News Nation Logo
Banner

किन खिलाड़ियों की हुई Test Cricket से छुट्टी?

रोहित शर्मा टेस्ट टीम की कप्तानी करेंगे। इसका अर्थ यह है कि अब तीनों फ़ॉर्मैट में भारत की कप्तानी की ज़िम्मेदारी रोहित के कंधों पर होगी लेकिन चयन समिति उनकी फ़िटनेस पर ध्यान रखेगी और उनकी छत्रछाया में भविष्य के लिए नेतृत्वकर्ता तैयार करेगी. भारतीय चयन समिति के अध्यक्ष चेतन शर्मा ने कहा कि उन्होंने ड्रॉप किए गए चारों खिलाड़ियों को साउथ अफ़्रीका सीरीज़ के तुरंत बाद बता दिया था कि उन्हें इन दो टेस्ट मैचों के लिए नहीं चुना जाएगा.

News Nation Bureau | Updated : 23 February 2022, 09:02:36 PM
Players

Players

1

चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, इशांत शर्मा और ऋद्धिमान साहा को श्रीलंका के ख़िलाफ़ आगामी दो मैचों की टेस्ट सीरीज़ के लिए टीम से बाहर किया गया है. रोहित शर्मा टेस्ट टीम की कप्तानी करेंगे.  इसका अर्थ यह है कि अब तीनों फ़ॉर्मैट में भारत की कप्तानी की ज़िम्मेदारी रोहित के कंधों पर होगी.

Ishant Sharma

Ishant Sharma

2

भारतीय चयन समिति के अध्यक्ष चेतन शर्मा ने कहा कि उन्होंने ड्रॉप किए गए चारों खिलाड़ियों को साउथ अफ़्रीका सीरीज़ के तुरंत बाद बता दिया था कि उन्हें इन दो टेस्ट मैचों के लिए नहीं चुना जाएगा.

Ajinkya Rahane

Ajinkya Rahane

3

चेतन ने यह भी बताया कि उन्होंने उनसे रणजी ट्रॉफ़ी के मैच खेलने का आग्रह किया ताकि चयनकर्ताओं को उनके फ़ॉर्म और फ़िटनेस का अंदाज़ा हो. रहाणे ने गत चैंपियन सौराष्ट्र के ख़िलाफ़ शतक जड़ा जबकि पुजारा शून्य पर आउट हुए.

Cheteswar Pujara

Cheteswar Pujara

4

वहीं इशांत और साहा ने पहले चरण के मुक़ाबलों में हिस्सा नहीं लिया. कुछ समय से पुजारा और रहाणे के फ़ॉर्म की आलोचना हो रही थी. पुजारा ने आख़िरी बार 2018-19 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर शतक जड़ा था. अक्तूबर 2019 के बाद से रहाणे के बल्ले से भी एक ही शतक निकला है.

Wriddhiman Saha

Wriddhiman Saha

5

सभी खिलाड़ियों के उपलब्ध होने पर साहा और इशांत एकादश में जगह नहीं बना पा रहे हैं. हालांकि चेतन ने कहा कि इनमें से किसी भी खिलाड़ी के लिए दरवाज़ें हमेशा के लिए बंद नहीं किए गए हैं. यह पूछे जाने पर कि क्या यह खिलाड़ी टेस्ट टीम में वापसी कर सकते हैं.

 Wriddhiman Saha

Wriddhiman Saha

6

चेतन ने कहा, "क्यों नहीं? उन्होंने कई वर्षों से भारत का प्रतिनिधित्व किया है. अजिंक्य ने कल शतक जड़ा. एक खिलाड़ी का करियर उतार-चढ़ाव से गुज़रता रहता है. चयनकर्ताओं के लिए यह आवश्यक है कि हम बुरे दौर का सामना कर रहे खिलाड़ियों का समर्थन करें.