News Nation Logo
Banner

Sita Navami 2022 Importance and Puja Vidhi: सीता नवमी का जानें महत्व और इस विधि से करें पूजा, पति की उम्र होगी लंबी और मनोवांछित फल मिलेगा

इस साल सीता नवमी (sita navami 2022) 10 मई को बड़ी ही धूम-धाम से मनाई जाएगी. इस दिन सुहागिनें भगवान श्रीराम और माता सीता की विधिवत पूजा करती हैं. तो, चलिए आपको बताते हैं कि सीता नवमी का व्रत का महत्व (sita navami 2022 importance) और पूजा विधि क्या है.

News Nation Bureau | Edited By : Megha Jain | Updated on: 01 May 2022, 01:58:27 PM
sita navami 2022 puja vidhi and significance

sita navami 2022 puja vidhi and significance (Photo Credit: social media )

नई दिल्ली:  

हिंदू धर्म में त्योहारों का विशेष महत्व होता है. वैशाख के महीने (vaishakh month 2022) में शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को मां सीता प्रकट (sita navami) हुई थी. इसलिए, हर साल इस दिन जानकी नवमी, सीता नवमी, सीता जयंती (sita navami 2022) के रूप में मनाते हैं. सीता नवमी के दिन सुहागिनें भगवान श्रीराम और माता सीता (sita navami 2022 hindi) की विधिवत पूजा करती हैं. कहा जाता है कि ऐसा करने से सुहागिनों का सुहाग बना रहता है और घर में सुख शांति बनी रहती है. तो, चलिए आपको बताते हैं कि सीता नवमी का व्रत का महत्व और पूजा विधि क्या है. 

यह भी पढ़े : Sita Navami 2022 Date and Shubh Muhurat: सीता नवमी का व्रत शुभ मुहूर्त में रखें इस दिन, घर में होगी शांति और बनी रहेंगी सुहागन

सीता नवमी 2022 पूजन विधि 

सीता नवमी के दिन सुबह-सुबह ब्रह्म मुहूर्त में उठकर स्नानादि करके व्रत का संकल्प लें. उसके बाद घर में रखे गंगाजल से भगवान श्रीराम और माता सीता की मूर्ति को स्नान कराएं. इसके बाद घर में मंदिर या पूजा स्थल पर माता सीता और भगवान राम की विधि पूर्वक पूजा करें और भोग लगाएं. इनके सामने दीपक जलाएं. अब भगवान राम और माता सीता की आरती करें. उसके बाद अंत में लगाए गए भोग को प्रसाद के रूप में वितरित (Sita Navami 2022 Puja Vidhi) करें.  

यह भी पढ़े : Shagun Lifafa: शगुन के लिफाफे में इसलिए दिया जाता है 1 रुपए का सिक्का, ये है खास वजह

सीता नवमी 2022 महत्व 
कहा जाता है कि सीता नवमी के दिन व्रत रखकर सुहागिनें भगवान श्रीराम और सीता माता की विधि विधान से पूजा करें तो उन्हें मनवांछित वर प्राप्त होता है. कहा जाता है कि व्रत रखने और पूजा करने से घर में सुख शांति और पति को लंबी आयु प्राप्त होती है. शास्त्र मत है कि इस दिन व्रत रखने और पूजा करने से कई तीर्थयात्राओं और दान पुण्य के बराबर फल (Sita Navami 2022 significance) मिलता है. 

First Published : 01 May 2022, 01:58:27 PM

For all the Latest Religion News, Dharm News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.