News Nation Logo
Banner

मिस इंडिया यूके डियाना ने बनाई भारतीय घुमंतू समुदाय गद्दी लौहार पर डॉक्यूमेंट्री

मिस इंडिया यूके रह चुकीं डियाना उप्पल फिल्म निर्देशन की दुनिया में कदम रखने जा रही हैं. वो गद्दी लोहार समुदाय के जीवन पर एक डॅाक्यूमेंट्री बनाने जा रही है.

News Nation Bureau | Updated : 15 March 2019, 03:57:41 PM
डियाना उप्पल

डियाना उप्पल

1
मिस इंडिया यूके रह चुकीं डियाना उप्पल फिल्म निर्देशन की दुनिया में कदम रखने जा रही हैं. वो गद्दी लोहार समुदाय के जीवन पर एक डॅाक्यूमेंट्री बनाने जा रही है. डियाना एक ब्रिटिश भारतीय है और वो इस समय में वो राजस्थान में मौजूद है. डियाना ने बताया कि उन्होंने गद्दी लोहार समुदाय के साथ 1 साल का समय बिताया और वो एक बेहद ही दिलचस्प लोग जिनकी आवाज लोगों तक पहुंचाने की जरूरत है.
डियाना उप्पल

डियाना उप्पल

2
डियाना ने ये भी बताया कि जब उन्होंने गद्दी लोहार सुमदाय पर शोध करने के बाद उनसे मिली तो उनकी जीवनशैली को देखकर हैरान रह गई. वो लोग बिना कोई मंजिल के यात्रा करते हैं. वो पूरी तरह से दुनिया की आधुनिकता से कटे हुए है. हम घुमंतू समुदाय के लोगों को भुला देते है लेकिन वो अपनी परंपरा आज भी बनाए हुए है.
डियाना उप्पल

डियाना उप्पल

3
अभिनेत्री ने कहा कि उनका मकसद फिल्म में तथ्य और वास्तविकता को दिखाने का है. जिससे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जागरूकता फैलें. उन्होंने ये भी कहा, 'मैं बहुत ही दिलचस्प लोगों के बीच आई हूं जिससे उनके जीवन की गहराई तक पहुंच सकूं. उनका जीवन जीने का सरल तरीका हम सबको एक सबक सिखा सकता है.'
डियाना उप्पल

डियाना उप्पल

4
डियाना के मुताबिक वो गद्दी लौहार समुदाय के वास्तविक जीवन पर फिल्म बना कर गद्दी लौहारों के समर्थन लिए लोगों और एनजीओ को आकर्षित करेंगी.
डियाना उप्पल

डियाना उप्पल

5
डियाना ने बताया कि एक निर्देशक के तौर पर इस फिल्म को शूट करना बेहद मुश्किल रहा. क्योंकि गद्दी लौहार समुदाय बाहरी लोगों के साथ घुलना-मिलना पसंद नहीं करते है इसलिए मुझे उनका विश्वास जीतने में बहुत समय देना पड़ा.
डियाना उप्पल

डियाना उप्पल

6
मिस इंडिया यूके रह चुकी डियाना ने बताया कि इस डॅाक्यूमेंट्री के बनाने का उद्देश्य केवल फिल्म बनाना नहीं है. मेरा मकसद इन लोगों की मदद करना है क्योंकि एक जगह पर नहीं रहने से घुमंतू जनजातियों को आसानी से भुला दिया जाता है.
डियाना उप्पल

डियाना उप्पल

7
डियाना ने कहा, 'मैं बहुत करीब से बंजारों के जीवन और उनके रहन-सहन को देखेंगे. इसमें हम ये भी देखना चाहेंगे कि सरकार इनके साथ किस हद तक हैं और किस तरह से इनकी मदद कर रही हैं. साथ ही इस डॉक्यूमेंट्री में हम बंजारों की संस्कृति, सभ्यता, परम्परा वेडिंग सेरेमनी जैसी चीजों को भी शामिल करेंगे.'
×