News Nation Logo

कुंभ 2019 : राम मंदिर निर्माण के लिए रोज 33000 दीये जला रहे साधु संत

साधुओं का एक समूह अयोध्या में विवादित बाबरी मस्जिद क्षेत्र में भव्य राम मंदिर के जल्द से जल्द निर्माण के लिए प्रतिदिन 33,000 दीये जला रहा है

IANS | Updated on: 16 Jan 2019, 06:31:40 PM

नई दिल्ली:

साधुओं का एक समूह अयोध्या में विवादित बाबरी मस्जिद क्षेत्र में भव्य राम मंदिर के जल्द से जल्द निर्माण के लिए प्रतिदिन 33,000 दीये जला रहा है. साधुओं का कहना है कि वे इस माह 11 लाख दीये जलाएंगे और राम मंदिर के तत्काल निर्माण के लिए प्रार्थना करेंगे. इनलोगों का विश्वास है कि चार मार्च को कुंभ मेले की समाप्ति के बाद राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा. इसके अलावा, यहां कुंभ मेले में आ रहे श्रद्धालुओं के स्वागत के लिए लगाए गए कई होर्डिग्स में भी विवादित स्थल पर राम मंदिर निर्माण का आह्वान किया गया है.

सर्वोच्च न्यायालय में रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर अगली सुनवाई 29 जनवरी को होगी. मकर संक्राति के अवसर पर कुंभ मेले की शानदार शुरुआत के बाद अब यहां श्रद्धालुओं की संख्या धीरे-धीरे कम हो रही है. यहां 'शाही स्नान' के लिए इकट्ठा हुए लाखों श्रद्धालु अब अपने घरों की ओर लौट रहे हैं. अधिकारियों ने कहा कि मंगलवार को कुंभ मेले की शुरुआत में यहां दो करोड़ से ज्यादा श्रद्धालुओं और साधुओं ने संगम में पवित्र डुबकी लगाई. 

यहां हजारों लोगों को रेलवे स्टेशनों की ओर जाते देखा गया, जहां यात्रियों को लाने-ले जाने के लिए विशेष ट्रेनों की व्यवस्था की गई है.

हजारों लोग जबकि अपने घरों को लौट रहे हैं, 'शाही स्नान' की अगुवाई करने वाले 13 अखाड़े कुंभ नगरी में कई साधुओं के साथ जमे हुए हैं और अपनी विभिन्न मुद्राओं और क्रिया-कलापों से आगंतुकों को लुभा रहे हैं.

चारो तरफ यहां 'हर हर महादेव' और 'हर हर गंगे' की गूंज सुनाई दे रही है. कुंभ प्रशासन ने यहां आगंतुकों के लिए व्यापक तैयारियां की हैं और पहले दिन का आयोजन सफलतापूर्वक करने पर खुशी जताई है.

यहां अगला 'शाही स्नान' 21 जनवरी को होगा. अधिकारियों ने कहा कि वे तब तक श्रद्धालुओं की सामान्य भीड़ की आशा कर रहे हैं.

कुंभ मेला 4 मार्च को समाप्त होगा. उसी दिन महा शिवरात्रि के अवसर पर अंतिम 'शाही स्नान' का आयोजन किया जाएगा.

For all the Latest Religion News, Kumbh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 16 Jan 2019, 06:19:01 PM