News Nation Logo

योगी आदित्‍यनाथ ने चढ़ाई बाबा गोरक्षनाथ को खिचड़ी, एक महीने तक चलने वाले मेले का आगाज

गोरखपुर का गोरक्षनाथ मंदिर आस्‍था का एक बड़ा केन्‍द्र है. हर साल की तर इस बार भी मकर संक्रान्ति को यहां पर प्रदेश और देश के कोने-कोने से लाखों श्रद्धालु पहुंचे.

News Nation Bureau | Edited By : Drigraj Madheshia | Updated on: 15 Jan 2019, 08:28:06 AM
मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने मंगलवार को बाबा गोरखनाथ को खिचड़ी चढ़ाई (ANI)

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने मंगलवार को बाबा गोरखनाथ को खिचड़ी चढ़ाई (ANI)

गोरखपुर:

गोरखपुर का गोरक्षनाथ मंदिर (Gorakhnath Mandir) आस्‍था का एक बड़ा केन्‍द्र है. हर साल की तर इस बार भी मकर संक्रान्ति (Makar Sankranti 2019) को यहां पर प्रदेश और देश के कोने-कोने से लाखों श्रद्धालु पहुंचे. सबसे पहले मंदिर में गोरक्षपीठ के महंत और प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने बाबा गोरखनाथ को खिचड़ी चढ़ाई. इसके बाद उन्‍होंने प्रदेशवासियों को मकर संक्रांति की शुभकामनाएं दी. साथ ही उन्होंने प्रदेश में सपा व बीएसपी के गठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि मान-सम्मान बेचकर गठबंधन करना यह उनकी आदत है. प्रदेश में इस बार भी भारी बहुमत के साथ भारतीय जनता पार्टी अपनी सरकार बनाएगी और इस गठबंधन का मुंहतोड़ जवाब देगी.

बाबा गोरखनाथ को खिचड़ी चढ़ने के साथ ही मेले की शुरुआत हो गई. खिचड़ी मेला फरवरी तक चलेगा. इस मेले में उमड़ने वाली भारी भीड़ को मैनेज करने के लिये इस बार पुलिस विभाग ने भी काफी तैयारी की है. सुरक्षा के हिसाब से पूरे मंदिर परिसर को तीन जोन और 9 सेक्‍टर में बांटा गया है जिसमें हर एक जोन में एक-एक मजिस्‍ट्रेट की ड्यूटी लगाई गई है.

यह भी पढ़ेंः Kumbh Mela 2019 Live: कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कुंभ मेला शुरू, शाही स्नान के लिए जुटे करोड़ों श्रद्धालु

मेला परिसर में कुल 4 एएसपी और 9 सीओ की डयूटी लगाई गयी है. इस परिसर में एक थाना और पांच चौकियां स्‍थापित की गई हैं. इस मंदिर परिसर में 14 इंसपेक्‍टर, 122 उपनिरीक्षक, 6 महिला उपनिरीक्षक, 741 सिपाही, 80 महिला सिपाही, चार कम्‍पनी पीएसी, 356 होमगार्ड, दो क्‍यूआरटी, तैराक पुलिस दस्‍ता, डॉग स्क्वायड, बम निरोधक दस्ता की तैनाती की गई है. इसके साथ ही पूरे मंदिर परिसर में सीसीटीवी और ड्रोन कैमरों की मदद से सुरक्षा चाक चौबंद की जा रही है.

यह भी पढ़ेंः कुंभ 2019: कुछ खास है इस संत का अंदाज, तभी तो लोग कहते हैं 'डिजिटल बाबा'

यहाँ पर आने वाले श्रध्‍दाुलओं को ठहरने के लिये मंदिर परिसर के सभी विश्रामालयों को खाली करवा दिया गया है और इसके आलावा आसपास के दूसरे जगहों में भी लोगों के रूकने के इंतजामात किये गये हैं. हर साल की तरह इस साल भी श्रध्‍दालुओं और पर्यटकों के ख़ास व्यवस्था की गयी है कि आस्‍था की खिचड़ी के साथ मनोरंजन का पूरा सुरूर लोगों पर निर्वाध रूप से चढ़ सके.

राज्यपाल राम नाईक ने भी दी मकर सक्रांति की बधाई

राज्यपाल राम नाईक ने देश एवं प्रदेशवासियों को मकर संक्रांति एवं कुंभ 2019 की बधाई देते हुए कहा कि यह पर्व सभी के जीवन में खुशियों का संचार करे और देश एवं प्रदेश विकास की राह में आगे बढ़ता रहे. मकर संक्रांति के पर्व का मानव जीवन में विशेष महत्व है. भारतीय शास्त्रों के अनुसार मकर संक्रांति से दिन बड़े होने लगते हैं और मानव की कार्यक्षमता में भी वृद्धि होती है.

For all the Latest Religion News, Dharm News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 15 Jan 2019, 08:27:34 AM