News Nation Logo
बाबुल सुप्रियो का संसद की सदस्यता से इस्तीफा मंजूर दिल्ली के सदर बाजार में आज आतंकी हमलों को लेकर मॉक ड्रिल की गई T20 World Cup: साउथ अफ्रीका ने वेस्टइंडीज को 8 विकेट से हराया चाहें तो गोली मरवा सकते हैं और कुछ नहीं कर सकते: लालू प्रसाद यादव के बयान पर नीतीश कुमार आर्यन खान की जमानत पर बॉम्बे हाईकोर्ट में कल फिर होगी सुनवाई बिजनेस के सिलसिले में उनसे बातचीत होती थी: हैनिक बाफना प्रभाकर ने मेरा नाम क्यों लिया मैं नहीं जानता: हैनिक बाफना भारत के पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी आर्यन खान की ओर से कर रहे हैं दलील पेश प्रभाकर को अच्छी तरह जानता हूं: हैनिक बाफना मेरे खिलाफ कोई सुबूत नहीं: हैनिक बाफना अगर सुबूत है तो प्रभाकर लाकर दिखाएं: हैनिक बाफना टीम इंडिया के मुख्य कोच पद के लिए राहुल द्रविड़ ने किया आवेदन वीवीएस लक्ष्मण के NCA में पदभार संभालने की संभावना आर्यन खान के वकील ने HC में दाखिल किया हलफनामा HC में आर्यन खान की जमानत याचिका पर सुनवाई शुरू पश्चिम बंगाल में तंबाकू और निकोटिन वाले गुटखा-पान मसाला एक साल के लिए बैन कोवैक्सीन को मिल सकती है अंतरराष्ट्रीय मंजूरी, डब्ल्यूएचओ की बैठक आज उमर मलिक के बेटे पर यूपी सरकार कसेगी शिकंजा, एडमिशन के नाम पर रेस का आरोप पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह कल प्रेसवार्ता कर नई पार्टी का ऐलान कर सकते हैं अरविंद केजरीवाल का ऐलान - यूपी में सरकार बनी तो मुफ्त में अयोध्या की तीर्थ यात्रा कराएंगे

पृथ्वी से 1300 प्रकाश वर्ष दूर एक ग्रह कर रहा 3 तारों की परिक्रमा

अमेरिकी खगोलविदों ने तीन तारों की परिक्रमा करने वाले पहले ज्ञात ग्रह की पहचान की है, जिसके पृथ्वी से महज 1,300 प्रकाश वर्ष दूर होने का अनुमान है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 03 Oct 2021, 12:24:22 PM
Stars

सुदूर अंतरिक्ष में सामने आई अनोखी खगोलीय घटना. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • अब तक तीन तारों की परिक्रमा करने वाला कोई ग्रह नहीं
  • पृथ्वी से महज 1,300 प्रकाश वर्ष दूर होने का अनुमान है

न्यूयॉर्क:

अमेरिकी खगोलविदों ने तीन तारों की परिक्रमा करने वाले पहले ज्ञात ग्रह की पहचान की है, जिसके पृथ्वी से महज 1,300 प्रकाश वर्ष दूर होने का अनुमान है. हमारे सौर मंडल के विपरीत, जिसमें एक अकेला तारा होता है. यह माना जाता है कि सभी तारा प्रणालियों में से आधे, जैसे जीडब्ल्यू ओरी, जहां खगोलविदों ने उपन्यास घटना को देखा, में दो या दो से अधिक तारे होते हैं जो गुरुत्वाकर्षण रूप से एक दूसरे से बंधे होते हैं. हालांकि अब तक तीन तारों की परिक्रमा करने वाला कोई ग्रह नहीं खोजा गया था और न ही परिक्रमा करने वाली कक्षा ही कभी खोजी गई थी.

नेवादा विश्वविद्यालय लास वेगास (यूएनएलवी) के खगोलविदों ने शक्तिशाली अटाकामा लार्ज मिलिमीटर/सबमिलीमीटर एरे (एएलएमए) टेलीस्कोप से अवलोकनों का उपयोग किया और तीन तारों के चारों ओर तीन देखे गए धूल के छल्ले का विश्लेषण किया, जो ग्रहों के निर्माण के लिए महत्वपूर्ण हैं. शोध दल ने विभिन्न उत्पत्ति की जांच की, जिसमें यह संभावना भी शामिल है कि तीन तारों के बीच अंतर गुरुत्वाकर्षण टोक द्वारा बनाया गया होगा, लेकिन जीडब्ल्यू ओरी के एक व्यापक मॉडल के निर्माण के बाद, उन्होंने पाया कि डिस्क में स्थान के लिए अधिक संभावित, और प्रकृति में बृहस्पति की तरह आकर्षक व स्पष्ट एक या अधिक विशाल ग्रहों की मौजूदगी है,

यूएनएलवी से खगोल विज्ञान में डॉक्टरेट के छात्र, प्रमुख लेखक जेरेमी स्मॉलवुड के अनुसार, गैस जिएंट आमतौर पर एक स्टार सिस्टम के भीतर बनने वाला पहला ग्रह होता है। पृथ्वी और मंगल जैसे स्थलीय ग्रह इसका अनुसरण करते हैं. इस खोज की रिपोर्ट रॉयल एस्ट्रोनॉमिकल सोसाइटी के मासिक नोटिस में प्रकाशित हुई है. आने वाले महीनों में एएलएमए टेलीस्कोप से और टिप्पणियों की उम्मीद है, जो घटना का प्रत्यक्ष प्रमाण प्रदान कर सकता है. स्मॉलवुड ने कहा, 'यह वास्तव में रोमांचक है, क्योंकि यह ग्रह निर्माण के सिद्धांत को वास्तव में मजबूत बनाता है. इसका मतलब यह हो सकता है कि ग्रह निर्माण हमारे विचार से कहीं अधिक सक्रिय है, जो बहुत अच्छा है.'

First Published : 03 Oct 2021, 12:24:22 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.