logo-image
लोकसभा चुनाव

Shukra Mantra: शुक्र ग्रह के दोष को दूर करने के लिए करें इस मंत्र का जाप, जानें उसके लाभ

ज्योतिष शास्त्र में, ग्रहों का विशेष महत्व है और इनमें से एक है शुक्र ग्रह. शुक्र ग्रह को सौंदर्य, कला, सौहार्द, और सुख-शांति का सिरमूर्ति माना जाता है. यह दैवी ग्रहों में से एक है और हिन्दू ज्योतिष में इसे शुक्राचार्य के नाम से भी जाना जाता है.

Updated on: 19 Jan 2024, 02:30 PM

नई दिल्ली:

Shuk Mantraज्योतिष शास्त्र में, ग्रहों का विशेष महत्व है और इनमें से एक है शुक्र ग्रह.  शुक्र ग्रह ( shukra graha ) को सौंदर्य, कला, सौहार्द, और सुख-शांति का सिरमूर्ति माना जाता है. यह दैवी ग्रहों में से एक है और हिन्दू ज्योतिष में इसे शुक्राचार्य के नाम से भी जाना जाता है. ज्योतिष शास्त्र में, ग्रहों का प्रभाव हमारे जीवन पर महत्वपूर्ण होता है, और इनमें से एक है शुक्र ग्रह. शुक्र ग्रह के दोष से मुक्ति प्राप्त करने के लिए कई मंत्र हैं जिसमे से एक शुक्र मंत्र ( Shukra Mantra)  भी है जो भक्ति और आध्यात्मिकता में श्रद्धालुओं द्वारा जाप किए जाते हैं. शुक्र ग्रह की सुखद दशा व्यक्ति को जीवन में सफलता, सुख, और समृद्धि का अनुभव करने का अवसर प्रदान करती है. इसलिए, ज्योतिष में इसे एक महत्वपूर्ण ग्रह माना जाता है जो व्यक्ति के जीवन को प्रशांत, सुखमय, और समृद्धि से भर देता है.

1. शुक्र मंत्र (Shukra Mantra)  "ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः": यह मंत्र शुक्र ग्रह के दोषों को दूर करने के लिए अत्यंत प्रभावशाली माना जाता है। इस मंत्र का नियमित जाप करने से व्यक्ति को सौभाग्य, सुख, और समृद्धि मिलती है. 

2. शुक्र गायत्री मंत्र "ॐ अस्य शुक्राय विद्महे दक्षिणे दिग्व्ययं धीमहि, तन्नो शुक्र प्रचोदयात्": शुक्र गायत्री मंत्र का जाप करने से व्यक्ति को शुक्र ग्रह के प्रभाव से मुक्ति होती है और उसे सौभाग्य, समृद्धि, और प्रेम मिलता है. 

3. शुक्र बीज मंत्र "ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः": इस बीज मंत्र का जाप करने से व्यक्ति को शुक्र ग्रह के सकारात्मक प्रभाव में सुधार होता है और उसे आकर्षण और सौंदर्य में वृद्धि होती है. 

4. शुक्र ध्यान मंत्र "ह्रीं श्रीं क्लीं ऐं वज्रनखाय ह्रीं हं सः": शुक्र ध्यान मंत्र का जाप करने से व्यक्ति को आत्म-समर्पण, सौभाग्य, और सुंदरता में वृद्धि होती है. 

मंत्र जाप के लाभ:

आत्म-शुद्धि: मंत्र जाप से मन की शुद्धि होती है और व्यक्ति आत्मा के साथ जुड़कर सकारात्मकता में वृद्धि करता है.

चित्त शांति: शुक्र मंत्र का जाप करने से मन शांति और स्थिरता की दिशा में बदलता है, जिससे व्यक्ति अधिक सकारात्मक ऊर्जा महसूस करता है. 

सुख-शांति: शुक्र मंत्र के जाप से व्यक्ति को सुख और शांति मिलती है, जो उसके जीवन को संतुलित और प्रसन्न बनाए रखता है. 

ध्यान रखें कि मंत्र जाप को नियमितता से और श्रद्धापूर्वक करना चाहिए ताकि इसके पूरे प्रभाव को महसूस किया जा सके. 

निष्कर्ष

हमने इस आर्टिकल के माध्यम से शुक्र मंत्र (Shukra Mantra) के बारे में और उसके  लाभ के बारे में बताया है अगर आप अपनी कोई राय या सुझाव देना चाहते है तो जरूर दीजिए कॉमेंट बॉक्स में

Religion की ऐसी और खबरें पढ़ने के लिए आप visit करें newsnationtv.com/religion

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं. न्यूज नेशन इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)