logo-image
लोकसभा चुनाव

Om Shaped Temple: दुनिया का पहला ऊँ आकार मंदिर, जहां होंगे 12 ज्योतिर्लिंग के एक साथ दर्शन

Om Shaped Temple: राजस्थान में ऊँ के आकार का पहला शिव मंदिर बनकर तैयार हुआ है. इस अनोखे मंदिर की आधारशिला करीब 28 साल पहले रखी गई थी. आइए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं.

Updated on: 24 Feb 2024, 03:51 PM

नई दिल्ली :

Om Shaped Temple: दुनिया का पहला ॐ आकार का मंदिर राजस्थान स्थित पाली जिले में बनकर तैयार हो गया है. इस मंदिर की चर्चा चारों तरफ हो रही है. यह दुनिया का पहला ॐ आकार का मंदिर है और यह भगवान शिव को समर्पित है. हिंदू धर्म में 'ऊँ' की ध्वनि बेहद ऊर्जावान और पवित्र मानी गई है.  यूं तो देश में कई शिव मंदिर हैं, लेकिन यह अपने आकार की वजह से चर्चा में बना हुआ है.  इस अनोखे मंदिर की आधारशिला करीब 28 साल पहले रखी गई थी. आइए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं. 

यह मंदिर क्यों है खास? 

इसमें उनसे जुड़ी एक पौराणिक कथाओं के अनुसार, इस मंदिर में 12 ज्योतिर्लिंगों के दर्शन एक साथ किए जा सकते हैं. जोकि बेहद ही दुर्लभ और शुभ माना जा रहा है. इस मंदिर में भगवान महादेव की 1,008 मूर्तियां और 12 ज्योतिर्लिंग होंगे.  ॐ आकार को हिंदू धर्म में बहुत पवित्र माना जाता है. यह मंदिर न केवल धार्मिक महत्व रखता है, बल्कि स्थापत्य कला का भी एक उत्कृष्ट नमूना है.

मंदिर की विशेषताएं

ॐ आकार का यह मंदिर 270 एकड़ में फैला हुआ है और इस मंदिर की नींव साल 1995 में रखी गई थी. इसके ऊपरी भाग में धौलपुर की बंसी पहाड़ी से लाए गए स्फटिक पत्थर से बना हुआ एक मन्दिर बनाया गया है. इस मंदिर परिसर के नीचे 2 लाख टन का एक टैंक भी बनाया गया है. ओम आश्रम के संस्थापक विश्व गुरु महा मंडलेश्वर परमहंस स्वामी महेश्वर नंद पुरीजी महाराज हैं.  इस मंदिर का निर्माण 1995 में स्वामी महेश्वरानंद जी द्वारा शुरू किया गया था. इसका निर्माण 28 साल में पूरा हुआ. इस मंदिर के निर्माण में लाखों श्रद्धालुओं ने अपना योगदान दिया. 

मंदिर जाने की खास वजह

यदि आप धार्मिक व्यक्ति हैं, तो यह मंदिर आपके लिए जरूर जाना चाहिए. यदि आप स्थापत्य कला में रुचि रखते हैं, तो यह मंदिर आपको जरूर देखना चाहिए.  यदि आप शांत वातावरण में कुछ समय बिताना चाहते हैं, तो यह मंदिर आपके लिए एकदम सही जगह है. 

मंदिर तक कैसे पहुंचे? 

यह मंदिर राजस्थान के पाली जिले में स्थित है. यहां सड़क और रेल मार्ग से आसानी से पहुंचा जा सकता है. नजदीकी एयरपोर्ट - जोधपुर हवाई अड्डा (160 किमी). नजदीकी  रेलवे स्टेशन - फालना  रेलवे स्टेशन (30 किमी)

Religion की ऐसी और खबरें पढ़ने के लिए आप visit करें newsnationtv.com/religion

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं. न्यूज नेशन इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)