logo-image
लोकसभा चुनाव

Maa Laxmi Upay: देवी लक्ष्मी की चैत्र पूर्णिमा की रात करें ये उपाय, पाएं धन-वैभव और समृद्धि

Maa Laxmi Upay: चैत्र पूर्णिमा, जिसे हनुमान जयंती के नाम से भी जाना जाता है, हिंदू धर्म में एक महत्वपूर्ण त्योहार है. यह भगवान हनुमान के जन्मदिन और देवी लक्ष्मी की पूजा का अवसर है. ऐसा माना जाता है कि इस दिन माता लक्ष्मी की पूजा करने से धन, वैभव और समृद्धि प्राप्त होती है.

Updated on: 23 Apr 2024, 01:13 PM

नई दिल्ली :

Maa Laxmi Upay: चैत्र पूर्णिमा को देवी लक्ष्मी की पूजा का विशेष महत्व है. इस दिन लोग लक्ष्मी माता की आराधना करते हैं और उन्हें अपने घर में आमंत्रित करते हैं. लक्ष्मी माता को धन, समृद्धि, सौभाग्य, और सम्पत्ति की देवी माना जाता है, इसलिए इस दिन उनकी पूजा करने से लोग आर्थिक और आध्यात्मिक लाभ प्राप्त करते हैं. इसके अलावा, इस दिन किसी भी काम की शुरुआत करने का विशेष महत्व होता है, चाहे वह कोई व्यापार हो या किसी नए परियोजना की शुरुआत. लोग इस दिन लक्ष्मी माता की कृपा और आशीर्वाद को प्राप्त करने के लिए विशेष उपाय करते हैं, जैसे कि उनकी मूर्ति का सम्मान करना, उन्हें धूप, दीप, सुगंध, फल, फूल आदि से अर्चना करना. इस पूजा के माध्यम से लोग अपने जीवन में सुख, समृद्धि, और सम्पत्ति को बढ़ाने का प्रयास करते हैं और लक्ष्मी माता की कृपा की कामना करते हैं.

चैत्र पूर्णिमा, हिंदू धर्म में सबसे महत्वपूर्ण पूर्णिमाओं में से एक है. यह भगवान हनुमान का जन्मदिन भी माना जाता है, जो भगवान राम के परम भक्त और महावीर योद्धा थे. यह दिन देवी लक्ष्मी की आराधना के लिए भी महत्वपूर्ण माना जाता है. ऐसा माना जाता है कि इस दिन देवी लक्ष्मी पृथ्वी पर विचरण करती हैं और भक्तों की मनोकामनाएं पूरी करती हैं. ये उपाय चैत्र पूर्णिमा की रात में देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए किए जाते हैं जिससे धन-वैभव और समृद्धि प्राप्त होती है. 

श्री यंत्र पूजन: एक श्री यंत्र लें और उसे गंगाजल से धो लें. श्री यंत्र को लाल कपड़े पर रखें और उस पर दीपक जलाएं. धूप जलाएं और देवी लक्ष्मी का मंत्र जाप करें. पूजा के बाद, श्री यंत्र को अपने घर या पूजा स्थान पर स्थापित करें. 

लक्ष्मी स्तोत्र का पाठ: चैत्र पूर्णिमा की रात में लक्ष्मी स्तोत्र का 108 बार पाठ करें. पाठ करते समय घी का दीपक जलाएं. पूरा विश्वास और सकारात्मक सोच के साथ पाठ करें. 

गोमती चक्र पूजन: दो गोमती चक्र लें और उन्हें गंगाजल से धो लें. गोमती चक्र को लाल कपड़े पर रखें और उन पर दीपक जलाएं. धूप जलाएं और देवी लक्ष्मी का मंत्र जाप करें. पूजा के बाद, एक गोमती चक्र को अपने पर्स में रखें और दूसरे को अपने घर या पूजा स्थान पर स्थापित करें.

दान-पुण्य: चैत्र पूर्णिमा के दिन दान-पुण्य करना बहुत शुभ माना जाता है. आप गरीबों, जरूरतमंदों या धार्मिक संस्थाओं को दान कर सकते हैं. दान करते समय अपने मन में सकारात्मक विचार रखें. 

इन उपायों को करने से देवी लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और आपको धन-वैभव और समृद्धि प्राप्त होती है.  इसके साथ ही आपको कड़ी मेहनत भी करनी होगी और ईश्वर पर विश्वास रखना होगा. 

Religion की ऐसी और खबरें पढ़ने के लिए आप न्यूज़ नेशन के धर्म-कर्म सेक्शन के साथ ऐसे ही जुड़े रहिए.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं. न्यूज नेशन इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)

ये भी पढ़ें: Hanuman Jayanti Upay 2024: चैत्र पूर्णिमा के दिन मनाते हैं हनुमान जयंती, आज रात ये उपाय बनाएंगे मालामाल!