस: CCTV के मामले में दिल्ली दुनिया में नंबर 1 केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस: दिल्ली में महिलाएं पूरी तरह सुरक्षित केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस: दिल्ली में 1.40 कैमरे और लगाए जाएंगे थोड़ी देर में ओमीक्रॉन पर जवाब देंगे स्वास्थ्य मंत्री IMF की पहली उप प्रबंध निदेशक के रूप में ओकामोटो की जगह लेंगी गीता गोपीनाथ 12 राज्यसभा सांसदों के निलंबन को लेकर विपक्षी दलों के सांसदों का गांधी प्रतिमा के पास विरोध-प्रदर्शन यमुना एक्‍सप्रेसवे पर सुबह सुबह बड़ा हादसा, मप्र पुलिस के दो जवानों समेत चार की मौत जयपुर में दक्षिण अफ्रीका से लौटे एक ही परिवार के चार लोग कोरोना संक्रमित

8000 साल पुराने 'भूतों के शहर' की खोज, पुरातत्विदों को समुद्र के नीचे मिला 'खजाना'

नेशनल ज्योग्राफिक के अल्बर्ट लिन ने आइल ऑफ वाइट से कुछ ही दूर समुद्र के नीचे 8000 साल पुराने प्राचीन शहर की खोज की है. माना जा रहा है कि ग्लेशियर पिघलने लगे और उनका पानी निचले इलाके में भरने लगा. जिससे यह शहर पानी में डूब गया. 

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 20 Nov 2021, 12:56:36 PM
Sea

पुरातत्वविदों ने 8000 साल पुराने शहर की खोज की (Photo Credit: न्यूज नेशन)

लंदन:

क्या आपने किसी ऐसे शहर के बारे में सुना है जो समुद्र के नीचे बसा हो. जी हां, पुरातत्वविदों ने इंग्लिश चैनल में खोए हुए 8000 साल पुराने शहर की खोज की है. इस शहर को शहर को घोस्ट सिटी यानी भूतों का शहर का नाम भी दिया है. पुरातत्वविदों को यहां की ऐसी चीजें मिली हैं जिन्हें देखकर वह हैरान रह गए हैं. यहां पुराने शहर के कई अवशेष मिले हैं. इंग्लिश चैनल ब्रिटेन और फ्रांस के बीच का समुद्री हिस्सा है. यह शहर तब बसाया गया जब ब्रिटेन की जमीन यूरोपीय देशों से आपस में जुड़ी थी. 
 
अल्बर्ट लिन ने की खोज
इस शहर की खोज नेशनल ज्योग्राफिक के अल्बर्ट लिन ने की है. जब वह अपनी टीम के साथ आइल ऑफ वाइट से कुछ ही दूर समुद्र के नीचे पहुंचे तो उन्हें यह शहर दिखाई दिया. उन्होंने बताया कि जब ब्रिटेन बाकी यूरोप से जुड़ा था जब यह शहर बसाया गया. बाद में ग्लेशियर के पिघटने के बाद निचले इलाकों में पानी भरने से यह शहर पानी में डूब गया. पानी भरने के बाद ही यूरोप और यूके के बीच एक चैनल का निर्माण हुआ. 

माना जाता है कि इंग्लिश चैनल का निर्माण अब तक की सबसे बड़ी सुनामी के बाद हुआ है. यह पानी ब्रिटेन के जमीनी इलाके में लगभग 40 किलोमीटर अंदर तक घुस आया. दलदलों के निर्माण के बाद यह पूरा इलाका समुद्र में बदल गया. जिससे ब्रिटेन यूरोप की मुख्य भूमि से अलग होकर एक द्वीपीय राष्ट्र बन गया. इस जगह का पता सबसे पहले 1999 में एक सर्वेक्षण के दौरान पता चला. गोताखोरों ने यहां एक झींगा मछली को अपने घोसले की सफाई करते हुए देखा. यह मछली अपने घोसले से नक्काशी की गई चकमक पत्थरों के टुकड़े निकाल रही थी. इससे पहली बार यह साबित हुआ कि इस इलाके में कभी बस्ती रही होगी. हालांकि, तब इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी थी. 

First Published : 20 Nov 2021, 12:56:36 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.