News Nation Logo
Banner

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY): छोटे व्यापारियों के बड़े सपने को साकार करने की स्कीम

भारत सरकार ने अप्रैल 2015 से मुद्रा योजना को शुरू किया था. इस योजना का मुख्य उद्देश्य छोटे व्यापार के जरिए रोजगार को बढ़ाना है. इसके अलावा छोटे उद्यमियों को आसानीपूर्वक लोन मुहैया कराना भी मुख्य उद्देश्य है

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 29 May 2019, 12:02:47 PM
फाइल फोटो

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

छोटे उद्यमियों के लिए केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) शुरू की है. इस योजना के तहत खुद का कारोबार शुरू करने वालों को सरकार कर्ज मुहैया कराती है. भारत सरकार ने अप्रैल 2015 से इस योजना को शुरू किया था. सरकार की इस योजना का मुख्य उद्देश्य छोटे व्यापार के जरिए रोजगार को बढ़ाना है. इसके अलावा छोटे उद्यमियों को आसानीपूर्वक लोन मुहैया कराना भी मुख्य उद्देश्य है.

यह भी पढ़ें: Post Office Senior Citizen Savings Scheme (SCSS): यहां पैसा लगाएं और FD से ज्यादा ब्याज पाएं

कारोबार शुरू करना चाहते हैं तो उठाएं इस योजना का लाभ
ऐसा कोई भी व्यक्ति जो अपना कारोबार शुरू करना चाहता है वो सरकार की इस योजना का लाभ उठा सकता है. प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) से पहले तक छोटे उद्यम के लिए बैंक से लोन लेने में काफी दिक्कतें उठानी पड़ती थीं. साथ ही कर्ज लेने के लिए गारंटी की भी व्यवस्था करनी पड़ती थी. तकनीकी और व्यवहारिक दिक्कतों की वजह से लोग बैंक से कर्ज लेने से कतराते थे. प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) का पूरा नाम माइक्रो यूनिट डेवलपमेंट रीफाइनेंस एजेंसी (Micro Units Development Refinance Agency) है. इस योजना में महिलाओं की भागीदारी ज्यादा देखने को मिली है.

यह भी पढ़ें: 25,000 रुपये लगाकर सालाना 4 लाख रुपये से ज्यादा की करें कमाई, जानें कैसे

वित्त वर्ष 2018-19 में 2,73,748.57 करोड़ रुपये के कर्ज मंजूर
PMMY की वेबसाइट पर दी गई ताजा जानकारी के मुताबिक वित्तीय वर्ष 2018-19 में 22 मार्च 2019 तक मुद्रा योजना के तहत 5,41,27,092 लोन के आवेदन मंजूर किये जा चुके हैं. सरकार मुद्रा योजना के तहत इस साल 22 मार्च तक 2,73,748.57 करोड़ रुपये के लोन बांट चुकी है. मुद्रा योजना (PMMY) के तहत बिना गारंटी के लोन मिलता है. इसके अलावा लोन के लिए कोई प्रोसेसिंग चार्ज भी नहीं लिया जाता है. मुद्रा योजना (PMMY) में लोन चुकाने की अवधि को 5 साल तक बढ़ाया जा सकता है. मौजूदा कारोबार को आगे बढ़ाने की स्थिति में भी प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) के तहत 10 लाख रुपये तक के लोन के लिए आवेदन किया जा सकता है. इस योजना के तहत औसतन न्यूनतम ब्याज दर करीब 12 फीसदी है. मुद्रा लोन से जुड़ी ज्यादा जानकारी के लिए आप (https://www.mudra.org.in/) पर लॉगिन कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: Small Saving Scheme: नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट, सुकन्या समृद्धि योजना पर मिलेगा इतना ब्याज

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) में तीन तरह के कर्ज

  • शिशु लोन: PMMY के तहत 50,000 रुपये तक का कर्ज दिया जाता है.
  • किशोर लोन: इसके तहत 50,000 रुपये से 5 लाख रुपये तक का कर्ज दिया जाता है.
  • तरुण लोन: इसके तहत 5 लाख से 10 लाख रुपये तक का कर्ज दिया जाता है.

यह भी पढ़ें: टर्म प्लान क्यों है जरूरी, होल लाइफ प्लान से कैसे है अलग, जानिए पूरा गणित

First Published : 29 May 2019, 12:02:47 PM

For all the Latest Business News, Personal Finance News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो