News Nation Logo
भारत हमेशा से एक शांतिप्रिय देश रहा है और आज भी है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह हमारा देश किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह किसी भी विवाद को अपनी तरफ़ से शुरू करना हमारे मूल्यों के ख़िलाफ़ है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की 108 करोड़ डोज़ उपलब्ध कराई गईं: स्वास्थ्य मंत्रालय कर्नाटकः कोडागू जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय में 32 बच्चे कोरोना पॉजिटिव महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वासले हुए कोरोना पॉजिटिव कोरोना अपडेटः पिछले 24 घंटे में देश में 16,156 केस आए, 733 मरीजों की मौत हुई जम्मू-कश्मीरः डोडा में खाई में गिरी मिनी बस, 8 लोगों की मौत आर्य़न खान ड्रग्स केस में गवाह किरण गोसावी पुणे से गिरफ्तार पेट्रोल और डीजल के दामों में 35 पैसे की बढ़ोतरी कैप्टन अमरिंदर सिंह आज फिर मुलाकात करेंगे गृह मंत्री अमित शाह से क्रूज ड्रग्स मामले में आर्यन खान की जमानत पर आज फिर दोपहर में सुनवाई पीएम नरेंद्र मोदी आज आसियान-भारत शिखर वार्ता को करेंगे संबोधित दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पंजाब के दो दिवसीय दौरे पर आज जाएंगे

जानिए दीवाली में इस खास दिन क्यों जलाते हैं दीपक, कहां और कैसे जलाएं दीपक

दीपावली में दीपकों का जगमग करना सकारात्मक ऊर्जा का संचार करता है. यह खास दिन अधर्म पर धर्म की विजय का पर्व, असत्य पर सत्य की शाश्वत जीत का पर्व है.

News Nation Bureau | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 18 Sep 2021, 01:38:03 PM
deepawali deepak

Deep (Photo Credit: File Photo)

highlights

  • दीपक के महत्व में प्राचीन ग्रंथों में वर्णन किया गया है
  • दीपावली में पांच दिन तक दीपक जलाने का विधान
  • इस खास दिन पर घी का एक दीपक आंगन में जरूर जलाएं

 

नई दिल्ली:

दीपावली में दीपकों का जगमग करना सकारात्मक ऊर्जा का संचार करता है. यह खास दिन अधर्म पर धर्म की विजय का पर्व, असत्य पर सत्य की शाश्वत जीत का पर्व है. दीपक जलाने के महत्व को धर्मग्रंथों में बतलाया गया है. हम यहां आपको बताते हैं कि इस खास दिन पर हम सभी घर के हर कोने में क्यों दीपक जलाते हैं. दीपक के महत्व में हिंदू धर्म के प्राचीन ग्रंथों में वर्णन किया गया है. ऋग्वेद के अनुसार, दीपक में देवताओं का तेज रहता है, इसलिए किसी शुभ आयोजन पर सकारात्मक ऊर्जा संचार के लिए घी अथवा तेल के दीपक जलाने का विधान है. त्रेतायुग में भगवान श्रीराम के अयोध्या लौटने और द्वापरयुग में भगवान श्रीकृष्ण द्वारा नरकासुर का वध करने पर लोगों ने खुशियों के दीपक जलाए थे और दीपावली मनाई थी. आज भी दीपावली में पांच दिन तक दीपक जलाने का विधान है.

यह भी पढ़ें : दशहरा से दीपावली तक रहेगी राम नाम की धूम, PM मोदी भी जा सकते हैं अयोध्या

दीपक जलाने से लोगों को यश मिलती है

दीपक जलाने से लोगों को यश एवं प्रसिद्धि मिलती है.वास्तु नियमों के अनुसार अखंड दीपक पूजा स्थल के आग्नेय कोण में रखा जाना चाहिए. इस दिशा में दीपक रखने से शत्रुओं पर विजय प्राप्त होती है तथा घर में सुख-समृद्धि का निवास होता है. कैसे और कहां जलाएं दीपक दीपों के इस पर्व पर हम सभी अपने घर-प्रतिष्ठान पर मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए दीप प्रज्वलित कर अंधेरे को मिटाते हैं, परंतु कई लोगों को यह जानकारी ही नहीं होती कि किन स्थानों पर दीपक प्रज्वलित करने से क्या लाभ होते हैं.

मुख्य द्वार पर सरसों के तेल के दीपक जलाएं

आइए हम आपको बताते हैं कि किस स्थान पर किस प्रकार दीपक जलाने चाहिए. दीपावली की संध्या पर लक्ष्मीपूजन से पहले मुख्य द्वार पर सरसों के तेल के दीपक जलाएं. अगर घर में आंगन है तो घी का एक दीपक आंगन में जलाएं और अगर आंगन नहीं है तो ड्राइंग रूम या घर के बीचोबीच घी का दीपक जलाएं. गाय के घी का दीपक जलाने से आसपास का वातावरण रोगाणु मुक्त होकर शुद्ध हो जाता है. पूजा अर्चना करते वक्त दीपक जलाने के पीछे भी यही उद्देश्य होता है कि प्रभु हमारे मन से अज्ञान रुपी अन्धकार को दूर करके ज्ञान रुपी प्रकाश प्रदान करें. 

First Published : 18 Sep 2021, 01:38:03 PM

For all the Latest Religion News, Dharm News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो