logo-image
लोकसभा चुनाव

Aaj Ka Panchang 14 May 2024: क्या है 14 मई 2024 का पंचांग, जानें शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहु काल का समय

Aaj Ka Panchang 14 May 2024: हिंदू पंचांग एक पारंपरिक भारतीय कैलेंडर है जो धर्मिक और सामाजिक आयोजनों, धार्मिक त्योहारों, उपवास, मुहूर्त, और अन्य महत्वपूर्ण दिनों की जानकारी प्रदान करता है.

Updated on: 14 May 2024, 11:52 AM

New Delhi :

Aaj Ka Panchang 14 May 2024: आज का पंचांग - 14 मई 2024 मंगलवार वैशाख शुक्ल पक्ष सप्तमी तिथि है. हिन्दू पंचांग के अनुसार आज पुष्य नक्षत्र है. पुष्य नक्षत्र एक प्रमुख हिंदी वेदिक ज्योतिष नक्षत्र है जो कि कर्क राशि के भीतर स्थित है. यह नक्षत्र कई प्रमुख गुणों के साथ जुड़ा होता है, जैसे कि आदर्शता, साहस, उत्साह, और कर्तव्यनिष्ठता. पुष्य नक्षत्र के लोगों को बुद्धिमत्ता और कठिन परिश्रम के साथ विशेष प्रतिबद्धता के लिए जाना जाता है. वे आदर्शवादी, परिश्रमी, और आत्मनिर्भर होते हैं. हिंदू पंचांग क पारंपरिक भारतीय कैलेंडर है जिसमें धार्मिक और सामाजिक आयोजनों, धार्मिक त्योहारों, उपवास, मुहूर्त, और अन्य महत्वपूर्ण दिनों की जानकारी होती है. पंचांग में शुभ मुहूर्तों की जानकारी भी उपलब्ध होती है, जो विवाह, गृह प्रवेश, मुंडन जैसे कार्यों के लिए महत्वपूर्ण होती हैं. तो आज का पंचांग क्या है, राहु काल के समय से लेकर अभिजीत मुहूर्त, नक्षत्र और तिथि सब जान लें. वैसे आपको ये भी बता दें कि आज गंगा सप्तमी भी है.

आज का पंचांग

तिथि- सप्तमी - 28:21:20 तक

नक्षत्र- पुष्य - 13:05:42 तक

करण- गर - 15:31:56 तक, वणिज - 28:21:20 तक

पक्ष- शुक्ल

योग- गण्ड - 07:24:33 तक

वार- मंगलवार

शुभ समय (शुभ मुहूर्त)

अभिजीत- 11:50:27 से 12:44:43 तक

दिशा शूल- उत्तर

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)

दुष्टमुहूर्त- 08:13:25 से 09:07:40 तक

कुलिक- 13:38:58 से 14:33:14 तक

कंटक- 06:24:53 से 07:19:09 तक

राहु काल- 15:41:04 से 17:22:48 तक

कालवेला / अर्द्धयाम- 08:13:25 से 09:07:40 तक

यमघण्ट- 10:01:56 से 10:56:11 तक

यमगण्ड- 08:54:06 से 10:35:51 तक

गुलिक काल- 12:17:35 से 13:59:19 तक

सूर्य व चन्द्र से संबंधित गणनाएं

सूर्योदय- 05:30:37

सूर्यास्त- 19:04:33

चन्द्र राशि- कर्क

चन्द्रोदय- 10:54:00

चन्द्रास्त- 24:56:59

ऋतु- ग्रीष्म

हिंदू पंचांग का उपयोग धार्मिक और सामाजिक कार्यों के लिए मुहूर्तों का चयन, उत्सवों के तारीखों का निर्धारण, शुभ कार्यों के लिए समय निर्धारण, ग्रहण और सूर्यग्रहण की तारीखों का निर्धारण, और धार्मिक त्योहारों के महत्वपूर्ण तिथियों के लिए किया जाता है.

यह भी पढ़ें: Ganga Saptami 2024: क्या आप जानते हैं मां गंगा ने अपने ही पुत्रों को क्यों मारा? जानें पौराणिक कथा

Religion की ऐसी और खबरें पढ़ने के लिए आप न्यूज़ नेशन के धर्म-कर्म सेक्शन के साथ ऐसे ही जुड़े रहिए.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं. न्यूज नेशन इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)