News Nation Logo

राम मंदिर के लिए मुसलमान भी दे सकते हैं दान, 13 करोड़ परिवारों से जुटाया जाएगा पैसा : आलोक कुमार

अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्‍य मंदिर निर्माण के लिए विश्‍व हिन्‍दू परिषद (विहिप) के कार्यकर्ता देश के पांच लाख से अधिक गांवों में जाएंगे. ये कार्यकर्ता 13 करोड़ परिवारों से राम मंदिर के लिए धन जुटाएंगे.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 31 Dec 2020, 06:23:03 AM
ayodhya ram mandir

राम मंदिर के लिए मुसलमान भी दे सकते हैं दान : आलोक कुमार (Photo Credit: File Photo)

नई दिल्ली:

अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्‍य मंदिर निर्माण के लिए विश्‍व हिन्‍दू परिषद (विहिप) के कार्यकर्ता देश के पांच लाख से अधिक गांवों में जाएंगे. ये कार्यकर्ता 13 करोड़ परिवारों से राम मंदिर के लिए धन जुटाएंगे. विश्‍व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा, अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए देश के छह लाख में से चार लाख गांवों में जाने की योजना थी, लेकिन कई बैठकों के बाद तय हुआ कि हम सवा पांच लाख गांवों तक जाएंगे और 11 की बजाय 13 करोड़ परिवारों से धन जुटाएंगे. उन्‍होंने यह भी कहा कि मुसलमान भी चाहें तो राम मंदिर निर्माण के लिए दान दे सकते हैं. 

आलोक कुमार ने कहा, मध्यप्रदेश में 50,000 गांव और सवा करोड़ परिवारों में साढ़े छह करोड़ लोगों तक पहुंचने का लक्ष्य रखा गया है. उन्‍होंने यह भी कहा कि यह निश्चित रूप से दुनिया का अब तक का सबसे बड़ा धन संग्रह अभियान होगा. उन्होंने कहा कि प्रभु श्रीराम के भव्‍य मंदिर निर्माण के लिए चलाए जा रहे इस अभियान में उन मुस्लिम धर्मावलंबियों का भी स्‍वागत है, जो श्रीराम को अवतार, महापुरुष और इमाम-ए-हिंद मानते हैं और अगर मुसलमान भाई भी राम जी के काज में दान देना चाहते हैं तो वे दे सकते हैं. 

आलोक कुमार ने कहा, श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र न्‍यास ने मध्यप्रदेश के लिए पूज्य संत अखिलेश्वरानंद जी महाराज जबलपुर की अध्यक्षता में श्रीराम मंदिर निर्माण निधि समिति का गठन किया है. उन्होंने कहा कि पूरे अभियान की देखरेख मध्‍य भारत प्रांत एवं अन्‍य प्रांत निधि समर्पण अभियान समितियों सहित संतों के मार्गदर्शक समिति करेगी. 

उन्‍होंने यह भी कहा कि हर 5 लोगों की एक संग्रह टोली बनाई गई है, जो एक जमाकर्ता को रिपोर्ट करेंगे. सभी संग्रह 48 घंटों के भीतर तीर्थक्षेत्र के बैंक खाते में जमा किए जाएंगे. हर जमाकर्ता के पास भारतीय स्टेट बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा और पंजाब नेशनल बैंक के तीन बैंकों में से एक का निकटतम शाखा में एक पंजीकृत कोड नंबर होगा. 

कुमार ने कहा कि उम्मीद है कि 2024 तक श्री राम लला की भव्‍य मूर्ति मुख्य मंदिर के गर्भगृह में स्थापित हो जाएगी और भक्तों को भगवान के इस भव्य मंदिर में दर्शन करने के लिए आमंत्रित किया जा सकेगा. उन्होंने कहा कि पूरा मंदिर पत्थरों के ब्लॉक का होगा.

First Published : 30 Dec 2020, 11:46:35 PM

For all the Latest Religion News, Dharm News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.