logo-image
लोकसभा चुनाव

Hanuman Jayanti 2024: हनुमान जयंती पर गलती से भी न करें ये काम, बजरंगबली हो जाएंगे नाराज

Hanuman Jayanti 2024: हनुमान जयंती मनाने का सबसे अच्छा तरीका है भगवान हनुमान की भक्ति, सत्यवादिता, दया और सेवाभाव का पालन करना. इस दिन क्या नहीं करना चाहिए आइए जानें.

Updated on: 23 Apr 2024, 12:13 PM

नई दिल्ली :

Hanuman Jayanti 2024: हनुमान जयंती भगवान हनुमान का जन्मोत्सव है, जिन्हें भगवान राम के परम भक्त और महावीर योद्धा के रूप में जाना जाता है.  यह त्यौहार पूरे भारत में बड़े उत्साह और भक्ति के साथ मनाया जाता है. हनुमान जयंती के दिन कुछ बातों का ध्यान रखना ज़रूरी है,  जिनसे भगवान हनुमान नाराज हो सकते हैं. हनुमान जयंती भगवान हनुमान के जन्म का स्मरण करने के लिए मनाई जाती है.  हनुमान जी को भगवान राम का परम भक्त माना जाता है.  उन्होंने भगवान राम की सेवा में अपना जीवन समर्पित कर दिया था.  हनुमान जी अपनी अद्भुत शक्ति, बुद्धि, भक्ति और साहस के लिए जाने जाते हैं. लोग सुबह जल्दी उठकर स्नान करते हैं और  भगवान हनुमान की पूजा करते हैं.  वे  हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं, आरती करते हैं और भगवान हनुमान को सिंदूर, चोला, फल और फूल अर्पित करते हैं. इस दिन कई मंदिरों में विशेष पूजा और आयोजन होते हैं.  शोभायात्राएं निकाली जाती हैं और भगवान हनुमान की झांकी सजाई जाती है.  लोग रामलीला और हनुमान नाटक भी देखते हैं. लेकिन इस दिन आपको इन गलतियों से बचना चाहिए ये भी जान लें. 

1. मांस, मदिरा और सेवन: हनुमान जी को ब्रह्मचर्य का प्रतीक माना जाता है.  इसलिए, हनुमान जयंती पर मांस, मदिरा और सेक्स का सेवन नहीं करना चाहिए.  यह इन चीजों से दूर रहकर ही हम हनुमान जी की भक्ति  पूरी तरह से कर सकते हैं.

2. अपवित्रता: हनुमान जयंती के दिन स्नान किए बिना या अपवित्र वस्त्र पहनकर पूजा नहीं करनी चाहिए.  पूजा करने से पहले स्नान कर स्वच्छ वस्त्र धारण करें.  पूजा स्थल को भी साफ-सुथरा रखें.

3. झूठ बोलना और गलत व्यवहार: हनुमान जी सत्यवादिता और नीतिनिष्ठा के प्रतीक हैं.  इसलिए, हनुमान जयंती के दिन झूठ नहीं बोलना चाहिए और किसी के साथ भी गलत व्यवहार नहीं करना चाहिए.

4. क्रोध और नकारात्मक विचार: हनुमान जी शांत और संयमी थे.  इसलिए, हनुमान जयंती के दिन क्रोध और नकारात्मक विचारों से बचना चाहिए.  मन को शांत रखें और सकारात्मक सोच रखें.

5. भगवान हनुमान का अपमान: हनुमान जी को भगवान राम का परम भक्त माना जाता है.  इसलिए, हनुमान जयंती के दिन भगवान हनुमान या भगवान राम का अपमान नहीं करना चाहिए.  उनकी पूजा करें और उनका सम्मान करें.

इन बातों का ध्यान रखकर आप हनुमान जयंती को और भी अधिक  विशेष और फलदायी बना सकते हैं. हनुमान जयंती के दिन मांस, मदिरा और सेक्स से बचना चाहिए. स्नान किए बिना या अपवित्र वस्त्र पहनकर पूजा नहीं करनी चाहिए. झूठ नहीं बोलना चाहिए और किसी के साथ भी गलत व्यवहार नहीं करना चाहिए. क्रोध और नकारात्मक विचारों से बचना चाहिए. भगवान हनुमान या भगवान राम का अपमान नहीं करना चाहिए. 

Religion की ऐसी और खबरें पढ़ने के लिए आप न्यूज़ नेशन के धर्म-कर्म सेक्शन के साथ ऐसे ही जुड़े रहिए.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं. न्यूज नेशन इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)

ये भी पढ़ें:Abrahamic Religion: दुनिया का सबसे नया धर्म अब्राहमी, जानें इसकी विशेषताएं और विवाद