News Nation Logo
Banner

नवरात्रि 2017: देशभर में छाया गरबा और डांडिया का खुमार, देखे तस्वीरें

Navratri 2017 Garba and Dandiya events adding much needed verve to the festival Durga Puja 2017

News Nation Bureau | Updated : 28 September 2017, 12:16:52 AM
फोटो: पीटीआई

फोटो: पीटीआई

1
शारदीय नवरात्रि 21 सितंबर सेशुरू हो चुक है। देशभर में 9 दिन तक चलने वाले इस महापर्व का आखिरी दिन उपवास यानी नवमी 29 सितंबर को होगा। इस दौरान मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है।जिसकी शुरुआत पहले दिन कलश स्‍थापना के साथ होती है। इसके अलावा नवरात्रि में गरबा और डांडिया का भी एक अलग ही मजा है।
फोटो: पीटीआई

फोटो: पीटीआई

2
इस पर्व के दौरान हर तरफ गरबा खेलने वालों की धूम होती है। इस दौरान बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक पारंपरिक अंदाज में गरबा का लुत्फ लेते हैं। आमतौर पर गरबा नवरात्रि के समय ही खेला जाता है।गरबा का नवरात्रि से बेहद खास कनेक्शन भी है।
फोटो: पीटीआई

फोटो: पीटीआई

3
दरअसल, ऐसा माना जाता है कि गरबा नृत्य मां दुर्गा को काफी पसंद हैं। नवरात्रि के दिनों में मां को प्रसन्न करने के लिए गरबा नृत्य किया जाता है। गरबा गुजरात और राजस्थान का में काफी प्रसिद्ध है, वहीं इसे लोग अपनी परंपरा से भी जोड़ते हैं।
फोटो: इंस्टाग्राम

फोटो: इंस्टाग्राम

4
कॉलोनियों, सोसाइटियों और मोहल्लों में जहां माता की आरती पर गरबे खेले जा रहे हैं तो बड़े पार्टी प्लॉट्स और डोम्स में बॉलीवुड सॉन्ग्स पर डांडिया की धूम मची हुई है।
फोटो: पीटीआई

फोटो: पीटीआई

5
गरबा नृत्य के वक्त लोग पारंपरिक परिधान पहनते हैं। लड़कियां जहां चनिया-चोली पहनती हैं तो वहीं लड़के गुजराती केडिया और सिर पर पगड़ी बांधते हैं।
फोटो: पीटीआई

फोटो: पीटीआई

6
आजकल ऑनलाइन ड्रेस रेंट पर लेने का भी चलन युवाओं में काफी फेमस हो रहा है। डांडिया नाइट्स के लिए सब एक से बढ़कर एक लगना चाहते है।
फोटो: पीटीआई

फोटो: पीटीआई

7
मां दुर्गा को पंसद इस नृत्य गरबा में ताली, चुटकी, खंजरी, डंडा या डांडिया और मंजीरा का काफी इस्तेमाल किया जाता है। गरबा में लोग एक समूह में मिलकर नृत्य करते हैं और साथ में देवी मां के गीतों को भी गाया जाता है।
फोटो: पीटीआई

फोटो: पीटीआई

8
गरबा का नवरात्रि से कनेक्शन यहीं नहीं खत्म हो जाता है। गरबा को सौभाग्य का प्रतीक भी माना जाता है इसलिए भी अश्विन मास की नवरात्रों को गरबा नृत्योत्सव के रूप में मनाया जाता है।
×