logo-image
लोकसभा चुनाव

Vastu Tips For Wrist Watch: आपको कंगाल बना सकती है आपकी यह आदत, गलती से भी यहां उतारकर न रखें अपनी घड़ी

Vastu Tips For Wrist Watch: वास्तु के अनुसार आपके हाथ की घड़ी आपकी किस्मत से जुड़ी होती है. अगर आप इसे उतार के ऐसे ही यहां-वहां रख देते हैं या गलत दिशा में रख देते हैं तो ये आपको कंगाल बना सकती है.

Updated on: 14 May 2024, 04:32 PM

New Delhi :

Vastu Tips For Wrist Watch: ज्योतिष शास्त्र में ग्रहों और नक्षत्रों की चाल का हमारे जीवन पर प्रभाव माना जाता है. घड़ी को भी एक ग्रह माना जाता है, और इसका संबंध बुध ग्रह से होता है. बुध ग्रह बुद्धि, ज्ञान और संचार का कारक माना जाता है. यह दावा कि घड़ी रखने की गलत दिशा आपको कंगाल बना सकती है, ज्योतिष शास्त्र और वास्तु शास्त्र से जुड़ा हुआ है. वास्तु शास्त्र में घर और कार्यस्थल में वस्तुओं की उचित दिशा और स्थान का महत्व बताया गया है. वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में वस्तुओं को रखने की उचित दिशा महत्वपूर्ण होती है, क्योंकि इसका हमारे जीवन पर सकारात्मक और नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है. घड़ियों के लिए भी कुछ दिशा-निर्देश निर्धारित किए गए हैं, जिनका पालन करने से सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है और जीवन में सुख-समृद्धि आती है.

किस दिशा में उतारकर रखें घड़ी ?

ज्योतिष शास्त्र और वास्तु शास्त्र के अनुसार, घड़ी को उत्तर दिशा में रखना शुभ माना जाता है.  ऐसा माना जाता है कि इससे बुध ग्रह मजबूत होता है, और बुद्धि, ज्ञान और संचार में वृद्धि होती है.  इसके विपरीत, दक्षिण दिशा में घड़ी रखना अशुभ माना जाता है.  ऐसा माना जाता है कि इससे बुध ग्रह कमजोर होता है, और धन हानि, ऋण और कंगाली हो सकती है. घड़ी को भी वास्तु शास्त्र में महत्वपूर्ण माना जाता है, और इसका संबंध उत्तर दिशा से होता है. इसके अलावा ईशान कोण, जो उत्तर-पूर्व दिशा में स्थित होता है, ज्ञान और बुद्धि का प्रतीक है. इस दिशा में घड़ी रखने से ज्ञान वृद्धि और करियर में सफलता मिल सकती है.

गलती से भी इस दिशा में ना रखें घड़ी 

दक्षिण दिशा को नकारात्मक ऊर्जा और ऋण का प्रतीक माना जाता है. वास्तु शास्त्र के अनुसार, इस दिशा में घड़ी रखने से नकारात्मक प्रभाव पड़ सकते हैं और आर्थिक परेशानियां हो सकती हैं. पश्चिम दिशा को सूर्यास्त की दिशा माना जाता है, जो क्षति और हानि का प्रतीक है. इस दिशा में घड़ी रखने से भी नकारात्मक प्रभाव पड़ सकते हैं. दक्षिण-पश्चिम कोण ऋण और रोगों का प्रतीक है. इस दिशा में घड़ी रखने से आर्थिक परेशानियां और स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं.

घड़ी की दिशा से ज्यादा महत्वपूर्ण है घड़ी का समय. समय का सदुपयोग करें और अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करें. धन हानि और कंगाली से बचने के लिए, अपनी आर्थिक योजना बनाएं, बजट बनाएं, और पैसे बचाएं. नकारात्मक विचारों से दूर रहें और सकारात्मक सोच रखें. आपकी सफलता और समृद्धि आपकी मेहनत और दृढ़ संकल्प पर निर्भर करती है.

तो आप अगर ज्योतिष शास्त्र और वास्तु शास्त्र में विश्वास करते हैं, तो घड़ी को उत्तर दिशा में रख सकते हैं.  यह आपको मानसिक शांति और सकारात्मकता प्रदान कर सकता है, जो आपके जीवन में सफलता प्राप्त करने में सहायक हो सकता है.

Religion की ऐसी और खबरें पढ़ने के लिए आप न्यूज़ नेशन के धर्म-कर्म सेक्शन के साथ ऐसे ही जुड़े रहिए.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं. न्यूज नेशन इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)