News Nation Logo
Banner

ऐसे स्वतंत्रता सेनानी, जिन्हें बहुत से युवा नहीं जानते

On Independence Day, many freedom fighters including Mahatma Gandhi, Bhagat Singh, Subhash Chandra Bose, Ram Prasad Bismil, Mangal Pandey are remembered, but today we are going to tell about some such freedom fighters, whose contribution is less known.

News Nation Bureau | Updated : 14 August 2021, 04:27:05 PM
Independence day history

News Nation

1

स्वतंत्रता दिवस पर महात्मा गांधी, भगत सिंह, सुभाष चंद्र बोस, राम प्रसाद बिस्मिल, मंगल पांडे सहित तमाम स्वतंत्रता सेनानियों को याद किया जाता है पर आज हम कुछ ऐसे स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके योगदान के बारे में कम ही लोगों को पता है. 

lala hardayal

News Nation

2

विदेश में अंग्रेजों के खिलाफ क्रांति करने वाले लाला हरदयाल 

1913 में अंग्रेजों के खिलाफ सैन फ्रांसिस्को में गदर पार्टी की स्थापना करने वालों में महत्वपूर्ण नाम था लाला हरदयाल का. इससे पहले इन्होंने विदेशी स्कॉलरशिप छोड़कर देशभक्त समाज और यंग मैन आफ इंडिया ऐसोसिएशन जैसी संस्थाओं की स्थापना की थी. 

rani laxmi  1

rani lakshmi

3

कहा जाता है कर्नाटक की लक्ष्मीबाई

पहली जंग में चेनम्मा ने अंग्रेजों को धूल चटा दी और कई अंग्रेज अफसर मारे गए. अंग्रेजों को संधि करनी पड़ी. पर बाद में छल से अंग्रेजों ने चेनम्मा को हरा दिया और चेनम्मा वीरगति को प्राप्त हुईं. इन्हें कर्नाटक की लक्ष्मीबाई भी कहा जाता है. 

gupt

gupt

4

अंग्रेजों के खिलाफ चलाई कलम

मन्मथनाथ गुप्त 1937 में जेल से रिहा हुए तो अंग्रेजों के खिलाफ लेख लिखने लगे. इस कारण इन्हें फिर से 1939 में जेल में कैद कर दिया गया. 1946 को यह रिहा हुए और फिर अंग्रेजों के खिलाफ लिखने लगे. आजादी के बाद भी उन्होंने आजादी के संघर्ष पर अनेक किताबें लिखीं.

lala hardayal

lala hardayal

5

विदेशों से सरदार आने लगे स्वदेश 

लाला हरदयाल ने जेनेवा में वंदे मातरम और अमेरिका में हिंदुस्तान गदर पत्रिका निकाली थी. उनके भाषणों को सुनकर विदेशों में रह रहे सिखों ने पलायन शुरू कर दिया था. 1938 में भारत आकर इन्होंने प्राण त्याग दिए. 

ram bihari

ram bihari

6

जापान में भारत की आजादी का प्रयास

रास बिहारी बोस ने जापान में इंडियन इंडिपेंडेट लीग की स्थापना की थी. इसी की शाखा के रूप में इंडियन नेशनल आर्मी का गठऩ किया गया. बाद में सुभाष चंद्र बोस ने इसी का पुनर्गठन आजाद हिंद फौज के रूप में किया.

flag

flag

7

सभी सेनानियों को है नमन

ऐसे तमाम स्वतंत्रता सेनानी हैं जिनको आज युवा पीढ़ी भूलने लगी है लेकिन भारत की हवाओं में इन अमर बलिदानियों के गीत सदा गूंजते रहेंगे.