News Nation Logo

पाकिस्‍तान के तेज गेंदबाज शोएब अख्‍तर हुए शिव के मुरीद, कटास राज मंदिर की सुना रहे कहानी

कटासराज पाकिस्तान के जिस साल्ट रेंज पहाड़ियों के पास है वहां का सेंधा नमक आज भी हिंदुओं के लिए पवित्र है

News Nation Bureau | Edited By : Drigraj Madheshia | Updated on: 24 Jul 2019, 03:56:23 PM

नई दिल्‍ली:  

डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump), इमरान खान (Imran Khan), कश्‍मीर मुद्दा (Kashmir Issue), भारत और पाकिस्तान (India-Pakistan) जैसे शब्‍द कुछ दिन से गूगल के टॉप ट्रेंड में हैं. इन सबके बीच पाकिस्तान के तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar)भी ट्रेंड करने लगे हैं. शोएब अख्तर ने इस्लामाबाद और लाहौर (Islamabad to Lahore) के बीच यात्रा की और पाकिस्तान में हिंदू मंदिर कटास राज और इसके पीछे की कहानी को बताई है और यूट्यूब पर इसे अपलोड किया. आइए जानें क्‍या है कटास राज मंदिर (Katas Raj Temple) का महत्‍व..

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में जगह है कलार कहार (Kallar Kahar) जहां भगवान शिव का मंदिर है. इस जगह का नाम है कटास राज मंदिर .कटासराज पाकिस्तान के जिस साल्ट रेंज पहाड़ियों के पास है वहां का सेंधा नमक आज भी हिंदुओं के लिए पवित्र है. छठी से आठवीं सदी के बीच कई राजाओं ने साल्ट रेंज में ढेर सारे मंदिर बनवाए जिसमें अम्बा मंदिर, नंदना किला, काफिरकोट मंदिर, कलार-कहार मंदिर, मलोट-बिलोट मंदिर के अवशेष अभी भी हैं.

इतिहासकारों एवं पुरात्तव विभाग के अनुसार, इस स्थान को शिव (Lord Shiv) नेत्र माना जाता है. कहते हैं जब मता पार्वती सती हुई तो भगवान शिव की आंखों से दो आंसू टपके थे. मान्‍यताओं के मुताबिक एक आंसू कटास पर टपका जहां अमृत बन गया. यह आज भी महान सरोवर अमृत कुंड तीर्थ स्थान कटासराज के रूप में है. बताया जाता है कि दूसरा आंसू राजस्थान के अजमेर में और पुष्‍कर में टपका था. कटास राज मंदिर का नाम संस्कृत शब्द कटाक्ष से निकला है जिसका अर्थ आंसू होता है. पौराणिक कथा के मुताबिक, पत्नी सती के आत्मदाह के बाद भगवान शिव खूब रोए थे, उनके रोने के बाद निकले आंसुओं से यह सरोवर बना.

यह भी पढ़ेंः भारत के दुश्‍मनों की कलाई पर बंधी घड़ी का समय भी बता देगा ISRO का ये सैटेलाइट

इसी कटास राज मंदिर के बारे में शोएब अख्तर वीडियो में कह रहे हैं- 'कलार कहार की एक कहानी है, यहां महाराजा शिव रहे हैं और उनकी लड़ाई रामचंद्र से हुई थी जिसमें उन्होंने जीत हासिल की थी. ये जगह हिंदुओं के लिए काफी खास है. शिव साहब की जो बेगम थी, उनकी मौत हो गई. जिसके बाद भगवान शिव बहुत उदास हुए और इतना रोए कि उनके रोने से एक झील बन गई.

इस झील को आंसू वाली झील कहा जाता है. हमारे हिंदू दोस्त यहां आते हैं और स्नान करते हैं और पाप दूर करते हैं. इस जगह शिव अपनी बेगम के लिए बहुत रोए थे.'साथ ही शोएब अख्तर ने कहा- 'मैं पाकिस्तान के बारे में आपको बता रहा हूं, ये देश कितना खूबसूरत है. आप एक बार यहां जरूर आइए. ये बहुत सुरक्षित है, आपको यहां आकर बहुत अच्छा लगेगा.



First Published : 24 Jul 2019, 03:56:23 PM

For all the Latest Religion News, Dharm News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.