News Nation Logo

एम 1 मैकबुक स्क्रीन में खामी के चलते एप्पल के खिलाफ मुकदमा दायर

एम 1 मैकबुक स्क्रीन में खामी के चलते एप्पल के खिलाफ मुकदमा दायर

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 16 Sep 2021, 05:20:01 PM
Apple hit

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

सेन फ्रांसिस्को: टेक दिग्गज कंपनी एप्पल को क्लास-एक्शन मुकदमे का सामना करना पड़ रहा है जिसमें दावा किया गया है कि एम1 मैकबुक मॉडल को छुपी हुई खराबी के साथ भेज दिया गया है, जिससे उनकी स्क्रीन आसानी से टूट जाती है।

कानूनी फर्म मिग्लिआसियो एंड राठौड़ द्वारा आसानी से टूटी मैकबुक स्क्रीन की जांच के बाद यह मुकदमा, कैलिफोर्निया के उत्तरी जिले के लिए यूएस डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में मंगलवार को दायर किया गया।

एप्पलइन्साइडर की रिपोर्ट के अनुसार, मुकदमे में एप्पल पर विभिन्न वारंटी, उपभोक्ता संरक्षण और झूठे विज्ञापन कानूनों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया गया है।

शिकायत के मुताबिक, यूजर्स ने मैकबुक डिस्प्ले को डेड स्पॉट्स से अस्पष्ट होने की सूचना दी है। यह भी दावा किया गया कि एम1 मैकबुक मॉडल्स की स्क्रीन में दरार भी आई है।

इसमें कहा गया है, क्लास लैपटॉप बंद होने पर ये समस्याएं अक्सर विकसित होती हैं। कई क्लास लैपटॉप मालिकों ने बताया है कि उन्होंने अपने डिवाइस को बंद करते या खोलते समय पहली बार क्रैकिंग या खराबी देखी है। अन्य रिपोर्ट करते हैं कि स्क्रीन के देखने के एंगल को चेंज करते समय उनकी डिस्प्ले क्रैक हो जाती है।

एक अच्छा उपभोक्ता इस तरह की गतिविधि से अपने डिवाइस को नुकसान पहुंचाने की उम्मीद नहीं करेगा, अकेले एक अस्पष्ट डिस्प्ले एक स्क्रीन क्रैक जो इसकी कार्यक्षमता को खराब करता है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि मुकदमे में दावा किया गया है कि एप्पल ने इस कमी को छुपाने के लिए धोके से मार्किटिंग तरीकों को अंजाम दिया।

उदाहरण के लिए, एप्पल ने उपभोक्ताओं के ²ष्टिकोण से दोष को सक्रिय रूप से छुपाते हुए नोटबुक के स्थायित्व के बारे में बताया।

एम1 मैकबुक मालिकों के बीच आसानी से टूटने वाली स्क्रीन की रिपोर्ट सबसे पहले 2021 में सामने आने लगी थी।

कई उपयोगकतार्ओं ने बिना किसी स्पष्ट कारण के बेतरतीब ढंग से होने वाली स्क्रीन की खरीबी की सूचना दी थी। यह स्पष्ट नहीं है कि यह मुद्दा कितना व्यापक है, हालांकि उपयोगकतार्ओं ने इसे 13-इंच मैकबुक प्रो और मैकबुक एयर मॉडल पर रिपोर्ट किया है।

कम से कम एक मामले में, एक उपभोक्ता ने कहा कि उन्हें एप्पल विशेषज्ञों द्वारा सलाह दी गई थी कि रिपोर्ट के अनुसार, खराबी- कॉन्टेक्ट प्वाइन्ट दरार- एप्पल की मानक वारंटी के अंतर्गत नहीं आएगी।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 16 Sep 2021, 05:20:01 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.