logo-image
लोकसभा चुनाव

Hanuman Jayanti 2024: हनुमान जयंती पर कौन सी चीजें घर लाना शुभ है और कौन सी अशुभ?

Hanuman Jayanti 2024: इस वर्ष हनुमान जयंती 23 अप्रैल 2024, मंगलवार को मनाई जाएगी. आइए जानते हैं इस दिन घर में क्या लाना शुभ और क्या अशुभ है.

Updated on: 15 Apr 2024, 03:43 PM

नई दिल्ली:

Hanuman Jayanti 2024: हनुमान जयंती इस साल 23 अप्रैल 2024 को मंगलवार के दिन मनाई जाएगी. यह हिंदू धर्म के सबसे महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक है, जो भगवान हनुमान, भगवान राम के भक्त और वीर योद्धा के जन्म का उत्सव मनाता है. हनुमान जयंती भगवान हनुमान के प्रति भक्ति और श्रद्धा का उत्सव है. यह बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है. यह भक्तों को शक्ति, साहस और आत्मविश्वास प्रदान करता है. लोगों को सिखाता है कि कैसे समर्पण और भक्ति के माध्यम से जीवन में सफलता प्राप्त की जा सकती है.

शुभ चीजें

भगवान हनुमान की मूर्ति या प्रतिमा: यह हनुमान जयंती पर घर में लाने के लिए सबसे शुभ चीज है. आप भगवान हनुमान की बैठे हुए या खड़े हुए मुद्रा में मूर्ति या प्रतिमा ला सकते हैं.

सिंदूर: भगवान हनुमान को सिंदूर बहुत प्रिय है. इसलिए, हनुमान जयंती पर सिंदूर लाना शुभ माना जाता है. आप सिंदूर से भगवान हनुमान की मूर्ति या प्रतिमा को तिलक लगा सकते हैं.

केसर: केसर भी भगवान हनुमान को प्रिय है. आप हनुमान जयंती पर केसर लाकर उससे भगवान हनुमान की पूजा कर सकते हैं.

ध्वज: आप हनुमान जयंती पर घर में भगवान हनुमान का ध्वज भी ला सकते हैं. ध्वज को घर के मुख्य द्वार पर लगाना चाहिए.

फल और मिठाई: हनुमान जयंती पर भगवान हनुमान को फल और मिठाई का भोग लगाना शुभ माना जाता है. आप उन्हें उनके पसंदीदा फल जैसे कि केला, सेब और संतरा भोग लगा सकते हैं.

दीपक और अगरबत्ती: हनुमान जयंती पर घर में दीपक जलाना और अगरबत्ती जलाना शुभ माना जाता है. इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है.

लाल रंग की वस्तुएं: भगवान हनुमान को लाल रंग बहुत प्रिय है. इसलिए, आप हनुमान जयंती पर घर में लाल रंग की वस्तुएं ला सकते हैं जैसे कि लाल कपड़े, लाल फूल, या लाल रंग की माला.

अशुभ चीजें

मांस और मदिरा: हनुमान जयंती पर मांस और मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए. यह भगवान हनुमान का अपमान माना जाता है.

अश्लील सामग्री: हनुमान जयंती पर घर में अश्लील सामग्री नहीं रखनी चाहिए. यह दिन भक्ति और आध्यात्मिकता का दिन है.

टूटे हुए या क्षतिग्रस्त सामान: हनुमान जयंती पर घर में टूटे हुए या क्षतिग्रस्त सामान नहीं रखना चाहिए. इससे नकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है.

काले रंग की वस्तुएं: भगवान हनुमान को लाल रंग प्रिय है, काला रंग नहीं. इसलिए, हनुमान जयंती पर घर में काले रंग की वस्तुएं नहीं लाना चाहिए.

झगड़े और नकारात्मकता: हनुमान जयंती पर घर में झगड़े और नकारात्मकता नहीं होनी चाहिए. यह दिन शांति और सद्भाव का दिन है.

आप अपनी श्रद्धा और विश्वास के अनुसार हनुमान जयंती मना सकते हैं. घरों और मंदिरों में भगवान हनुमान की मूर्तियों और प्रतिमाओं को स्नान, सिंदूर, फूल और माला चढ़ाकर पूजा की जाती है. भक्त भगवान हनुमान की आरती गाते हैं और "जय बजरंग बली" और "सीता राम" जैसे मंत्रों का जाप करते हैं. भक्त रामायण के पाठ करते हैं या रामकथा सुनते हैं, जो भगवान राम के जीवन और कार्यों की कहानी है. कुछ भक्त हनुमान जयंती के दिन व्रत रखते हैं, केवल सात्विक भोजन का सेवन करते हैं. भक्त दान-पुण्य करते हैं और जरूरतमंदों की मदद करते हैं. कई स्थानों पर हनुमान जयंती के अवसर पर झांकियां और रामलीला का आयोजन किया जाता है, जो भगवान राम के जीवन की घटनाओं का नाटकीय चित्रण है. कुछ मंदिरों और धार्मिक संगठनों में हनुमान जयंती के दिन ध्वजारोहण किया जाता है.

 Religion की ऐसी और खबरें पढ़ने के लिए आप न्यूज़ नेशन के धर्म-कर्म सेक्शन के साथ ऐसे ही जुड़े रहिए.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं. न्यूज नेशन इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)

यह भी पढ़ें: Lion In Dream During Navratri: नवरात्रि में सपने में दिखे शेर तो होते हैं ये 3 बड़े संकेत