logo-image
लोकसभा चुनाव

When Kalyug Will End: 2024-25 में शनि के मीन राशि में आते ही आएगा महाप्रलय, भविष्य मलिका में लिखा है कलयुग का आखिरी साल

Bhavishya Malika : भारत पर अब संकट बढ़ता ही चला जाएगा. भविष्य मलिका की माने के कलयुग का अंत होने वाला है. शनि का मीन राशि में प्रवेश होते ही महाप्रलय आएगा.

Updated on: 14 Jun 2024, 11:41 AM

नई दिल्ली:

When Kalyug Will End: क्या सच में दुनिया में महाप्रलय आने वाला है, साल 2024-25 कलयुग के अंत का साल है. माना जा रहा है कि भविष्य मलिका में लिखी अब तक की हर भविष्यवाणी सच हुई है. शास्त्रों और ग्रंथो के जानकारों की माने तो भविष्य मलिका में कलयुग के अंत को लेकर सब पहले ही लिखा जा चुका है. इसमें लिखी हर भविष्यवाणी अब तक सच होती आई है. कलयुग एक ऐसा युग जिसे श्रापित युग के रूप में जाना जाता है. इस युग के अंत के लिए अनेकों धर्म ग्रंथों में डरावनी और खौफ से भर देने वाली भविष्यवाणियां की गई हैं और कुछ ऐसा ही एक ग्रंथ में लिखा हुआ है, जिसे आज पूरी दुनिया भविष्य मलिका के नाम से जानती है. 

आज से लगभग 600 साल पहले इसी भविष्य मलिका (Bhavishya Malika) में कलयुग के अंत के बारे में कुछ ऐसी भविष्यवाणी की गई हैं जो हैरान कर देंगी. भविष्य मलिका के अनुसार जब शनि मीन राशि में प्रवेश करेगा तब शुरू होगा दुनिया का अंत . ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि 29 मार्च 2025 को मीन राशि में प्रवेश (Shani in Pisces Trigger Apocalypse) कर जाएंगे और इस राशि में 3 जून 2027 तक रहेंगे. इस बात को भी नकारा नहीं जा सकता कि जब-जब शनि मीन राशि में आए तब-तब दुनिया में काफी तबाही आई. अब कई लोगों का मानना है कि जो जैसा लिखा हुआ है वो बिल्कुल वैसा ही होगा. इसी भविष्य मलिका में लिखा है कि दुनिया का विनाश (kalyug ka ant) होना निश्चित है. 

पंच शाखाओं ने अपनी सिद्धियों का इस्तेमाल करके भविष्य मालिका की कुछ इस तरह से रचना की, जिसमें भूत, वर्तमान और भविष्य तीनों की जानकारी काफी गहराई से पढ़ने को मिलती है. यही भविष्य मलिका कहती हैं कि आने वाले समय में इस धरती पर पाप इतना बढ़ जाएगा की कलयुग की आयु कम हो जाएगी और धरती पर पाप बढ़ने की वजह से धरती की आयु घटकर 4,32,000 से सिर्फ 5000 साल रह जाएगी. स्वयं भगवान श्रीकृष्ण ने गीता में अर्जुन से कहा था कि जब जब धर्म की हानि और अधर्म की वृद्धि होती है, तब-तब मैं अपने आप को साकार रूप में प्रकट करता हूं. 

पौराणिक ग्रंथों के अनुसार, जब कालांतर यानी की युग परिवर्तन होगा, तब भगवान कल्कि एक संभल गांव में जन्म लेंगे और इस संबल नाम की जगह पर कई लोगों की अलग-अलग मान्यताएं है. कुछ लोगों का कहना है कि संभल कैलाश पर्वत के पास कई छिपा हुआ है. वहीं कुछ का मानना है कि संबल उत्तर प्रदेश में है. लेकिन अगर हम भविष्य मलिका के अनुसार देखें तो कल्कि अवतार का जन्म उड़ीसा के संभल गांव में पहले ही हो चुका है. भविष्य मालिका के अनुसार दुनिया में होने वाली भयंकर तबाही और होने वाला युग परिवर्तन पूरी के अंतिम राजा के मृत्यु से पहले होगा. भविष्य मलिका (Bhavishya Malika) ये भी कहती है कि पुरी के राज़ घराने में पुरुषोत्तम देवराज के बाद कोई भी भविष्य का राजा नहीं बचेगा और अगर इन भविष्यवाणियों को एक साथ मिलाकर देखा जाए तो आज के समय में पूरी के राजा दिव्य सिन्हा देव है, जिनकी उम्र करीब 70 साल के आसपास है और उनकी सिर्फ एक ही बेटी है. अब इस बात से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि परिवर्तन का समय आ गया है और युग परिवर्तन का समय जो आया है तो कलयुग के अंत का समय भी आ चुका है.

यह भी पढ़ें : Bhavishya Malika: भविष्य मलिका में 500 साल पहले ही लिखा जा चुका है भारत का आखिर शासक कौन होगा

भविष्य मलिका में भारत के लिए पढ़ने को मिलता है कि जब शनि मीन राशि में प्रवेश करेगा तब भारत में भयंकर युद्ध की शुरुआत होगी. जहां चीन के साथ-साथ मुस्लिम देश मिलकर भारत पर आक्रमण करेंगे. वहीं हवा, जमीन और पानी हर जगह से भारत को निशाने पर रखा जाएगा, लेकिन भारत का सर्वनाश नहीं हो पाएगा. हां, नुकसान बहुत होगा. एक समय पर प्रधानमंत्री भी मुश्किलों में फंस जाएंगे और मिलिट्री रूल भी लागू कर दिया जाएगा. ये सब आज से 600 वर्ष पूर्व भविष्य मलिका में लिख दिया गया है. यानि चाहे युद्ध से हो या महाप्रलय से लेकिन, कलयुग का अंत नजदीक है.

यह भी पढ़ें : Achyutananda Das Bhavishyavani: बदल जाएगा भारत का नक्शा, अगर सच हुई संत अच्युतानंद दास महाराज की भविष्यवाणी

Religion की ऐसी और खबरें पढ़ने के लिए आप न्यूज़ नेशन के धर्म-कर्म सेक्शन के साथ ऐसे ही जुड़े रहिए.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं. न्यूज नेशन इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)