News Nation Logo
Banner

आज है 'मिसाइलमैन' पूर्व राष्ट्रपति डा. एपीजे अब्दुल कलाम की पुण्यतिथि, तस्वीरों में देखिए उनका सफर

भारतरत्न मिसाइलमैन के नाम से लोकप्रिय पूर्व राष्ट्रपति डा. एपीजे अब्दुल कलाम का आज 27 जुलाई को पुण्यतिथि है.

News Nation Bureau | Updated : 27 July 2019, 11:56:35 AM
डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

1

भारतरत्न मिसाइलमैन के नाम से लोकप्रिय पूर्व राष्ट्रपति डा. एपीजे अब्दुल कलाम का आज 27 जुलाई को पुण्यतिथि है.

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

2

चार साल  पहले आज ही के दिन उनका निधन मेघालय के शिलांग में हुआ था. 

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

3

देश के सर्वोच्च पद यानी 11वें राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्‍टूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्‍वरम में हुआ था.

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

4

उन्होंने अपनी लाइफ में कुल 34 किताबें लिखीं. जो कि ज्ञान से भरे हैं.

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

5

अब्दुल कलाम का पूरा नाम अवुल पाकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम था.

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

6

वे कहा करते थे कि ऐसे सपने देखो कि वे जब तक पूरे न हो जाएं तब तक आप को नींद न आए.

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

7

उनके बर्थडे के मौके पर पूरी दुनिया में विश्व 'छात्र दिवस' के तौर पर मनाया जाता है.

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

8

डा. कलाम देश के पहले ऐसे राष्ट्रपति बने जोकि सोशल मीडिया में लगातार सक्रिय रहते थे और युवाओं तथा नए वैज्ञानिकों एवं बालकों के लिए प्रेरक बातें लिखा करते थे.

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

9

डा. कलाम के अंदर कवि, शिक्षक, लेखक, वैज्ञानिक सहित आध्यात्मिक गुण विद्यमान थे

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

10

यह उनकी महान प्रतिभा का ही कमाल है कि आज भारत के पास अग्नि, पृथ्वी, त्रिशूल जैसी मिसाइलों का भंडार हो गया है. 

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

11

1992 से 1999 तक कलाम रक्षा मंत्री के रक्षा सलाहकार भी रहे. 

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

12

कलाम के जीवन पर आधारित दो पुस्तकें 'तेजस्वी मन' और फिर 'अग्नि की उड़ान' उनके जीवन का एक खुला दस्तावेज हैं.

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

डा. एपीजे अब्दुल (ट्विटर)

13

कलाम को 1981 में भारत सरकार ने पद्म भूषण और फिर, 1990 में पद्म विभूषण और 1997 में देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न प्रदान किया.