News Nation Logo
Banner

तीन एस्‍टेरॉयड तेजी से आ रहे हमारी ओर, पृथ्‍वी से टकराए तो होगा विनाश ही विनाश

क्षुद्रग्रह चट्टान की तरह हैं, लेकिन आकार में पृथ्‍वी की तुलना में काफी छोटे हैं. ये भी सूर्य की परिक्रमा करते हैं. हालांकि ये पृथ्‍वी और मानव के लिए हानिकारण हो सकते हैं.

By : Sunil Mishra | Updated on: 24 Jul 2019, 09:38:46 AM
क्षुद्रग्रह (फाइल फोटो)

क्षुद्रग्रह (फाइल फोटो)

highlights

  • पृथ्‍वी के पास से होकर गुजरेगा क्षुद्रग्रह, टकराने को लेकर अटकलें
  • गुरुत्वाकर्षण बल के चलते स्‍टेरॉयड पृथ्वी की ओर आ सकते हैं
  • तीन क्षुद्रग्रह तेजी से आ रहे हैं पृथ्‍वी की कक्षा की ओर

नई दिल्‍ली:

बुधवार 24 जुलाई को तीन क्षुद्रग्रहों 2019 OD’, 2015 HM10’ और 2019 OE’ के पृथ्वी की ओर खतरनाक तरीके से मुडेंगे. हालांकि वैज्ञानिकों का कहना है कि इससे घबराने की कोई जरूरत नहीं है, क्‍योंकि यह पृथ्वी के पास से होकर गुजरेगा, लेकिन इसके पृथ्‍वी से टकराने की कोई आशंका नहीं है. हाल के दिनों में स्‍टेरॉयड (क्षुद्रग्रह) की चर्चा तेज हुई है. पिछले दिनों बताया जा रहा था कि यदि स्‍टेरॉयड पृथ्‍वी से टकराता है तो बड़े पैमाने पर विनाश का कारण बन सकता है. इसके साथ ही इसके टकराने से मानव सभ्‍यता को भी भारी नुकसान का सामना करना पड़ सकता था. खैर, हम भाग्यशाली थे कि ये घातक क्षुद्रग्रह पृथ्वी से नहीं टकराए.

यह भी पढ़ें : पूर्व CM अखिलेश यादव से वापस ली जाएगी Z+ सुरक्षा, मुलायम की रहेगी बरकरार , ये है कारण

क्षुद्रग्रह चट्टान की तरह हैं, लेकिन आकार में पृथ्‍वी की तुलना में काफी छोटे हैं. ये भी सूर्य की परिक्रमा करते हैं. हालांकि ये पृथ्‍वी और मानव के लिए हानिकारण हो सकते हैं. गुरुत्वाकर्षण बल के चलते स्‍टेरॉयड (क्षुद्रग्रह) पृथ्वी की ओर आ सकते हैं. इसलिए हमारा भाग्य कभी भी दुर्भाग्य में बदल सकता है, लेकिन अभी के लिए हम सुरक्षित हैं.

क्षुद्रग्रह 2019
क्षुद्रग्रह 2019 OD अपोलो टाइप नियर अर्थ ऑब्जेक्ट या NEO है. नासा के अनुसार, क्षुद्रग्रह 2019 OD बुधवार दोपहर को पृथ्वी से 219,375 मील दूर से उड़ान भरेगा. यह आंकड़ा बहुत अधिक लग सकता है, लेकिन यह एक काफी करीब दूरी है. क्षुद्रग्रह 2019 OD को केवल तीन सप्ताह पहले देखा गया था. नासा के क्षुद्रग्रह ट्रैकर्स का अनुमान है कि यह बुधवार को लगभग 7:01 बजे (IST) पृथ्वी पर बंद हो जाएगा. विशालकाय क्षुद्रग्रह चंद्रमा की तुलना में करीब आ जाएगा, लेकिन यह पृथ्वी से नहीं टकराएगा.

यह भी पढ़ें : बांग्‍लादेशी जवानों ने मेघालय में सड़क निर्माण का काम रुकवाया, बीएसएफ कर रही है जांच

क्षुद्रग्रह 2015 HM10
क्षुद्रग्रह 2015 HM10 एक दूसरा सबसे बड़ा क्षुद्रग्रह है और 361 फीट चौड़ा हो सकता है. बुधवार को पृथ्वी की ओर रुख करेगा. यह प्रति घंटे 21,240 मील की दूरी से आ रहा है. लेकिन यह लगभग 7 मिलियन मील दूर से ही पृथ्‍वी को करीब 7:00 बजे (IST) पार कर जाएगा.

क्षुद्रग्रह 2019 OE
बुधवार को पृथ्वी की ओर आने वाला तीसरा और अंतिम क्षुद्रग्रह 2019 OE होगा, जो 597,706 मील दूर होगा. यह 20,160 मील प्रति घंटे की सबसे धीमी गति से यात्रा कर रहा है और आकार में भी यह सबसे छोटा है. इसका सबसे बड़ा संभावित आकार 171 मीटर चौड़ा है. यह रात करीब 8:05 बजे (IST) पृथ्वी के सामने से गुजरेगा.

यह भी पढ़ें : पूरे देश में इस सप्ताह मेहरबान रहेगा मानसून, इन राज्यों में हो सकती है भारी बारिश

Spacetelescope.org की एक रिपोर्ट के अनुसार, 700 000 से अधिक क्षुद्रग्रह अंतरिक्ष में मौजूद हैं. इसमें आगे कहा गया है कि क्षुद्रग्रह मुख्य रूप से मंगल और बृहस्पति की कक्षाओं के बीच 'मुख्य बेल्ट' नामक क्षेत्र में पाए जाते हैं.

First Published : 23 Jul 2019, 08:34:34 AM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो