News Nation Logo
दिल्ली में कुतुब मीनार को राष्ट्र ध्वज के रंगों से रोशनकर मनाया गया 100 करोड़ COVID टीकाकरण का जश्न 100 करोड़ COVID टीकाकरण की ऐतिहासिक उपलब्धि पर चार मीनार को राष्ट्रीय ध्वज के रंगों से रोशन किया गया देश भर में 100 स्मारकों को राष्ट्रीय ध्वज के रंगों में रोशन करने की भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की पहल NCB ने अनन्या पांडे से करीब 2 घंटे तक पूछे सवाल, कल भी होगी पूछताछ हम एक साल के अंदर 1 लाख भर्तियां और करेंगे: शिवराज सिंह चौहान आर्यन खान की न्यायिक हिरासत फिर बढ़ी आर्यन को अब 30 अक्टूबर तक रहना होगा जेल में पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी का गोवा दौरा 28 अक्टूबर को भारत पहली बार दुनिया के शीर्ष 25 रक्षा निर्यातक देश की सूची में शामिल: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद किसानों ने दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर से टेंट हटाए एनएच 24 खुलने से आम जनता को मिली राहत मुर्गामंडी जाने वाली सड़क को किसान प्रदर्शनकारियों ने किया खाली उत्तराखंड के राज्यपाल, मुख्यमंत्री के साथ देवभूमि में आई आपदा का हवाई निरीक्षण किया: अमित शाह आपदा पर गृहमंत्री अमित शाह ने राज्य और केंद्र सरकार के उच्चस्तरीय अधिकारियों के साथ मीटिंग की भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 18,454 नए मामले आए और 160 लोगों की कोरोना से मौत हुई किसान सड़कों को अनिश्चित काल के लिए अवरुद्ध नहीं कर सकते: सुप्रीम कोर्ट किसानों को विरोध करने का अधिकार: सुप्रीम कोर्ट भिंड में भारतीय वायुसेना का ट्रेनर विमान क्रैश, हादसे में पायलट घायल: भिंड एसपी मनोज कुमार सिंह भारत ने वैक्सीन मैत्री के माध्यम से दुनिया के देशों में मदद पहुंचाने का काम किया: अनुराग ठाकुर दुनिया को भारत ने दिखाया है कि बड़े से बड़ा लक्ष्य भी प्राप्त किया जा सकता है: अनुराग ठाकुर 100 करोड़ वैक्सीनेशन डोज़ का आंकड़ा पार होने पर लोगों का आभार: केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर भारत में वैक्सीनेशन का आंकड़ा 100 करोड़ के पार, देशभर में मन रहा जश्न निजी भागीदारी से भी मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं - पीएम मोदी FDA ने मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन के मिक्‍स एंड मैच टीकाकरण को दी मंजूरी उत्तराखंड में भारी बारिश से अब तक 54 लोगों की मौत, 19 जख्मी और 5 लापता डोनाल्ड ट्रंप ने 'TRUTH Social' नामक अपना खुद का सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म लॉन्च किया

महिला को हुआ चिंपैंजी से प्यार, चिड़ियाघर वालों ने अंदर आने पर रोक लगाई

महिला के चिंपैंजी प्रेम से परेशान हैं चिड़ियाघर वाले. महिला और चिंपैंजी करते हैं एक दूसरे को फ्लाइंग किस.

News Nation Bureau | Edited By : Apoorv Srivastava | Updated on: 23 Aug 2021, 05:11:15 PM
chimpanzee

chimpanzee (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • बेल्जियम के एक चिड़ियाघर की अजीबोगरीब घटना
  • चार साल से लगातार चिड़ियाघर आ रही थी महिला
  • एंट्री में रोक लगाने पर महिला हुई नाराज

नई दिल्ली :

आपने सुना होगा लोग प्यार में हद से गुजर जाते हैं लेकिन प्यार किससे करना है, इसकी तो लिमिट होगी ना...जी नहीं, अब बेल्जियम (belgium) देश में चिंपैंजी (chimpanzee) से प्यार का अजब मामला सामने आया है. बेल्जियम के एंटवर्प चिड़ियाघर (zoo) में एडी टिमरमैंस नाम की एक महिला चार साल से लगातार आ रही थी. इस दौरान वह एक चिंपैंजी से बात करती थी. चिंपैंजी का नाम चीता है. 38 वर्षीय एडी टिमरमैंस की बातों का चीता जवाब भी इशारे में देता था. दोनों एक दूसरे को फ्लाइंग किस भी करते हैं और तमाम प्यार भरे इशारे करते हैं. 

यहां तक दावा किया जा रहा है कि महिला ने खुलेआम कह दिया है कि उसे चीता से प्यार है. वह मन ही मन चीता को जीवनसाथी मान चुकी है. दूसरी ओर चिड़ियाघर प्रबंधन ने महिला के चिड़ियाघर में आने पर रोक लगा दी है. चिड़ियाघर प्रबंधन का कहना है कि महिला का प्यार चीता (चिंपैंजी) के लिए हानिकारक साबित हो रहा है. दोनों इशारों-इशारों में एक दूसरे से बात करते हैं. जब भी महिला आती है तो वह खुश हो जाता है लेकिन जब वह नहीं होती तो चीता पूरे टाइम उदास रहता है. यहां तक की अन्य चिंपैंजी से भी सरोकार नहीं रखता. दल के दूसरे चिंपैंजी भी उससे दूरी बनाने लगे हैं. वो उसे अपने दल का सदस्य भी नहीं मानते. इस कारण अब एडी टिमरमैंस को चिड़ियाघर में एंट्री नहीं मिलेगी. वहीं, दूसरी ओर टिम ने इसे चिड़ियाघर वालों का अन्याय बताया है. उन्होंने कहा है कि जब अन्य लोगों को चिड़ियाघर में जाने की अनुमति है तो मुझे क्यों नहीं है. मैं किसी भी पशु-पक्षी को हानि नहीं पहुंचा रही. 

इसे भी पढ़ेंः IPL 2021: कौन होगा delhi capitals का कप्तान, खड़ा हुआ बड़ा सवाल

वहीं, इस घटना की पूरे देश ही नहीं विदेश में भी चर्चा हो रही है. तमाम लोगों के अनुसार यह अपनी तरह का पहला ही मामला है. कोई महिला को पशु प्रेमी करार कर रहा है तो कोई इसे पागलपन बता रहा है. वहीं, चिड़ियाघर प्रबंधन भी ठीक से नहीं समझ पा रहा कि आखिर इसका समाधान क्या है. कई लोगों ने यहां तक सवाल उठाए कि इस प्रेम का आखिर परिणाम क्या है. अगर चिंपैंजी के जीवन पर इससे असर पड़ रहा है तो इसे कहां तक उचित माना जा सकता है 

गौरतलब है कि दुनिया में तमाम पशु प्रेमी, पशु-पक्षियों की सुरक्षा के लिेए आंदोलन चलाते हैं. तमाम प्रकरणों में लोगों पर आरोप भी लगाते हैं कि मानव, पशुओं पर अत्याचार कर रहा है. इस मामले में एक चिंपैंजी, एक महिला के बिना उदास है. अब इसे पशु प्रेमी की रूप में लेंगे यह बड़ा सवाल है. वहीं, दूसरी ओर चिड़ियाघर प्रबंधन भी इस कोशिश में है कि चीता नामक चिंपैंजी दल के अन्य चिंपैंजी से हिलमिल जाए.

 

First Published : 23 Aug 2021, 05:08:57 PM

For all the Latest Offbeat News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो