News Nation Logo
पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में देश में चक्रवात से संबंधित स्थिति पर हुई समीक्षा बैठक प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों का एयरपोर्ट पर RT-PCR टेस्ट किया जा रहा है: सत्येंद्र जैन दिल्ली में पिछले कुछ महीनों से कोविड मामले और पॉजिटिविटी रेट काफी कम है: सत्येंद्र जैन आंदोलनकारी किसानों की मौत और बढ़ती महंगाई के मुद्दे पर विपक्षी सांसदों ने राज्यसभा में नारेबाजी की गृहमंत्री अमित शाह आज यूपी दौरे पर रहेंगे दिल्ली में आज भी प्रदूषण का स्तर काफी खराब, AQI 342 पर पहुंचा बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने बैठकर गाया राष्ट्रगान, मुंबई BJP के एक नेता ने दर्ज कराई FIR यूपी सरकार ने भी ओमीक्रॉन को लेकर कसी कमर, बस स्टेशन- रेलवे स्टेशन पर होगी RT-PCR जांच

Bhaum pradosh vrat: भौम प्रदोष व्रत से दूर होते हैं सभी संकट, जाने क्या है पूजा विधि

भौम प्रदोष व्रत में भगवान शिव के साथ हनुमान की पूर्जा-अर्चना होती है। ऐसा कहा जाता है कि इस दिन प्रदोष व्रत कथा पढ़ने या सुनने वालों के सारे संकट खत्म हो जाते हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Saxena | Updated on: 16 Nov 2021, 10:35:20 AM
Bhaum pradosh vrat

भौम प्रदोष व्रत (Photo Credit: file photo)

नई दिल्ली:

आज कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की त्रयोदिशी तिथि है, इस दिन प्रदोष व्रत रखा जाता है.   हर प्रदोष व्रत के दिन पूरे विधि वि​धान से भगवान भोलेनाथ की पूजा—अर्चना होती है. ये प्रदोष मंगलवार के दिन पड़ता है, उसे भौम प्रदोष व्रत के नाम से पुकारा जाता है. भौम प्रदोष व्रत में भगवान शिव के साथ हनुमान भी भी आराधना की जाती है. ऐसी मान्यता है कि इस दिन प्रदोष व्रत कथा पढ़ने या सुनने वालों के सारे संकट दूर हो जाते हैं. प्रदोष व्रत रखने वाले भक्तों को सुबह जल्द उठकर स्नान करना होता है और साफ-सुथरे वस्त्र पहनने होते हैं. 

प्रदोष व्रत की पूजा विधि

घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित कर शंकर भगवान का गंगा जल से अभिषेक करा जाता है। इसके साथ पुष्प अर्पित किए जाते हैं. भौम प्रदोष वाले दिन भोलेनाथ के साथ माता पार्वती और भगवान गणेश की पूजा-अर्चना की जाती है. भोग लगाने के साथ भोलेनाथ की  आरती करें और पूरे दिन उनका मनन करें.

ये भी पढ़े: जानिए कब लगेगा इस साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, किन राशियों पर पड़ेगा असर

भौम प्रदोष व्रत का महत्व

मंगलवार के दिन हनुमान जी की उपासना की जाती है. जिस व्यक्ति की कुंडली में मंगल का दोष हो उसे भौम प्रदोष का व्रत रखना जरूरी है. मान्यता के अनुसार भौम प्रदोष व्रत के दिन भगवान हनुमान की आराधना से हर तरह के कर्ज से मुक्ति मिलती है. इस व्रत को रखने से हर तरह की मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं. इस दिन व्रत और पूजा-पाठ से हर कष्ट मिट जाते हैं और भगवान शिव-हनुमान की विशेष कृपा होती है.  

First Published : 16 Nov 2021, 10:35:20 AM

For all the Latest Religion News, Dharm News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो