logo-image
लोकसभा चुनाव

Chaitra Navratri Day 5: नवरात्रि के पांचवे दिन करें ये उपाय, विवाह में आ रही बाधा झट से हो जाएगी दूर

Chaitra Navratri Day 5: नवरात्रि के पांचवें दिन, माँ स्कंदमाता की पूजा से शुभ विवाह के योग बनते हैं और विवाह में आ रही बाधाओं को दूर करने में सहायक होता है. इस दिन किए गए उपायों से आपकी शादी में समृद्धि और सुख-शांति की प्राप्ति होती है.

Updated on: 13 Apr 2024, 10:49 AM

नई दिल्ली:

Chaitra Navratri Day 5: विवाह में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए नवरात्रि का पांचवां दिन बहुत ही शुभ माना जाता है. इस दिन माँ स्कंदमाता की पूजा करने से शीघ्र विवाह के योग बनते हैं. मां दुर्गा के स्कंदमाता स्वरूप का बहुत महत्व है. स्कंदमाता मां दुर्गा के पांचवें रूप में पूजा जाता है. वह मां दुर्गा की विवाह, संतान, और सुख-शांति की देवी हैं. मां स्कंदमाता से संबंधित अनेक पौराणिक कथाएं हैं, जो मां के प्रशंसकों को उनकी शक्ति, सुख, समृद्धि और संतान की प्राप्ति में सहायक होती हैं. मां स्कंदमाता की पूजा से मनुष्य को विवाह, संतान, समृद्धि, और सुख-शांति की प्राप्ति होती है. इसीलिए इस स्वरूप की महत्वपूर्णता बहुत उच्च है. अगर आपके विवाह में कोई बाधा आ रही है तो आप आज स्कंदमाता की ये अचूक उपाय करें, शादी नहीं हो रही तो जल्द संयोग बन जाएंगे, शादी हो चुकी है और परेशान हैं तो सारी परेशानियां दूर हो जाएंगी. 

आज नवरात्रि के पांचवें दिन जरूर करें ये उपाय

ऐसे पूजा करें 

सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और स्वच्छ वस्त्र पहनें. एक चौकी या वेदी स्थापित करें और उस पर माँ स्कंदमाता की प्रतिमा या तस्वीर रखें. चौकी को लाल या पीले रंग के कपड़े से ढकें. माँ स्कंदमाता को दीप, नैवेद्य, धूप, फूल, फल, मिठाई आदि अर्पित करें. माँ स्कंदमाता की आरती गाएं और उनसे शीघ्र विवाह की कामना करें. "ॐ क्लीं स्कंदमातयै नमः" मन्त्र का 108 बार जाप करें. कन्याओं को भोजन खिलाएं और उन्हें दान-दक्षिणा दें.

इस दिन पीले या लाल रंग के वस्त्र पहनें. अपने माथे पर सिंदूर और रोली लगाएं. बालों में गजरा लगाएं. माँ दुर्गा के मंदिर में जाकर दर्शन करें. लाल रंग का सिंदूर माँ दुर्गा को अर्पित करें और अपने माथे पर लगाएं. ब्रह्मचर्य का पालन करें. नकारात्मक विचारों से दूर रहें और सकारात्मक सोच रखें. नियमित रूप से "ॐ जय जगदीश हरे" मन्त्र का जाप करें. 

विशेष उपाय

एक पान का बीज लें और उसे लाल कपड़े में लपेटकर मां स्कंदमाता के चरणों में रखें. नौ दिनों तक रोजाना इसकी पूजा करें. दसवें दिन पान के बीज को बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें. माना जाता है कि यह उपाय विवाह में आ रही बाधाओं को दूर करता है और शीघ्र विवाह के योग बनाता है.

अगर आप किसी विशेष व्यक्ति से विवाह करना चाहते हैं, तो आप उनकी तस्वीर के साथ मां स्कंदमाता की पूजा कर सकते हैं. आप अपनी शादी की इच्छा को लिखकर एक पत्र भी माँ स्कंदमाता को अर्पित कर सकते हैं.

इन उपायों को श्रद्धा और विश्वास के साथ करें. नियमित रूप से पूजा करें और धैर्य रखें. माँ दुर्गा की कृपा से आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी होंगी. नवरात्रि के पांचवें दिन किए गए इन उपायों के अलावा, आप अपने विवाह में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए कुछ अन्य उपाय भी कर सकते हैं. किसी ज्योतिषी या विद्वान से सलाह ले सकते हैं. शक्तिपीठ या मंदिर में जाकर दर्शन कर सकते हैं. सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आप सकारात्मक बने रहें और हार न मानें. 

यह भी पढ़ें: Chaitra Navratri 2024: चैत्र नवरात्रि 2024 के पांचवे दिन स्कंदमाता की पूजा का शुभ मुहूर्त और सही विधि

Religion की ऐसी और खबरें पढ़ने के लिए आप न्यूज़ नेशन के धर्म-कर्म सेक्शन के साथ ऐसे ही जुड़े रहिए.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं. न्यूज नेशन इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)