logo-image
लोकसभा चुनाव

Sita Navami 2024 Upay: इस बार सीता नवमी पर करें ये उपाय, खोई हुई खुशियां दोबारा देंगी आपके घर दस्तक!

Sita Navami 2024 Upay: सीता नवमी माता सीता के जन्म दिवस के रूप में मनाया जाता है. यह दिन स्त्रियों के लिए विशेष महत्व रखता है. इस दिन माता सीता की पूजा करने से सुख-समृद्धि, सौभाग्य और वैवाहिक जीवन में खुशहाली प्राप्त होती है.

Updated on: 15 May 2024, 01:22 PM

नई दिल्ली:

Sita Navami 2024 Upay: हिंदू पंचांग के अनुसार, वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को सीता नवमी मनाई जाती है. इस बार सीता नवमी 16 मई 2024 दिन गुरुवार को है. सीता नवमी को सीता जयंती या जानकी जयंती के नाम से भी जाना जाता है. मान्यता है कि इस दिन माता सीता प्रकट हुई थीं.सीता नवमी माता सीता के जन्म दिवस के रूप में मनाया जाता है. यह दिन स्त्रियों के लिए विशेष महत्व रखता है.  इस दिन माता सीता की पूजा करने से सुख-समृद्धि, सौभाग्य और वैवाहिक जीवन में खुशहाली प्राप्त होती है. वहीं अगर आप आर्थिक तंगी से परेशान हैं, या फिर शादी में बाधा आ रही है, या अखंड सौभाग्य का आशीर्वाद पाना चाहते हैं तो ऐसे में आपको इस दिन कुछ उपाय जरूर करने चाहिए. तो चलिए फिर जानते हैं इन उपायों के बारे में. 

सीता नवमी पर जरूर करें ये 5 सरल उपाय (Sita Navami 2024 Upay in Hindi)

1. माता सीता की पूजा

सीता नवमी के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और स्वच्छ वस्त्र पहनें. अपने घर में माता सीता और भगवान राम की प्रतिमा या मूर्ति स्थापित करें. माता सीता को फूल, माला, फल, मिठाई और जल अर्पित करें. धूप, दीप और अगरबत्ती जलाएं. उसके बाद इस मंत्र का जाप करें. मंत्र इस प्रकार है -  "सीता रमेश्वर मंत्र" . ऐसा करने से आपकी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं. 

2. सीता नवमी के दिन रखें व्रत

सीता नवमी के दिन व्रत रखने से भी पुण्य प्राप्त होता है. इस दिन आप निर्जला व्रत रख सकते हैं या फिर फलाहार कर सकते हैं. व्रत के दौरान नमक, मसाले और तेल का सेवन न करें. संध्याकाल में व्रत का पारण करें. 

3. दान

सीता नवमी के दिन दान करने से भी पुण्य लाभ होता है. इस दिन आप गरीबों, जरूरतमंदों या ब्राह्मणों को दान कर सकते हैं. आप अन्न, वस्त्र, दवा या धन का भी दान कर सकते हैं. इस दिन दान करना बेहद शुभ माना जाता है. 
 
4. कन्या पूजन

सीता नवमी के दिन कन्या पूजन करने से भी विशेष लाभ प्राप्त होता है. इस दिन आप 9 कुमारी कन्याओं को भोजन करा सकती हैं. इसके अलावा इस दिन आप उन्हें लाल चुनरी, फल, मिठाई और दक्षिणा भी दे सकती हैं. 

5. सीताचरित्र का पाठ

सीता नवमी के दिन सीताचरित्र का पाठ करना बेहद लाभकारी माना जाता है. सीताचरित्र में माता सीता के जीवन चरित्र का वर्णन होता है. इसका पाठ करने से माता सीता का आशीर्वाद प्राप्त होता है. इसके अलावा इस दिन आप माता सीता की आरती करें, रामायण का पाठ करें. भगवान राम और माता सीता की कथा सुनें. 

6. प्रेम विवाह के लिए

अगर आप प्रेम विवाह करना चाहते हैं तो ऐसे में सीता नवमी के दिन व्रत रखकर भगवान श्री राम और माता सीता की पूजा करें. साथ ही इस दिन जानकी स्तोत्र का पाठ करें. ऐसा करने से शादी में सफलता मिलती है. 

7. विवाह बाधा को दूर करने के लिए

अगर आपकी शादी नहीं हो रही है या फिर विवाह में देरी हो रही है तो ऐसे में इस दिन प्रभु श्रीराम, माता सीता और माता लक्ष्मी की पूजा करें. इन्हें एक पीले कपड़े में हल्दी की गांठें अर्पित करें. 

8. धन लाभ के लिए

अगर आप आर्थिक तंगी से परेशान हैं और इससे छुटकारा पान चाहते हैं तो ऐसे में इस दिन माता सीता को खीर का भोग लगाएं. बता दें कि माता सीता को देवी लक्ष्मी का अवतार माना गया है. खीर का भोग लगाने के बाद इसे कन्याओं को भी दें. ऐसा करने से धन लाभ होता है. 

Religion की ऐसी और खबरें पढ़ने के लिए आप न्यूज़ नेशन के धर्म-कर्म सेक्शन के साथ ऐसे ही जुड़े रहिए.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं. न्यूज नेशन इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)

ये भी पढ़ें - 

Sita Navami 2024: साल 2024 में कब मनाई जाएगी सीता नवमी? इस मूहूर्त में पूजा करने से घर में आएगी सुख-समृद्धि!