News Nation Logo
अनन्या पांडे से सोमवार को फिर पूछताछ करेगी NCB अभिनेत्री अनन्या पांडे एनसीबी कार्यालय से रवाना हुईं, करीब 4 घंटे चली पूछताछ DRDO ने ओडिशा के चांदीपुर रेंज से हाई-स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट (HEAT) का सफल परीक्षण किया कल जम्मू-कश्मीर जाएंगे गृहमंत्री अमित शाह दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक 27 अक्टूबर को, छठ पूजा उत्सव के लिए ली जाएगी अनुमति 1971 के भारत-पाक युद्ध ने दक्षिण एशियाई उपमहाद्वीप के भूगोल को बदल दिया: सीडीएस जनरल बिपिन रावत माता वैष्णों देवी मंदिर में तीर्थयात्रियों के बीच कोरोना का प्रसार रोकने के लिए नए दिशा-निर्देश जारी दिल्ली जा रही फ्लाइट में एक आदमी की अचानक तबीयत ख़राब होने पर फ्लाइट की इंदौर में इमरजेंसी लैंडिंग 1971 का युद्ध, इसमें भारतीयों की जीत और युद्ध का आधार बेहद खास है: राजनाथ सिंह केंद्र सरकार की टीम उत्तराखंड में आपदा से हुई क्षति का आकलन कर रही है: पुष्कर सिंह धामी रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज बेंगलुरु में वैमानिकी विकास प्रतिष्ठान का दौरा किया शिवराज सिंह चौहान ने शोपियां मुठभेड़ में शहीद जवान कर्णवीर सिंह को सतना में श्रद्धांजलि दी मुंबई के लालबाग इलाके में 60 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव: कल शाम छह बजे सोनिया गांधी के आवास पर कांग्रेस सीईसी की बैठक

कोविड के खिलाफ चमगादड़ की प्रतिरोधी क्षमता को समझने से इलाज में मिल सकती है मदद

कोविड के खिलाफ चमगादड़ की प्रतिरोधी क्षमता को समझने से इलाज में मिल सकती है मदद

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 19 Sep 2021, 03:15:01 PM
A higher

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

सिडनी: सार्स-कोवि-2 के लिए चमगादड़ों की प्रतिक्रियाओं का अध्ययन करने से इस बात की महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है कि कैसे और कब कोविड-19 के लिए मौजूदा उपचारों का सर्वोत्तम उपयोग किया जाए और नए उपचार विकसित किए जाएं।

साइंस इम्यूनोलॉजी जर्नल में प्रकाशित समीक्षा में इस बात की पड़ताल की गई है कि मौजूदा महामारी का कारण बनने वाला वायरस मानव प्रतिरक्षा प्रणाली पर कैसे कहर ढाता है।

मोनाश विश्वविद्यालय के नेतृत्व में समीक्षा से पता चला है कि वर्तमान कोविड वायरस के सामान्य पूर्वज की संभावना 40 से 70 साल पहले चमगादड़ों में दिखाई दी थी, हालांकि 2019 के प्रकोप में शामिल सटीक चमगादड़ प्रजाति या मध्यवर्ती मेजबान मायावी बना हुआ है।

जबकि चमगादड़ एक-दूसरे को संक्रमित कर सकते हैं, वे कोई नैदानिक प्रभाव नहीं दिखाते हैं और न ही फेफड़ों में वही मुद्दे दिखाते हैं, जो मनुष्यों को इतनी बुरी तरह प्रभावित करते हैं।

टीम ने सुझाव दिया कि चमगादड़ कोविड का विरोध करने के लिए कुछ तरीकों का उपयोग चिकित्सीय में किया जा सकता है जैसे कि वायरस के लिए मानव प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को ठीक करना, जिस तरह से चमगादड़ उपयोग करते हैं, जिसमें टाइप आई और आईआईआई इंटरफेरॉन प्रतिक्रियाओं को बढ़ावा देना शामिल है। एक बार गंभीर बीमारी विकसित हो गई है।

मोनाश विश्वविद्यालय के प्रोफेसर मार्सेल नोल्ड ने कहा, गंभीर बीमारी की प्रगति को रोकना, या इसका प्रभावी ढंग से इलाज करना - दूसरे शब्दों में चमगादड़ का अनुकरण करना - स्पष्ट रूप से पीड़ा से राहत देगा और जीवन बचाएगा।

दिसंबर 2019 में पहली बार पहचा जाने के बाद से, सार्स-कोवि-2 उत्परिवर्तित हो गया है, और भिन्न उपभेद अल्फा, बीटा और डेल्टा मूल तनाव की तुलना में अधिक संक्रामक हैं।

नोल्ड के अनुसार, विशेष रूप से, डेल्टा तनाव अल्फा उत्परिवर्ती की तुलना में 60-79 प्रतिशत अधिक संचरण योग्य है, और संभवत: अधिक घातक है।

उन्होंने कहा कि म्यूटेशन के उद्भव के कारण कम से कम कुछ हिस्सों में प्रभावी उपचारों की तत्काल आवश्यकता बनी हुई है।

टीम ने चेतावनी दी कि सार्स-कोवि-2 संक्रमण को रोकना, या रोगियों को इसे मिटाने में सक्षम बनाना, कोविड -19 का मुकाबला करने में अंतिम लक्ष्य का प्रतिनिधित्व करता है: लेकिन यह अनिश्चित है कि दोनों में से कोई भी मजबूती से कब संभव होगा।

नोल्ड ने कहा, इसलिए, कोविड को गंभीर बीमारी को बढ़ने से रोकने के लिए सुरक्षित और प्रभावी उपचारों की पहचान करने के प्रयास और बीमारी के खिलाफ लड़ाई में महत्वपूर्ण हैं।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 19 Sep 2021, 03:15:01 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो