News Nation Logo
Banner

मुलायम सिंह यादव का लंबा रहा सियासी सफर, 28 साल की उम्र में बने थे विधायक

मुलायम सिंह यादव लंबे समय से वेंटिलेटर स्पोर्ट पर थे, उन्होंने आज सुबह 8: 15 बजे मेदांता अस्पताल में आखिरी सांस ली. मुलायम सिंह पहलवानी से लेकर शिक्षक तक, शिक्षक से राजनीति तक हर क्षेत्र में आगे थे. उन्होंने 1959 में सहायक शिक्षक के रुप में नौकरी की शुरुआत की थी. तब उन्हें मात्र 120 रुपए वेतन के तौर पर मिलते थे.

News Nation Bureau | Updated : 10 October 2022, 02:08:47 PM
mulayam singhhhh  1

मुलायाम सिंह यादव

1

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा के पूर्व संरक्षक मुलायाम सिंह यादव का आज 81 साल की उम्र में निधन हो गया. उनका सियासी सफर काफी लंबा रहा.

Mulayam Singh Yadav

Mulayam Singh Yadav

2

मुलायम सिंह यादव  (Mulayam singh Yadav) ने पहली बार 1996 में मैनपुरी सीट से पहली बार लोकसभा चुनाव लड़कर जीत हासिल की थी.

 मुलायम सिंह यादव

मुलायम सिंह यादव

3

मुलायम सिंह यादव  पहली बार 1967 में विधायक बने थे, इसके बाद 1989 में पहली बार यूपी के मुख्यमंत्री बने. 

मुलायम सिंह यादव

मुलायम सिंह यादव

4

मुलायम सिंह तीन साल तक यूपी के मुख्यमंत्री रहे , इसके बाद उन्होंने 1992 में समाजवादी पार्टी की स्थापनी की.

mulaya singh yadav

मुलायम सिंह यादव

5

मुलायम सिंह की मौत के बाद से पूरे राजनीतिक जगत में शोक की लहर दौड़ गई है. पीएम मोदी से लेकर अखिलेश यादव, राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू ने उनकी मौत पर शोक जताया है.

WhatsApp Image 2022 10 10 at 12 48 57

मुलायम सिंह यादव

6

मुलायम सिंह ने राजनीति से पहले बतौर अध्यापक अपने करियर की शुरुआत की थी. उन्होंने स्कूल में सामाजिक विज्ञान पढ़ाया.

mulayamsinghyadav 1657365056

मुलायम सिंह यादव

7

मुलायम सिंह को अखाड़े का पहलवान भी कहा जाता था, वो कई  प्रतिद्वंद्व‍ियों  के मारने में माहिर रहे हैं.

mulayam singh 1 0 sixteen nine

मुलायम सिंह यादव

8

2014 में उन्होंने आजमगढ़ संसदीय सीट से चुनाव लड़े और दोनों जगह से जीत हासिल की. इसके बाद उपचुनाव में उनके पोते ने जीत दर्ज की.

mulayam sixteen nine

Mulayam Singh

9

एक बार फिर सपा नेता 2019 में मैनपुरी  सीट से चुनाव जीतकर संसद बने. उनका सियासी सफर में कई उतार-चढ़ाव भी आए.

copy of video thumbnails 61 sixteen nine

मुलायम सिंह यादव

10

मुलायम सिंह के परिवार में उनकी बेटे से लेकर उनकी बहू तक राजनीति में सक्रिय रहे हैं, फिलहाल अखिलेश यादव यूपी विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हैं.