News Nation Logo
NDPS कोर्ट में पेश हुए समीर वानखेड़े रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज साउथ ब्लॉक में रक्षा मंत्रालय के कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया आयुष्मान भारत योजना ने 2 करोड़ से अधिक गरीबों का अस्पताल में मुफ़्त इलाज करवाया: पीएम मोदी फारुख साहब ने भारत सरकार को पाकिस्तान से बात करने की सलाह दी: गृहमंत्री अमित शाह मैं घाटी के युवाओं से बात करना चाहता हूं: गृहमंत्री अमित शाह मैंने घाटी के युवाओं के सामने दोस्ती का हाथ बढ़ाया है: गृहमंत्री अमित शाह सवाल उठाए गए थे कि धारा 370 हटने के बाद घाटी के लोगों की ज़मीन छीन ली जाएगी: गृहमंत्री अमित शाह ये लोग विकास को बांध कर रखना चाहते हैं, अपनी सत्ता को बचाकर रखना चाहते हैं: गृहमंत्री अमित शाह 70 साल से जो भ्रष्टाचार किया है उसको चालू रखना चाहते हैं: गृहमंत्री अमित शाह हमारी फिल्मों को जापान, मिस्र, चीन, रूस, मध्य पूर्व आदि में देखा और सराहा जाता है: उपराष्ट्रपति भारत में दुनिया की सबसे ज़्यादा फिल्में बनती हैं: उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू पीएम मोदी ने किया प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना का शुभारंभ सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीएम नरेंद्र मोदी का वाराणसी में स्वागत किया पीएम मोदी ने वाराणसी को दी 5200 करोड़ की विकास परियोजनाएं रजनीकांत को दिल्ली में 67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में दादा साहब फाल्के पुरस्कार मिला आर्यन खान से ड्रग्स चैट को लेकर एनसीबी आज फिर करेगी अनन्या पांडे से पूछताछ गौत्तमबुद्धनगर में डेंगू का प्रकोप जारी. पिछले 24 घंटों में 20 नए मरीज आए सामने सीएम केजरीवाल पहुंचे लखनऊ, शाम को सरयू आरती में होंगे शामिल पूर्व मंत्री रामअचल राजभर और लालजी वर्मा आज सपा में हो सकते हैं शामिल ड्रग्स केस: आर्यन खान से मिलने आर्थर रोड जेल पहुंचीं गौरी खान

Kanya Sankranti 2021: जानें कब है कन्या संक्रांति और क्या है इसकी अहमियत

12 संक्रांति में एक कन्या संक्रांति पड़ती है. कन्या संक्रांति इसी महीने की 16 और 17 तारीख को मनाई जाएगी.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 07 Sep 2021, 07:59:08 AM
kanya sankarnti

Kanya Sankranti 2021 (Photo Credit: सांकेतिक तस्वीर )

नई दिल्ली :

हिंदू धर्म में मकर संक्रांति के अलावा साल में 11 अन्य संक्रांति पड़ती है. हिंदू धर्म में संक्रांति का बड़ा महत्व होता है. 12 संक्रांति में एक कन्या संक्रांति पड़ती है. कन्या संक्रांति इसी महीने की 16 और 17 तारीख को मनाई जाएगी. कन्या संक्रांति में गरीबों को दान दिया जाता है. इसके साथ ही पितरों की आत्मा की शांति के लिए पूजा अर्चना कराई जाती है. कन्या संक्रांति के दिन नदी या जलाशयों में स्नान करने की अहमियत होती है. नदी या जलाशयों में स्नान करके भगवान सूर्य की पूजा की जाती है.  पितरों को याद करने के बाद दान करना अति जरूरी माना जाता है.

संक्रांति क्या होता

जब सूर्य एक राशि से हटकर अन्य राशि में प्रवेश करता है तो इस घटनाक्रम को संक्रांति कहते हैं.  ज्योतिषशास्त्र के मुताबिक कुंडली में सूर्य द्वारा जगह बदलने का असर भी साफ दिखाई देता है. यही वजह है कि हर संक्रांति का अपना महत्व होता है. जब सूर्य अपनी स्थिति बदलकर कन्या राशि में प्रवेश करता है तो वह संक्रांति कन्या संक्रांति कहलाती है. 16 और 17 सितंबर को इस बार लोग कन्या संक्रांति मना रहे हैं. इस दिन विश्वकर्मा पूजा भी की जाती है. मान्यताओं के अनुसार, इस दिन भगवान विश्वकर्मा का जन्म हुआ था. 

कन्या संक्रांति की अहमियत

सभी संक्रांतियों में लोग स्नान आदि करके दान करते हैं. कन्या संक्रांति में भी दान का महत्व है. लोगों गरीबों को दान देते हैं. पितरों की आत्मा की शांति के लिए पूजा पाठ कराया जाता है.

भगवान विश्वकर्मा ने रचा था ब्रह्मांड 

कन्या संक्रांति पर विश्वकर्मा पूजन भी किया जाता है जिस वजह से इस तिथि का महत्व अत्यधिक बढ़ जाता है. उड़ीसा और बंगाल जैसे क्षेत्रों में इस दिन पूरे विधि-विधान से पूजा की जाती है. मान्यताओं के अनुसार, भगवान विश्वकर्मा ने इस ब्रह्मांड को रचा था. उन्होंने देवों के महल और शास्त्रों का भी निर्माण किया था। कहा जाता है यह दुनिया विश्वकर्मा के हाथों रचा गया है.

First Published : 07 Sep 2021, 07:56:41 AM

For all the Latest Religion News, Dharm News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.