logo-image
लोकसभा चुनाव

Ganga Dussehra 2024 Date: गंगा दशहरा पर बनेगा 3 शुभ योग, इस मुहूर्त में करें स्नान-दान, जानें महत्व

Ganga Dussehra 2024 Date: हिंदू धर्म में गंगा दशहरा का बेहद महत्व होता है. इस दिन मां गंगा की पूजा की जाती है. आइए जानते हैं गंगा दशहरा कब मनाया जाएगा. साथ ही जानिए इस दिन बनने वाले शुभ योग और स्नान-दान के शुभ मुहूर्त के बारे में.

Updated on: 16 Jun 2024, 10:49 AM

नई दिल्ली :

Ganga Dussehra 2024 Date:  हिंदू धर्म में गंगा दशहरा का बेहद महत्व होता है. इस दिन मां गंगा की पूजा की जाती है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, मां गंगा पृथ्वी पर अवतरित हुई थीं और तभी से इस दिन गंगा दशहरा के रूप में मनाया जाता है. मान्यता है कि गंगा दशहरा के दिन स्नान-दान करने से जातक के पापों का नाश होता है और जीवन सुखमय होता है. ऐसे में आइए जानते हैं इस साल गंगा दशहरा कब मनाया जाएगा. साथ ही जानिए इस दिन बनने वाले शुभ योग और  स्नान-दान के शुभ मुहूर्त के बारे में. 

गंगा दशहरा 2024 कब है? (Kab Hai Ganga Dussehra 2024 Date)

हिंदू पंचांग के अनुसार, ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि की शुरुआत 16 जून दिन रविवार को सुबह 2 बजकर 32 मिनट से और इस तिथि का समापन 17 जून सोमवार को सुबह 4 बजकर 43 मिनट पर होगा. ऐसे में उदयातिथि के अनुसार, इस बार गंगा दशहरा का पर्व 16 जून 2024 को मनाया जाएगा. 

गंगा दशहरा 2024 पर बनेगा ये 3 शुभ संयोग  (Ganga Dussehra 2024 Shubh Yog)

ज्योतिषियों की मानें तो इस बार गंगा दशहरा 2024 पर 3 शुभ योगों का निर्माण होगा. ज्योतिष के अनुसार, इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग, अमृत सिद्धि योग और रवि योग का निर्माण होने जा रहा है. ये तीनों ही योग बेहद फलदायी माने गए हैं.

गंगा दशहरा 2024 स्नान-दान शुभ मुहूर्त (Ganga Dussehra 2024 Snan Daan Shubh Muhurat)

ज्योतिषियों को अनुसार, 16 जून को ब्रह्म मुहूर्त यानी सुबह 04 बजकर 03 मिनट से लेकर सुबह 04 बजकर 43 मिनट के बीच आप गंगा स्नान कर सकते हैं. इस दिन दूसरा शुभ मुहूर्त सुबह 05 बजकर 23 मिनट से लेकर सुबह 11 बजकर 13 मिनट तक है. 

गंगा दशहरा 2024 महत्व (Ganga Dussehra 2024 Importance)

गंगा दशहरा के दिन स्नान-दान का बेहद महत्व होता है. इस दिन गंगा स्नान करने के बाद मां गंगा की पूजा जरूर करें. उसके बाद अपनी क्षमता के अनुसार जरूरतमंदों या फिर गरीब ब्राह्मण को अन्न, वस्त्र, जल आदि का दान करें. बता दें कि जल का दान करने से महापुण्य की प्राप्ति होती है. मान्यता है कि गंगा दशहरा पर स्नान-दान करने से पापों का नाश होता है और जीवन में खुशहाली आती है. 

Religion की ऐसी और खबरें पढ़ने के लिए आप न्यूज़ नेशन के धर्म-कर्म सेक्शन के साथ ऐसे ही जुड़े रहिए.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं. न्यूज नेशन इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)