News Nation Logo
Banner

Kumbh Mela 2019: इन 6 तस्वीरों में देखें भव्य कुंभ की शानदार झलकियां

प्रयागराज 15 जनवरी से कुंभ मेला (Kumbh Mela 2019) शुरू हो गया है. इस धार्मिक-आध्यामिक-सांस्कृतिक मेले में अगले 45 दिनों तक देश-विदेश के 15 करोड़ से ज्यादा श्रद्धालु जुटेंगे. मेले की कुछ एरियल व्यू वाली तस्वीरें सामने आई है, जोकि बेहद खूबसूरत हैं.

News Nation Bureau | Updated : 16 January 2019, 06:19:46 PM
Kumbh Mela 2019

Kumbh Mela 2019

1
प्रयागराज 15 जनवरी से कुंभ मेला (Kumbh Mela 2019) शुरू हो गया है. इस धार्मिक-आध्यामिक-सांस्कृतिक मेले में अगले 45 दिनों तक देश-विदेश के 15 करोड़ से ज्यादा श्रद्धालु जुटेंगे. मेले की कुछ एरियल व्यू वाली तस्वीरें सामने आई है, जोकि बेहद खूबसूरत हैं.
Kumbh Mela 2019

Kumbh Mela 2019

2
श्रद्धालुओं के लिए गंगा नदी के किनारे 3,200 एकड़ क्षेत्र में छोटा शहर बसाया गया है. यहां टेंट का किराया 2,100 रुपये से लेकर 20,000 रुपये प्रति रात तक है. इसके अलावा बड़ी संख्या में यहां पहुंचने वाले अखाड़ों और संतों के लिए डोर्मेटरी और टेंट स्टॉल लगाए गए हैं. कुंभ प्रशासन ने भीड़ को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं.
Kumbh Mela 2019

Kumbh Mela 2019

3
पहली बार कुंभ मेले में तीन महिला यूनिट्स की तैनाती की गई है, जो महिला श्रद्धालुओं को देखते हुए की गई है. साथ ही विदेशी हेल्प डेस्क भी 24 घंटे काम करेगा, क्योंकि विदेशियों की भी मेले में काफी रुचि होती है. अर्धसैनिक और पुलिस बलों की तैनाती की गई है, साथ ही संगम की तरफ का यातायात 3,000 पुलिसकर्मी संभालेंगे.
Kumbh Mela 2019

Kumbh Mela 2019

4
नहाने वाले घाटों पर चेंजिंग रूम और शौचालयों के इंतजाम किए गए हैं. इस बार कुंभ मेला में स्वच्छता पर विशेष जोर दिया गया है. पिछले सालों में शौचालय नहीं होने के कारण लोग खुले में शौच करने पर मजबूर थे, लेकिन इस साल 1,20,000 शौचालयों का निर्माण किया गया है और सफाईकर्मियों की संख्या दोगुनी रहेगी, ताकि स्वच्छता बरकरार रहे. पिछले कुंभ मेला में केवल 34,000 शौचालय थे.
Kumbh Mela 2019

Kumbh Mela 2019

5
कुंभ मेला के दौरान 500 से अधिक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा. यह मेला 15 जनवरी से चार मार्च तक चलेगा.
Kumbh Mela 2019

Kumbh Mela 2019

6
अगला 'शाही स्नान' 21 जनवरी को होगा. कुंभ मेला 4 मार्च को समाप्त होगा. उसी दिन महा शिवरात्रि के अवसर पर अंतिम 'शाही स्नान' का आयोजन किया जाएगा.
×