logo-image

Vastu Tips For home: पूर्व दिशा की ओर बना घर शुभ होता है या अशुभ, क्या है सही दिशा

Vastu Tips For Home: वास्तुशास्त्र एक प्राचीन भारतीय विज्ञान है जो घर, कार्यालय, विभिन्न स्थानों और निर्माण कार्यों के लिए उचित और समान्य रूप से व्याप्त रूप से उपयोग किया जाता है.

Updated on: 24 Feb 2024, 12:51 PM

नई दिल्ली :

Vastu Tips For Home: वास्तुशास्त्र एक प्राचीन भारतीय विज्ञान है जो घर, कार्यालय, विभिन्न स्थानों और निर्माण कार्यों के लिए उचित और समान्य रूप से व्याप्त रूप से उपयोग किया जाता है. यह शास्त्र भविष्य में बाधा और समस्याओं को दूर करने, स्थानीय प्रशासनिक कार्यों की योजना और निर्माण, और व्यक्तिगत भविष्य को सुधारने के लिए भी उपयोगी है. वास्तुशास्त्र के अनुसार, वास्तु के अवलंबन के कारण यह घर या कार्यालय की ऊर्जा और विशेषताओं को संतुलित करने में मदद कर सकता है और उसे स्वस्थ और समृद्ध बनाने में मदद कर सकता है. पूर्व दिशा की ओर बने घर को वास्तुशास्त्र में शुभ माना जाता है. वास्तुशास्त्र के अनुसार, पूर्व दिशा की ओर बने घर में सूर्य की प्रकाश कमरे में आता है और इससे उत्तेजना और ऊर्जा का संचार होता है. इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है और लोगों को स्वास्थ्य, संतुलन और समृद्धि में वृद्धि होती है. इसलिए, वास्तुशास्त्र के अनुसार, पूर्व दिशा की ओर बने घर को शुभ माना जाता है और इससे लोगों के जीवन में सकारात्मक परिणाम होते हैं.

पूर्व दिशा की ओर बने घर शुभ या अशुभ?

1. वास्तु शास्त्र: वास्तु शास्त्र के अनुसार, पूर्व दिशा सूर्य देवता की दिशा है. सूर्य ऊर्जा, जीवन और प्रकाश का प्रतीक है. इसलिए, पूर्व दिशा में बने घर को आमतौर पर शुभ माना जाता है.

2. घर का मुख: पूर्व दिशा में बने घर का मुख यदि पूर्व दिशा में ही हो, तो यह सबसे शुभ माना जाता है. इसे "सूर्यमुखी घर" कहा जाता है.

3. घर का आकार: घर का आकार भी महत्वपूर्ण है. यदि घर का आकार आयताकार या वर्गाकार है, तो यह शुभ माना जाता है.

4. घर का प्रवेश द्वार: घर का प्रवेश द्वार भी महत्वपूर्ण है. यदि घर का प्रवेश द्वार पूर्व दिशा में है, तो यह शुभ माना जाता है.

5. अन्य कारक: घर के आसपास का वातावरण, घर के अंदर की व्यवस्था, और घर में रहने वाले लोगों का स्वास्थ्य भी महत्वपूर्ण कारक हैं.

पूर्व दिशा में बने घर को आमतौर पर शुभ माना जाता है. यदि घर वास्तु शास्त्र के अनुसार बना हो, तो यह और भी शुभ माना जाता है. वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर का मुख पूर्व, उत्तर या पश्चिम दिशा में होना शुभ माना जाता है. दक्षिण दिशा में घर का मुख होना अशुभ माना जाता है. यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि वास्तु शास्त्र एक जटिल विषय है. यदि आप अपने घर के लिए वास्तु शास्त्र के अनुसार कोई निर्णय लेना चाहते हैं, तो आपको किसी योग्य वास्तु विशेषज्ञ से सलाह लेनी चाहिए.

Religion की ऐसी और खबरें पढ़ने के लिए आप visit करें newsnationtv.com/religion

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं. न्यूज नेशन इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)