News Nation Logo
Banner

नहीं रहा अफगानिस्तान-बन गया इस्लामिक अमीरात, संक्षेप में जानें हालात

taliban and governance in afaganistan is point of discussion. name of country has been changed.

News Nation Bureau | Updated : 18 August 2021, 07:58:02 PM
kabul

News Nation

1

तालिबान का राज

अफगानिस्तान में पूरी तरह तालिबान का कब्जा हो चुका है. इसके बाद नई सरकार बनाने का प्रयास किया जा रहा है।

taliban

News Nation

2

देश का नाम बदला

अफगानिस्तान का नाम अब इस्लामिक अमीरात कर दिया है. मौलवी हिब्तुल्लाह अखुंदजादा इसका प्रमुख घोषित हुआ है।

taliban

News Nation

3

मिलेगी बड़ी जिम्मेदारी

संभावना है कि हिब्तुल्लाह अखुंदजादा के अलावा मुल्ला अब्दुल गनी बरादर , मुल्ला मोहम्मद याकूब , सिराजुद्दीन हक्कानी और मुल्ला अब्दुल हकीम को बड़ी जिम्मेदारी मिलेगी।

taliban

News Nation

4

पहले भी शामिल

1996 से 2001 तक चली तालिबानी सरकार में भी इसमें कुछ लोग शामिल थे. कुछ ने अमेरिका के खिलाफ 20 साल चली जंग में अहम भूमिका निभाई।

abdul gani baradar pic

News Nation

5

अब्दुल गनी बरादर 

मुल्ला अब्दुल गनी बरादर उन चार लोगों में से एक हैं, जिन्होंने तालिबान का गठन किया था। वो तालिबान के फाउंडर मुल्ला उमर का डिप्टी था। 2001 में अमेरिकी हमले के वक्त वो देश का रक्षामंत्री था।

taliban

News Nation

6

हुआ था गिरफ्तार

2010 में अमेरिका और पाकिस्तान ने एक ऑपरेशन में बरादर को गिरफ्तार कर लिया। उस वक्त शांति वार्ता के लिए अफगानिस्तान सरकार बरादर की रिहाई की मांग करती थी। सितंबर 2013 में उसे रिहा कर दिया गया।

taliban

News Nation

7

खोला दफ्तर

2018 में जब तालिबान ने कतर के दोहा में अपना राजनीतिक दफ्तर खोला। वहां अमेरिका से शांति वार्ता के लिए जाने वाले लोगों में मुल्ला अब्दुल गनी बरादर प्रमुख था। उसने हमेशा अमेरिका के साथ बातचीत का समर्थन किया है।

taliban

News Nation

8

इंटरपोल की जानकारी

इंटरपोल के मुताबिक मुल्ला बरादर का जन्म उरूज्गान प्रांत के देहरावुड जिले के वीटमाक गांव में 1968 में हुआ था। माना जाता है कि उनका संबंध दुर्रानी कबीले से है। पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई भी दुर्रानी ही हैं।

taliban

News Nation

9

अत्यंत क्रूर

हिब्तुल्लाह अखुंदजादा ऐसा क्रूर कमांडर है जिसने कातिलों और अवैध संबंध रखने वालों की हत्या करवा दी और चोरी करने वालों के हाथ काटने की सजा दी।

taliban

News Nation

10

इमाम का बेटा

हिब्तुल्लाह अखुंदजादा 1961 के आस - पास अफगानिस्तान के कंधार प्रांत के पंजवई जिले में पैदा हुआ। वह नूरजई कबीले से ताल्लुक रखता है। उसके पिता मुल्ला मोहम्मद अखुंद एक धार्मिक स्कॉलर थे। वो गांव की मस्जिद के इमाम थे।

taliban

News Nation

11

1996 में किया था कब्जा

1996 में जब तालिबान में काबुल पर कब्जा जमाया उस वक्त अखुंदजादा को फराह प्रांत के धार्मिक विभाग की जिम्मेदारी मिली। बाद में वो कंधार चला गया और एक मदरसे का मौलवी बन गया। 

hibdulla kanduja

News Nation

12

रहा चीफ जस्टिस

हिब्तुल्लाह अखुंदजादा इस्लामिक अमीरात अफगानिस्तान में शरिया अदालत का चीफ जस्टिस भी रहा। मुल्ला मंसूर की मौत के बाद 25 मई 2016 को हिब्तुल्लाह अखुंदजादा को तालिबान की कमान सौंपी गई। तब से वही इस समूह की टॉप अथॉरिटी है।

mulla mohhamad yakub

News Nation

13

मुल्ला मोहम्मद याकूब

तालिबान के संस्थापक मुल्ला उमर की पाकिस्तान में मौत हो गई। 2016 में मुल्ला उमर का बेटा मुल्ला मोहम्मद याकूब सामने आया। उसने अखुंदजादा को तालिबान चीफ बनाए जाने का समर्थन किया और फिर गायब हो गया।

taliban

News Nation

14

अमेरीका-तालिबान समझौता

इस साल 29 फरवरी को अमेरिका और तालिबान के समझौते के 3 महीने बाद मोहम्मद याकूब का नाम चर्चा में आया। तालिबान की रहबरी शूरा ने मोहम्मद याकूब को मिलिट्री विंग का कमांडर नियुक्त किया था। मोहम्मद याकूब अब कमांडर मुल्ला याकूब बन चुका है।

taliban

News Nation

15

नरमपंथी नेता

कुछ एक्सपर्ट मानते हैं कि तालिबान की मौजूदा लीडरशिप में मुल्ला याकूब सबसे नरमपंथी रवैये वाला नेता है। अलकायदा की तरह वह अमेरिका और दूसरे पश्चिम देशों का दुश्मन नहीं है।

taliban

News Nation

16

सिराजुद्दीन हक्कानी

सिराजुद्दीन हक्कानी मुजाहिदीन कमांडर जलालुद्दीन हक्कानी का बेटा है। वो अपने पिता के बनाए हक्कानी नेटवर्क को चलाता है। ये नेटवर्क पाकिस्तान सीमा पर तालिबान के फाइनेंशियल और मिलिट्री प्रॉपर्टी की देखरेख करता है।

taliban

News Nation

17

आत्मघाती हमलों की शुरुआत

कुछ एक्सपर्ट्स का मानना है कि हक्कानी ने ही अफगानिस्तान में आत्मघाती हमलों की शुरुआत की थी। हक्कानी नेटवर्क को अफगानिस्तान में कई हाई - प्रोफाइल हमलों के लिए जिम्मेदार माना जाता है।

taliban

News Nation

18

हत्या का प्रयास

उसने तत्कालीन अफगान राष्ट्रपति हामिद करजई की हत्या का प्रयास भी किया था। इसके अलावा हक्कानी नेटवर्क ने भारतीय दूतावास पर भी आत्मघाती हमला किया था।

abdul hakin

News Nation

19

मुल्ला अब्दुल हकीम 

अब्दुल हकीम हक्कानी तालिबान के शांति वार्ता टीम का एक सदस्य है। तालिबान के शासन के दौरान मुख्य न्यायधीश रहा धार्मिक स्कॉलर्स की पावरफुल परिषद का प्रमुख है।

taliban

News Nation

20

सबसे ज्यादा भरोसा

ऐसा माना जाता है कि तालिबान सरगना हिबतुल्लाह अखुंदजादा अब्दुल हकीम हक्कानी पर सबसे ज्यादा भरोसा करता है।